Tuesday, August 3, 2021

नेपाल ने भारतीय इंजीनियरों को वाल्मीकि बैराज की मरम्मत से रोका, भारत ने बनाया दबाव तो हटाया बैरियर

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर. भारत को घेरने की कोशिश में जुटा नेपाल कोई भी मौका नहीं छोड़ रहा। उकसावे वाली हरकत करते हुए नेपाल ने गंडक नदी पर बने वाल्मीकि बैराज की मरम्मत से भारतीय इंजीनियरों को रोकने की कोशिश की। बाढ़ के खतरे के बीच नेपाल ने वाल्मीकि बैराज पर बैरियर बनाकर इंडियन इंजीनियर्स की आवाजाही रोक दी। इस बात से खफा भारत ने जब दबाव बनाया तब जाकर इंजीनियरों को बैराज के निरीक्षण के लिये अस्थायी अनुमति दी।

दरअसल गंडक बैराज के वाल्मीकि नगर में 36 फाटक हैं, जिनमें से 18 फाटक बिहार और 18 नेपाल में पड़ते हैं। नेपाल ने वहां बैरियर लगा दिये। उसके इस रवैये के चलते इंजिनियरों को बैराज का निरीक्षण और वहां काम करने में परेशानी होने लगी। इसके अलावा बिहार के सिंचाई विभाग का स्टोर रूम भी गंडक बैराज पर ही है। गंडक बैराज की मरम्मत से लेकर रख रखाव की सारी ज़िम्मेदारी बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग की है। बावजूद इसके नेपाल ने पहली बार यहां बैरियर लगा दिये। इस बीच रविवार को बैराज से डेढ़ लाख क्यूसेक पानी भी छोड़ा गया। नेपाल की इस हरकत पर बिहार के सिंचाई मंत्री ने भी हैरानी जतायी।

ये भी पढ़े :  अहमदाबाद से कुशीनगर पहुंचने के लिए 20 दिन से पैदल चल रहे मजदूर की गोरखपुर में मौत
ये भी पढ़े :  जल्दी ही गोरखपुर को मिल सकती है बड़ी खुशखबरी, यूपी सर्वाधिक शहरों में मेट्रो चलाने वाला देश का पहला राज्य...

बैरियर बनाकर इंजिनियरों को रोके जाने के बाद नेपाल से बातचीत कर मामला सुलझाने की कोशिश शुरू हुई। भारत के दबाव के बाद आखिरकार नेपाल ने भारतीय इंजीनियरों को बैराज का निरीक्षण करने की अस्थायी अनुमति दे दी है, लेकिन इस मामले के स्थायी हाल के बिना यूपी बिहार पर मंडरा रहे बढ़ के खतरे को नहीं टाला जा सकता।

यूपी के प्रमुख अभियंता (बाढ़) सिंचाई एवं जल संसाधन एके सिंह के मुताबिक नेपाल के अधिकारियों से वार्ता जारी है। बिहार के इंजीनियरों को बैराज पर आने जाने की अनुमति मिल गयी है और नेपाल के तटबंधों की निगरानी भी लगातार हो रही है। यूपी बिहार में बाढ़ की स्थिति रोकने के लिए हर संभव उपाय किये जा रहे हैं।

बताते चलें कि नेपाल ने लॉक डाउन के बहाने भी गंडक बैराज की मरम्मत पर रोक लगा दी थी। इसके चलते गंडक नदी में नेपाल पर बने चारों तटबंधों (ए गैप, बी गैप, लिंक बांध व नेपाल बांध) की इस साल मरम्मत नहीं हुई। इसके अलावा मुख्य पश्चिमी गंडक नहर से इजाज़त न मिलने के चलते कीबिना मरम्मत के ही पानी छोड़ना पड़ा।

ये भी पढ़े :  बाँसगांव:-नाबालिग लड़की के अपहरण करता को दरोगा ने दबोचा

बैराज से पानी डिस्चार्ज करने की मैक्सिमम लिमिट 8.5 लाख क्यूसेक है। सिंचाई विभाग की मानें तो बैराज से चार लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज होने पर भी नेपाल के तटबंधों को कोई खतरा नहीं होगा। फिलहाल डिस्चार्ज 90 हजार से 1.50 लाख क्यूसेक के बीच है। अगर ये डिस्चार्ज 5.50 लाख क्यूसेक के आसपास पहुंचा तो नेपाल के बांध ही नहीं कुशीनगर और महराजगंज के ज़्यादातर हिस्से बाढ़ की चपेट में आ जाएंगे।

ये भी पढ़े :  अगर आपको उठाना है लजीज फ़ास्ट फूड व्यंजनों का लुफ्त तो पहुँचिये किंग कैफ़े…..

शेष पत्रिका पर पढ़े

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...
%d bloggers like this: