Tuesday, August 3, 2021

न गरीबी आड़े आई, न सरकारी स्कूल की पढ़ाई, बन गए अफसर…

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

न्यायाधीश बन गए पंजाब के युवा अजय कुमार सिंह और आईपीएस ट्रेनिंग बीच में छोड़कर आईएएस सेलेक्ट हो गए युवा अजय कुमार ने साबित कर दिया है कि किस्मत या संयोग नाम की कोई चीज नहीं होती है। अपनी मेहनत, अपने विवेक और अपनी लगन से जिंदगी में कुछ भी हासिल किया जा सकता है। उन्होंने ऐसा कर दिखाया है।

अजय कुमार कहते हैं कि सरकारी स्कूलों में पढ़ते हुए उन्होंने तो कभी कल्पना भी नहीं की थी कि वह इतनी बड़ी प्रशासनिक सेवाओं के लिए दो बार सेलेक्ट हो जाएंगे लेकिन उन्हें अपनी प्रतिभा और मेहनत पर विश्वास था।

जब अक्सर ऐसा लगने लगता है कि सफलता हाथ नहीं आ रही है, तो शायद अपनी कोशिशों में ही कोई कमी रह गई होती है। भौतिक विज्ञान की क्वांटम थ्योरी भी यही कहती है कि अगर आप बार-बार तक कोशिश करते रहेंगे, एक दिन दीवार के बीच से भी निकल सकते हैं। बार-बार टकराने से दीवार के कणों में स्पंदन होता रहेगा, जिसकी वजह से शायद दीवार के बीच से निकल पाना भी संभव हो जाए। पंजाब के अजय कुमार सिंह और हिमाचल के अजय कुमार की सफलताओं से तो यही सबक मिलता है।

कभी-कभी संतानों की कामयाबी के ऐसे वाकयात पढ़ने-सुनने को मिलते हैं, अपरिचित होते हुए भी आज के जमाने में ऐसे युवाओं पर गर्व होने लगता है। उनकी बेमिसाल सफलता पर मन खुद की बधाई देने लगता है। ऐसे ही हैं अबोहर (पंजाब) के तंदूर पर रोटियां पकाकर घर की गाड़ी खींच रहे माता-पिता के न्यायाधीश बन गए पुत्र अजय कुमार सिंह और ऊना (हिमाचल) के युवा आईएएस बने अजय कुमार। अबोहर के अजय कुमार सिंह के पिता बलवीर सिंह और मां आशा रानी अबोहर की आनंद नगरी में तंदूर पर रोटियां पकाती हैं। उनके परिवार में आज तक किसी ने दसवीं तक की भी पढ़ाई नहीं की है।

ये भी पढ़े :  युवक पर कोर्ट का फैसला- कब और किससे करेगा सेक्स, पहले पुलिस को बताना होगा
ये भी पढ़े :  शादी के बाद आदमी बन गया औरत, ये कहानी होश उड़ा देगी

अजय कुमार सिंह के घर में गरीबी का ऐसा आलम था कि अजय कुमार सिंह को अपनी नौवीं क्लास की पढ़ाई छोड़कर नौकरी करने की नौबत आ गई। वह सीनियर एडवोकेट उदेश कक्कड़ के यहां क्लर्की करने लगे। साथ ही उसी दौरान प्राइवेट बारहवीं तक की पढ़ाई भी कर ली। इसके बाद उन्होंने अबोहर के खालसा कॉलेज से बीए किया और पंजाब विश्वविद्यालय के बठिंडा सेंटर से एलएलबी। उसके बाद न्यायिक सेवा परीक्षा की तैयारी में जुट गए और बिना कोचिंग के पीसीएस ज्यूडिशियल की परीक्षा दूसरी बार में ही पास कर ली। अब वह जज बन गए हैं। वह कहते हैं कि कोई गरीब हो या अमीर, मेहनत का फल तो मिलता ही है। उनके माँ-बाप ने खुद को आग पर तपाते हुए कामयाबी के इस ऊंचे मोकाम तक पहुँचाया है।

जरूरी नहीं कि कॉन्वेंट में पढ़कर ही कोई युवा जीवन में ऊंची छलांग लगा सकता है। पंजाब के अजय कुमार सिंह की तरह के एक और अजय कुमार ऊना (हिमाचल प्रदेश) हैं, जिन्होंने सरकारी स्कूल से पढ़ाई पूरी की और इसी साल हरियाणा कॉडर के आईएएस सेलेक्ट हो गए। उनकी पढ़ाई पांचवीं क्लास तक अभयपुर प्राइमरी स्कूल से, दसवीं तक गौंदपुर बनेहड़ाई हाई स्कूल से हुई। उसके बाद इंटर कर उन्होंने दिल्ली इंजीनियरिंग कॉलेज से एमबीए भी किया। इस समय वह रोहतक (हरियाणा) जिला मुख्यालय पर एडीसी हैं। उनके पिता गुरुदेव हिमाचल के लोकनिर्माण विभाग में काम करते हैं। अजय पहली कोशिश में आईपीएस सेलेक्ट हो गए थे, उनको हिमाचल कॉडर मिला और वह ट्रेनिंग पर भी चले गए लेकिन उसी बीच आईएएस परीक्षा में पास हो गए।

ये भी पढ़े :  यह है गोरखपुर का बुढि़या माई मंदिर ,जाने क्या है इतिहास...

अजय कुमार कहते हैं कि सरकारी स्कूलों में पढ़ते हुए उन्होंने तो कभी कल्पना भी नहीं की थी कि वह इतनी बड़ी प्रशासनिक सेवाओं के लिए दो बार सेलेक्ट हो जाएंगे लेकिन उन्हें अपनी प्रतिभा और मेहनत पर विश्वास था। अपने तीन भाइयों में मझले अजय एक आईएएस के रूप में अपने देश की सेवा करना चाहते हैं। उनके पिता गुरुदेव कहते हैं कि वह शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल आता रहा है। वह तो बेटे को विज्ञान का टीचर बनाना चाहते थे, लेकिन उसने ऐसा सपना साकार किया कि वह खुद उसकी योग्यता से हतप्रभ हैं।

ये भी पढ़े :  यहा की मेयर बनीं नर्स, घरबार छोड़ हास्पिटल में कोरोना मरीजों की सेवा में जुटीं...

इसीलिए कहते हैं कि लक्ष्य के प्रति समर्पित इंसान के लिए विफलता जैसी कोई चीज नहीं होती है। अगर एक दिन में आप सौ बार गिरते हैं तो इसका मतलब हुआ कि आपको सौ सबक मिल गए। अगर आप अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित हो जाएं, तो आपका दिमाग भी उसी तरह सुनियोजित हो जाएगा। जब आपका दिमाग सुनियोजित रहेगा तो आपकी भावनाएं भी उसी के अनुसार रहेंगी, क्योंकि जैसी आपकी सोच होगी, वैसी ही आपकी भावनाएं होंगी। एक बार जब आपकी सोच और आपकी भावनाएं सुनियोजित हो जाएंगी, आपकी ऊर्जा की दिशा भी वही होगी और फिर आपका शरीर भी एक लय में आ जाएगा। जब ये चारों एक ही दिशा में बढ़े तो लक्ष्य हासिल करने की आपकी क्षमता गजब की होगी। फिर कई मायनों में आप अपने भाग्य के रचयिता होंगे। अजय कुमार सिंह और अजय कुमार ने तो कुछ ऐसा ही साबित कर दिखाया है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...
%d bloggers like this: