Sunday, October 25, 2020

पतित पावनी की अविरल धारा में लगाई आस्था की डुबकी

देवेंद्र फडणवीस हुए कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी…

बिहार चुनाव से पहले ही महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. कोरोना वायरस के प्रारंभिक...

योगी सरकार के सस्पेंड करने के बाद इंतसार अली ने कटवाई दाढ़ी अब एसपी ने की यह कार्यवाही

आखिरकार निलंबित एसआई इंतसार अली ने दाढ़ी कटवा ली है। दाढ़ी कटवाने के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया...

हाथरस में नही रुक रहे दुष्कर्म, अब 4 साल की बच्ची के साथ हुआ रेप

हाथरस: हाथरस में एक और रेप की घटना सामने आई है| इस रेप में शामिल आरोपी लड़के हैं...

हाथरस केस की जांच कर रहे डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी पुष्पा प्रकाश ने किया सुसाइड

अपडेट-- डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी पुष्पा प्रकाश ने किया सुसाइड

यूपी: छात्रा ने छेड़छाड़ का किया विरोध तो, मनचलों ने घर में घुसकर गोली मारकर हत्या करदी

फिरोजाबाद: थाना रसूलपुर क्षेत्र में एक छात्रा की छेड़छाड़ के विरोध पर मनचलों ने देर रात घर में...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

भदोही/लालानगर। गोरखपुर टाइम्स टीम लॉकडाउन खोले जाने के बाद जिले के गंगा घाटों पर सोमवार को आस्थावान दिखे। गंगा दशहरा पर्व पर लोगों ने मोक्षदायनी के घाटों पर आस्था की डुबकी लगाई। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस के जवान तो मुस्तैद दिखे। लेकिन साफ सफाई न होने के कारण आस्थावानों को मुसीबत से दो चार होना पड़ा। स्नान के दौरान आस्थावानों ने सामाजिक दूरी के नियमों का अनुपालन किया। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार हजारों वर्षों तक महाराज भगीरथ द्वारा तपस्या की गई थी। जिसके बाद मां गंगा का अवतरण धरती पर इसी दिन हुआ था। उनके जल के वेग से सब कुछ तहस-नहस न हो जाए, इसके लिए भगवान शिव ने उन्हें अपनी जटा में लपेट लिया और कुछ हिस्सों को धरती पर छोड़ा। जिसके बाद माता रानी ने महराज भगीरथ के पूर्वजों को पापों से मुक्ति दिलाई थी। ऐसी मान्यता है कि गंगा दशहरा के दिन मोक्ष दायनी की अविरल धाराओं में डुबकी लगाने से मनुष्य के न सिर्फ पाप व कष्ट धूल जाते हैं, बल्कि उनकी कृपा से पीढ़ियों तर जाती हैं। उधर, गंगा दशहरा के अवसर पर सोमवार को जिले के रामपुर, सीतामढ़ी, गुलौरी, बिजहरोजपुर, भोगांव आदि गंगा घाटों पर भोर से ही लोगों के स्नान आदि का क्रम शुरु हो गया था, जो दोपहर तक बदस्तूर बना रहा। घाटों पर भीड़ के मद्देनजर दुकानें भी सज गई थी। मंगलवार को निर्जला एकादशी का पर्व मनाया जाएगा। अन्न, जल त्यागकर लोग सुख व समृद्धि की कामना करेंगे। स्नानार्थियों ने सामाजिक दूरी का पालन किया। साथ ही एक जून से सरकार द्वारा लॉक डाउन में रियायतें काफी दे दी गई हैं। निर्जला एकादशी पर्व आज भदोही। मृगषिरा की भीषण गर्मी के बीच दो जून मंगलवार को भीम एकादशी (निर्जला एकादशी) पर्व मनाया जाएगा। इस दौरान सुबह से ही श्रद्धालु अन्न, जल को त्याग कर भगवान विष्णु की आराधना करेंगे। बुधवार की सुबह स्नान आदि के बाद व्रत का पारण किया जाएगा। ऐसी मान्यता है कि व्रत रहने से ईश्वर की असीम कृपा मिलती है। पर्व में पूरे 24 घंटे तक श्रद्धालू भूखे व प्यासे रहकर आराधना करते हैं।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर, लखनऊ, मथुरा, आगरा, सहित तमाम शहरों में अचानक बिजली गुल होने से लोगों में मचा हड़कंप....

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गगहा के ऐतिहासिक गाँव की कुलदेवी माँ दुर्गा भरती है भक्तों की झोलियां, कोरोना भी न तोड़ सका भक्तों का उत्साह… लगती है भारी...

योगी राज में कैसे त्योहार मनाएंगे यह सफाईकर्मी, अर्धनग्न होकर माँग रहे अपने ढाई महीने का वेतन

गोरखपुर के बाँसगांव थानाक्षेत्र के नगर पंचायत बाँसगांव में सफाईकर्मियों ने अर्धनग्न होकर आज प्रदर्शन किया इस प्रदर्शन के पिछड़ कारण यह...

गोरखनाथ मंदिर में बम धमाका करने की धमकी देने वाले युवक की पोखरे में डुबने से हुई मौत

गोरखपुर के अंतर्गत आने वाले गाँव बेदौली बाबु में गोरखनाथ मंदिर में बम धमाका करने की धमकी देने वाले युवक की...
%d bloggers like this: