Friday, July 23, 2021

पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत बनने के सपने को साकार करता पूर्वांचल का ये युवा….

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारत को उपभोक्ता के साथ उत्पादक देश बनाने के तमाम प्रयास ‌कर रहे हैं। साथ ही वह देश के युवाओं से रोजगार मांगने की बजाय रोजगार देने वाला बनने का भी आह्वान करते रहते हैं। कुछ इन्हीं बातों से प्रेरणा लेकर उत्तर प्रदेश के जनपद मऊ में मधुबन तहसील क्षेत्र के रहने वाले अखिलेन्द्र प्रताप सिंह ने एक अनोखा सॉफ्टवेयर बनाया है जिसकी मदद से ऑनलाइन कन्सल्टिंग सेवा प्राप्त की जा सकती है। साथ ही पैसे भी ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

यूं हुई ‘हमर’ की शुरुआत अखिलेन्द्र बताते हैं कि एक आम छात्र की तरह उन्हें भी पढ़ाई व कैरियर से सम्बन्धित उलझनें होती थीं। ऐसे विषयों पर विशेषज्ञों से सलाह लेने की ज़रूरत तो महसूस होती थी लेकिन कोई ऐसा प्लेटफॉर्म नहीं मिलता था जो ऑनलाइन कन्सल्टिंग की सुविधा उपलब्ध कराए। इसी सोच को लेकर उन्होंने खुद ही एक ऐसा सॉफ्टवेयर ऐप्लिकेशन तैयार करना चाहा जिसपर ऑनलाईन कंस्लटिंग की सुविधा ली जा‌ सके जिससे लोगों को उनके प्रोजेक्ट में मदद मिल‌ सके। बीटेक पूरा करने के बाद उन्हें एक अमेरिकन आईटी कंपनी में सॉफ्टवेयर डेवलपर का काम करने का मौका मिला। इस अमेरिकी कंपनी में काम करते हुए वो प्रधानमंत्री के ‘मेक इन इण्डिया’ कार्यक्रम से प्रभावित हुए और अपनी खुद की एक कंपनी शुरू करने की योजना बनाई। अंततः छः महीने बाद ‘कॉरिफिक टेक्नोलॉजिज़’ की स्थापना की जो एक सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी है। अपनी इसी कंपनी से उन्होंने एक विशेष तरह का सॉफ्टवेयर बनाया जिसे नाम दिया ‘हमर’।

ये भी पढ़े :  नदी में बहने से बाल-बाल बचे यूपी के कृषि मंत्री...
ये भी पढ़े :  नदी में बहने से बाल-बाल बचे यूपी के कृषि मंत्री...

मुख्य रूप से यह कई फीचर्स से लैस है ‘हमर’, व्हाट्सऐप्प, फेसबुक को भी देता है टक्कर कंसल्टिंग प्लैटफॉर्म की सुविधा देने के साथ ‘हमर’ में कई अन्य फीचर्स भी मौजूद हैं। व्हाट्सऐप्प, फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की तरह इसमें भी फोटो शेयरिंग, वॉयस कॉलिंग, वीडियो कॉलिंग व ट्विट की सुविधा है। इसके साथ ही इस ऐप्लिकेशन को अपने बैंक खाते से लिंक कर वॉलेट में रकम डाली जा सकती है और साथ ही पैसा ट्रांसफर भी किया जा सकता है। कंस्ल्टिंग सुविधा लेने वाला उपभोक्ता इस रकम को अपने वॉलेट से कंसल्टिंग अधिकारी को भुगतान करने में सक्षम होगा। अन्य अर्थों में इसे यूँ समझें कि कंसल्टिंग अधिकारी अपना शुल्क इस ऐप्लिकेशन में निर्धारित कर‌ सकता है जो सेवा लेने वाले ग्राहक के वॉलेट से स्वत: भुगतान हो जाएगा। हाल ही में लांच हुए इस ऐप्लिकेशन पर देश-विदेश से अब तक तीन सौ से ज़्यादा लोग रजिस्टर करा चुके हैं। यह ऐप्लिकेशन ऐपस्टोर व प्लेस्टोर पर उपलब्ध है जहां ‌से इसे मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।

ये भी पढ़े :  ऊँचा प्लेटफार्म होने की वजह से यात्रियों को भारी परेसानी का सामना करना पड़ रहा है

गरीबी व‌ आर्थिक अभावों में बीता‌‌ है बचपन
इंजीनियरिंग के छात्र रहे अखिलेन्द्र का बचपन अभावों में बीता है। उनके पिता पहले चाय की दुकान चलाते थे। आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के बाद भी उन्होंने अखिलेन्द्र की रुचि को देखते हुए कम्प्यूटर ला दिया। स्कूल के दिनों ‌से ही अखिलेन्द्र को कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग में रुचि रही है। गाजीपुर के एक निजी विद्यालय से उन्होंने प्रथम श्रेणी में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट उत्तीर्ण किया। कुशाग्र बुद्धि का होने के कारण उन्हें आईआईटी बीएचयू के बीटेक प्रोग्राम में दाखिला मिल गया।
अखिलेन्द्र की इन सफलताओं से उनके माता-पिता बहुत प्रसन्न‌ हैं। उनके पिता अश्विनी सिंह का‌ कहना ‌है कि इस तरह‌ के ऐप्लिकेशन बनाने से मोदी जी‌ के ‘मेक इन इण्डिया’ व‌ रोजगार देने वाला बनने की योजना को‌ बल‌ मिलेगा। इससे रोजगार भी सृजित होंगे जो देश के विकास में सहायक सिद्ध होगा। वहीं अखिलेन्द्र का कहना है कि भारत में लाखों लोग बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं। जिसके लिए वो आने वाले कुछ ही सालों में देश के एक लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखे हैं।

ये भी पढ़े :  नवरात्र के चौथे दिन होती है माँ कुष्मांडा की पूजा,इनकी भक्ति से होती है आयु , यश , बल ,और आरोग्य में वृद्धि....

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.corific.hummr.app

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: