Friday, July 30, 2021

पूरी दुनिया का पेट भर सकता यूपी, हर किसान का पंजीकरण कराएं अनिवार्य : योगी

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि खेतीबाड़ी की योजनाओं का लाभ किसानों को मिले, इसके लिए विभाग हर किसान का अनिवार्य रूप से पंजीकरण कराए। ऐसा हो गया तो उप्र के किसान चमत्कार कर सकते हैं। सर्वाधिक उर्वर भूमि, भरपूर पानी और मानव संसाधन के जरिये वह पूरी दुनिया का पेट भर सकता है। बस विभाग पंजीकरण के जरिये व्यवस्था को पारदर्शी बना दे जिससे किसानों के अनुदान का पैसा सीधे उनके खाते में पहुंचे, उनको तकनीक से जोड़े और समय से गुणवत्ता के कृषि निवेश उपलब्ध कराए।

किसानों के हित में बहुत कुछ

मंगलवार को यहां मिलेनियम फार्मर्स स्कूल के उद्घाटन कार्यक्रम में योगी ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश की सरकारों ने किसानों के हित में बहुत कुछ किया है। गन्ना, गेंहू और धान की रिकार्ड खरीद और बिक्री, किसानों की मांग के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा आदि इसके प्रमाण हैं। इसके नतीजे भी दिख रहे हैं। प्रदेश की कृषि विकास दर 18 वें से तीसरे स्थान पर आ गयी है। किसानों को जीरो बजट खेती के बारे में बताएं। योगी ने कहा कि अब भी बहुत कुछ करना है। कृषि विज्ञान केंद्र क्या करेंगे? विभाग इसका लक्ष्य तय करें। पानी के दक्ष और नियोजित प्रबंधन के लिए किसानों को जागरूक करें। बिना पर्यावरण को क्षति पहुंचाए न्यूनतम लागत में अधिकतम उत्पादन के लिए किसानों को जीरो बजट खेती के बारे में बताएं।

ये भी पढ़े :  लखनऊ:भाजपा सांसद ने कहा-हत्या और लूट का सिलसिला बदस्तूर जारी है...
ये भी पढ़े :  महाराजगंज जनपद में बनाये गए तीन नए नगर पंचायतों में प्रशासक नियुक्त...

पराली बढ़ाएगी किसानों की आय

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब पराली किसानों के लिए समस्या नहीं अतिरिक्त आय का जरिया बनेगी। इससे जैव इधन तैयार होगा। पहले चरण में इसके लिए सीतापुर और गोरखपुर का चयन किया गया है। सीतापुर में तो काम भी शुरू हो गया है। अगले चरण में और जगहों पर भी पराली से इसकी इकाईयां लगेंगी। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि किसान पाठशालाएं खुद में अभिनव प्रयोग है। इससे अब तक 30 लाख से अधिक किसान जुड़े चुके हैं। दुनिया के कई देश जानना चाहते हैं कि दो वर्ष से कम समय में कैसे यह संभव है। शाही ने विभागीय योजनाओं और उनकी उपलब्धियों के बारे में बताते हुए कहा कि अगर कहीं भी भ्रष्टाचार है तो उससे सख्ती से निबटा जाएगा।

खेत की तैयारी से लेकर बीज शोधन तक

कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. प्रभात कुमार ने अतिथियों के स्वागत के साथ किसान पाठशाला के मकसद के बारे में बताया। डॉ.प्रभात ने कहा कि इस बार की पाठशालाओं में खेत की तैयारी से लेकर बीज शोधन, नकली उर्वरकों एवं कीटनाशकों की पहचान,भंडारण के तरीके आदि के बारे में किसानों के सामने जीवंत प्रदर्शन किया जाएगा। विभागीय प्रमुख सचिव अमित मोहन ने आभार जताया। कार्यक्रम में पशुधन मंत्री प्रो. एसपी बघेल, कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह, निदेशक कृषि सोराज सिंह, निदेशक उद्यान डॉ.आरपी सिंह सिंह कृषि और संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी एवं प्रगतिशील किसान भी मौजूद थे। मालूम हो कि किसान पाठशालाओं का यह तीसरा चरण है। इस दौरान दो चरणों (12 से 15 और 17 से 20 दिसंबर) में 10 हजार पाठशालाओं में 10 लाख किसानों को खेती के उन्नत तरीकों की जानकारी दी जाएगी।

ये भी पढ़े :  बहराइच जनपद के मिहिपुरवा विकास खण्ड के ग्रामसभा चुरवा अन्तर्गत वर्षो से छतिग्रस्त पुल आवागमन बाधित।
ये भी पढ़े :  आजम खां के कार्यकाल की 1188 और भर्तियां रद, एसआईटी ने आजम खां को दोषी माना है....

सभी किसानों को बीमा योजना का लाभ मिले

प्रधानमंत्री फसल बीमा की सुरक्षा अमूमन उन्हीं किसानों को मिलती है जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) है। एक बहुत बड़ी संख्या उन किसानों की है जिनके पास केसीसी नहीं है वह इसकी सुरक्षा नहीं पाते। विभागीय प्रमुख सचिव अमित मोहन ने निर्देश दिया है कि बीमा योजना में शामिल किसानों में अनिवार्य रूप से पांच फीसद गैर ऋणी किसान भी होने चाहिए। ब्लॉक टेक्नोलॉजी मैनेजर, सहायक टेक्नोलॉजी मैनेजर और तकनीकी सहायक को अपने-अपने स्तर से कम 1000 किसानों को बीमा कराने का भी निर्देश दिया है। अधिकतम किसान बीमा सुरक्षा का लाभ उठाएं इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित कराएं।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: