Tuesday, September 28, 2021

प्रकृति का संदेश समझे मनुष्य,प्राकृतिक संसाधनों के दोहन के बजाय संतुलित विकास आवश्यक-शिवम

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर-प्राकृतिक आपदाएं प्रकृति की मुखरता का माध्यम मानी जाती रही हैं ।प्राकृतिक संसाधनों के दोहन को लेकर इंसानी गतिविधियों के खिलाफ कुदरत द्वारा विरोध का जताने का जरिया कही जाती रही हैं ।वैसे विपदा से भी कोई ना कोई सकारात्मक पहलू जुड़ा होता है इन दिनों पूरी दुनिया में एक ठहराव आ गया है लेकिन इंसानों के इस ठराव ने प्रकृति के ठहरे हुए जीवन को गति दी है कुदरत के खूबसूरत रंगों से हमें फिर रूबरू करवाया है केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक गंगा नदी का जल स्वच्छ होने लगा है। जानकार गंगा के जल में प्रदूषण में 50 फीसदी तक सुधार होने का दावा कर रहे हैं राजधानी दिल्ली में यमुना नदी में गंदगी कारण फैल रहे सफेद झाग की जगह पानी स्वच्छ दिख रहा है आसमान से सटे धुएं के गुबार के चलते पंजाब के जालंधर से हिमालय की बर्फीली चोटियां नजर आने लगी हैं ।यह सब वर्षों बाद देखने में आ रहा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े बताते हैं कि देश के करीब 6 सालों में पिछले कुछ दिनों में न्यूनतम वायु प्रदूषण दर्ज किया गया है दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में शुमार राजधानी दिल्ली में क्वालिटी इंडेक्स जल और वायु तथा ध्वनि प्रदूषण कम हुआ है औद्योगिक गतिविधियों और यातायात में कमी आने के कारण दुनिया भर में पर्यावरण सुधार रही है।

ये भी पढ़े :  प्रकृति का नया रूप

यहां तक कि बरसों से चिंता का विषय रहे ओजोन परत का छेद भी भर रहा है हमें इस बात को समझना होगा कि यह धरती सबकी है लॉक डाउन में सामने आई कुछ तस्वीरें जो अभी बता रही हैं दुनिया के कई देशों में तालाबों और समुद्री तटों पर इंसानी गतिविधियों कम होने से कहीं डॉल्फिन मछलियां और हंस के जोड़े लौट आए हैं तो कहीं सड़कों पर जंगली जानवर घूम रहे हैं हमारे यहां भी देश के हर हिस्से से ऐसी तस्वीर सामने आ रही है जो आपदा के दौर में भी इंसानों को मुस्कुराहट की सौगात दे रही है। शहरों में शांत परिवेश में हिरण और नीलगाय जैसे जानवर घूम रहे हैं।राजधानी दिल्ली में जहां सड़कों पर केवल वाहन दिखते थे वहां कई इलाकों में मोर और इस तरह के कई अन्य पक्षी घूमते फिरते नजर आ रहे हैं असल में देखा जाए तो कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए लागू किए गए लाक डाउन के सन्नाटे में प्रकृति का सार्थक संदेश भी गूंज रहा है। आपदा के इस दौर में पीड़ा को जीते हुए इस सकारात्मक संदेश पर गौर करना जरूरी भी है क्योंकि कुदरत के ऐसे पाठ भविष्य की रूपरेखा बनाने में मददगार साबित होते हैं ,यह आमजन को यह संदेश दे रहा है कि थोड़ा सा ठहराव व्यक्तिगत जिंदगी को सुकून और पर्यावरण को स्वछता की सौगात दे सकता है, ग्लोबल वार्मिंग समस्याओं से निजात दिला सकता है ।धरती का बढ़ता तापमान ही नहीं बाढ़ ,सूखा और भूकंप जैसी आपदाओं को भी रोक सकता है बिगड़ी जीवनशैली और खानपान के चलते दस्तक दे रही कई दूसरी बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है ।संसाधनों का सीमित इस्तेमाल करते हुए भी जीवन जिया जा सकता है यह वैश्विक आपदा दुनिया के हर देश को प्रभावी रूप से समाज और संयमित जीवनशैली अपनाने की सीख दे रही है हालांकि आर्थिक सामाजिक और मनोवैज्ञानिक मोर्चे पर इंसान बहुत लंबे समय तक ऐसे ठहराव को नहीं कर सकता,पर यह विपदा जीवन के हर मोर्चे पर चल रही है गैरजरूरी आपाधापी को रोकने की सीख तो देती है साथ-ही-साथ सबक भी हैं कि प्राकृतिक संसाधनों के अंधाधुंध दोहन के बजाय संतुलित विकास और सामान्य समन्वयकारी सोच पर्यावरण ही नही मनुष्य का जीवन भी खतरे में पड़ने से बचा सकती है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर :-धस्का निवासी हिस्ट्रीशीटर राधे यादव और पुलिस की रात मुठभेड़,राधे पुलिस की गोलियों से घायल...
ये भी पढ़े :  हाय दुर्भाग्य::-गाज़ियाबाद से गोरखपुर आ रही थी महिला,रास्ते मे हुई मौत....

न्यूज़ और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे
7355770191 Surya Srivastava

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: