Tuesday, September 28, 2021

प्रधान पति और लेखपाल की मिलीभगत से सार्वजनिक गड्ढे पर हुआ दबंगों का कब्जा, तहसील प्रशासन नहीं कर रहा कोई कार्यवाही

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

ग्राम प्रधान पति और लेखपाल की मिलीभगत से ग्राम सभा के सार्वजनिक गड्ढे पर हुआ दबंगों का कब्जा, तहसील प्रशासन नहीं कर रहा कोई कार्यवाही

ग्रामसभा खोरीबारी, थाना-भटनी, तहसील सलेमपुर में एस•डी•एम• सलेमपुर के कस्टडी मैं सरकारी गड्ढे पर दबंगों द्वारा विगत माह कब्जा किया गया। परंतु तहसील प्रशासन के ढीले रवैए की वजह से आज तक उन दबंगों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है और तहसील प्रशासन हीलाहवाली में लगा हुआ है तथा कोई कार्यवाही की स्पष्ट स्थिति नहीं बन पा रही है जिससे दबंगों का मनोबल बढ़ा है।

सन् 2006 में भी सार्वजनिक गड्ढे को पाटने की कोशिश की गई थी
उक्त सार्वजनिक एवं सरकारी गड्ढे में सन् 2006 में भी कब्जा करने की कोशिश की गई थी परंतु ग्राम सभा के जागरूक नागरिकों और तत्कालीन ग्राम प्रधान के हस्तक्षेप से प्रशासन द्वारा कब्जे को रोक दिया गया था तथा एस•डी•एम• सलेमपुर में उक्त गड्ढे को सी•आर•पी•सी• की धारा 145 के तहत अपनी कस्टडी में ले लिया गया था।
गांव के नागरिकों द्वारा यह बताया गया कि उक्त गड्ढे का प्रयोग जल निकास हेतु पूर्वजों के जमाने से किया जाता रहा है ग्राम सभा की सार्वजनिक पक्की नाली तथा उस गड्ढे से सटे लोगों की पक्की नालियां उसमें पूर्वजों के जमाने से आकर गिरती रही है तथा उस जलाशय में बरसात का पानी भी एकत्र होता रहा है। परंतु गांव के हृदय नारायण राय एवं उनके परिवार द्वारा दबंगई के बल पर सन् 2006 में सैकड़ों ट्राली मिट्टी भरकर सार्वजनिक गड्ढे को पाटने की कोशिश की गई थी और पुनः दबंगो द्वारा उसे पाटने की कोशिश की गई है वर्तमान स्थिति यह है कि बरसात के मौसम में जल निकास की समस्या बनी हुई है जलजमाव होने की वजह से प्रदूषण और संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है।

ये भी पढ़े :  चकवा महावीर मेले मे पवनसुत के दर्शन को उमड़े श्रद्धालु चकवा व नटवा मेले में रहा मेलार्थियों में उत्साह

ग्राम प्रधान पति और लेखपाल दोनो की है मिलीभगत
शिकायतकर्ता ओमप्रकाश राय, द्वारा ग्राम प्रधान पति रामवृक्ष गुप्ता को तुरंत आपत्ति करने हेतु आगाह किया गया लेकिन ग्राम प्रधान पति मौके पर रोकने नहीं आए क्योंकि उन्हीं के सह पर ग्राम सभा की सार्वजनिक गड्ढे को दबंगों द्वारा भरा जा रहा था। पहले दिन उप जिलाधिकारी के निर्देश पर लेखपाल श्रीप्रकाश यादव मौके पर आए उन्होंने शिकायतकर्ता को बताया कि मैंने मना कर दिया मिट्टी नहीं भरी जाएगी परंतु उनके चले जाने के बाद तीन दिन तक मिट्टी भरी गई। लेखपाल द्वारा पूरे तहसील के अधिकारियों को दिग्भ्रमित किया गया है।

ये भी पढ़े :  नए आदेश जारी करने बजाय यूपी में बिगड़े हालातों का जायजा लें सीएम, केवल बयानबाजी से नहीं होगा प्रदेश का भला : अखिलेश यादव

शिकायतकर्ता मानवाधिकार संगठन के पदाधिकारी हैं
शिकायतकर्ता ओम प्रकाश राय अखिल भारतीय मानवाधिकार संगठन (AIHRA) के गोरखपुर मंडल के संरक्षक है तथा उनका निवास स्थान खोरीबारी गांव में स्थित है ओमप्रकाश राय तथा तत्कालीन ग्राम प्रधान के हस्तक्षेप से ही सन् 2006 में अवैध कब्जे को प्रशासन द्वारा रोका गया तथा न्यायालय की प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद न्यायालय, अपर उपजिलाधिकारी सलेमपुर द्वारा उक्त गड्ढे को सार्वजनिक उपयोग हेतु संरक्षित किया गया है। ओमप्रकाश राय बताते हैं की उक्त सरकारी गड्ढे से संदर्भित दो आदेश हैं एक में एस•डी•एम• सलेमपुर ने उक्त गड्डे को अपने कस्टडी में लिया है तथा दूसरे आदेश में उक्त गड्ढे को सार्वजनिक उपयोग हेतु संरक्षित किया गया है। वर्तमान में उक्त दोनों आदेशों के प्रभावी होने के बावजूद मौके पर दबंगों के द्वारा मिट्टी भर लिया गया और मेरे द्वारा बार-बार लिखित/मौखिक/टेलिफोनिक/टि्वटर/फेसबुक/ व्हाट्सएप इत्यादि के जरिए सूचित करने के बावजूद प्रशासन मूकदर्शक बना रहा और आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है यह अत्यंत चिंताजनक स्थिति है तथा प्रशासन के प्रति उदासीनता का बहुत बड़ा उदाहरण साबित होने जा रहा है।

तहसील प्रशासन कर रहा लापरवाही
न्यायालय द्वारा सार्वजनिक उपयोग हेतु संरक्षित गड्ढे में दबंगों द्वारा मिट्टी पाटने की घटना की टेलिफोनिक सूचना गांव के कुछ लोगों द्वारा सूचना डायल 112 पर पुलिस, जिलाधिकारी देवरिया तथा उप जिलाधिकारी सलेमपुर को दिया गया और जनसुनवाई पोर्टल पर लिखित शिकायत भी की गई। इसके बाबत जिलाधिकारी देवरिया के निर्देश पर उप जिलाधिकारी सलेमपुर द्वारा तहसीलदार के नेतृत्व में गठित राजस्व टीम तथा थानाध्यक्ष भटनी मय फोर्स 3 दिन बाद मौके पर पहुंचे तब तक सैकडों ट्राली मिट्टी गिर चुकी थी। मौके पर शिकायतकर्ता तथा दबंगों को सुनने के बाद गड्ढे से संबंधित प्रपत्रों को लेकर चले गए तथा मौके पर निर्देश मिलने तक यथास्थिति का आदेश दे दिया और आज तक कोई रिपोर्ट, कोई निर्देश तहसील द्वारा प्राप्त नहीं हुआ है। अब तक कोई कार्यवाही ना होने की दशा में, स्थिति यह है कि दबंग गड्ढे को अपना बता रहे हैं तथा अपना हक जमा रहे हैं। शिकायतकर्ता द्वारा तहसील के जिम्मेदारों से पूछने पर या कहा जाता है की वह प्रकरण उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर का है।

ये भी पढ़े :  इस बार अमरनाथ यात्रा का है प्लान, तो जानें इस दिन से शुरू होगी हेलीकॉप्टर बुकिंग

जिम्मेदार अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश में है
तहसील के जिम्मेदारों जैसे लेखपाल का यह कहना है कि क्योंकि यह मामला राजस्व का नहीं है यह मामला आबादी वर्ग 6(2) का है इसके अभिलेख उनके पास नहीं है इसलिए वह इसमें कोई कार्यवाही करने की स्थिति मैं नहीं है। जबकि शिकायतकर्ता द्वारा पूर्ण साक्ष्य (करीब 27 पृष्ठ) लिखित अभीकथन के साथ उप जिलाधिकारी कार्यालय में रिसीव करवाया जा चुका है। इसके बाबत शिकायतकर्ता द्वारा उपजिलाधिकारी से संपर्क किया गया जिस पर उन्होंने यह बताया कि मैं इसे दिखवाता हूं।

ये भी पढ़े :  गरीबी-बेरोजगारी-महँगाई इस चुनाव में मुद्दा न बनने पाए इसके लिए भाजपा ..... डॉ के सी पाण्डेय

योगी सरकार के दो शासनादेशों की अनदेखी कर रहा है लेखपाल और तहसील प्रशासन
सन् 2017 में जैसे ही उत्तर प्रदेश सरकार का गठन हुआ तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दबंग्ग और भू माफियाओं पर नकेल कसने के लिए एंटी भू माफिया टास्क फोर्स का गठन किया गया और दिनांक 1 मई 2017 को एंटी भू माफिया टास्क फोर्स से संदर्भित स्पष्ट एवं विस्तृत शासनादेश जारी हुआ। राहुल भटनागर, मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन द्वारा समस्त मंडल आयुक्त, समस्त जिलाधिकारी, आयुक्त एवं सचिव, राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश तथा समस्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, उत्तर प्रदेश को प्रेषित महत्वपूर्ण/ शीर्ष प्राथमिकता हेतु शासनादेश, संख्या: 402/1-2-2017 (सामान्य) 2017। उ•प्र• शासन आदेश के बाद 8 मई 2017 को आयुक्त एवं सचिव, राजस्व परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ द्वारा समस्त जिलाधिकारियों को प्रेषित शीर्ष प्राथमिकता/समयबद्ध शासनादेश संख्या: R-1082/जी-05 01 अति•/2017 जारी हुआ जिसमें प्रदेश के राजस्व ग्राम में ग्राम पंचायत/सार्वजनिक भूमि/संपत्ति से अतिक्रमण हटाने व भू-माफियाओं के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही को लेकर विस्तृत विवरण दिया गया है। इन दोनों शासनादेशों को भी तहसील के अधिकारी अवलोकन नहीं कर रहे हैं। यदि करते तो कार्यवाही होना सुनिश्चित हो पाता।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: