Tuesday, April 20, 2021

प्रयागराज कोटेश्वर महादेव: कामदेव को नष्ट कर मनकामेश्वर में प्रकट हुए थे शिव…..

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी सकरात्मक सोचें, होमियोपैथी पर...

UP: पंचायत चुनाव में पैसा बांट रहे थे BJP के पूर्व MLA के भाई, रंगे हाथ पकड़े गए

पूर्व भाजपा विधायक अवनीन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ महंत दूबे के छोटे भाई व पूर्व प्रधान सत्येन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ राजू द्विवेदी को...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

लखनऊ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

मिंटोपार्क के समीप मनकामेश्वर मंदिर बहुत ही प्राचीन है। मंदिर में स्थापित शिवलिंग का पूजन-अर्चन भगवान राम ने वनवास जाते समय किया था। ताकि 14 वर्षों का वनवास सकुशन संपन्न कर अयोध्या वापस लौटे सकें। यह भी मान्यता है कि भगवान शिव ने कामदेव को नष्ट कर यहीं पर प्रकट्य हुए थे। इसलिए इस मंदिर का नाम मनकामेश्वर पड़ा। मंदिर के प्रभारी स्वामी धरानंद ब्रह्मचारी ने बताया कि शिव मंदिर में प्रतिदिन पूजन-अर्चन के लिए हजारों श्रद्धालु आते हैं। सावन के महीनें में यह संख्या लाखों में हो जाती है। मंदिर मनकामेश्वर महादेव का पूजन-अर्चन व अभिषेक करने वाले भक्तों की मनोकामना अवश्य पूरी होती है। पद्म पुराण में इस मंदिर का उल्लेख कामेश्वर तीर्थ के नाम से किया गया है।
शिवकुटी के समीप गंगा नदी के तट पर स्थापित कोटेश्वर महादेव की पूजा करने से श्रद्धालुओं को सभी पापों से छुटकारा मिल जाता है। इस शिवलिंग की पूजा करना सवा करोड़ शिवलिंग की पूजा करने समान पुण्य प्राप्त होता है। कोटेश्वर महादेव की स्थापना भगवान राम ने लंका से वापस आने के बाद भरद्वाज ऋषि के निर्देश पर ब्रह्म हत्या से मुक्ति के लिए किया था। प्रमुख पुजारी सर्वेश गिरि ने बताया कि शास्त्रों में इसका वर्णन हैं। बताया कि लंका से आने के बाद भगवान राम ने महिर्ष भरद्वाज के कहने पर सवा करोड़ शिवलिंग बनाकर अभिषेक किया था। उसके बाद भरद्वाज ऋषि के कहने पर ही एक शिवलिंग तैयार किया उसका अभिषेक किया। भरद्वाज ऋषि ने कहा कि इस शिवलिंग का निर्माण सवा करोड शिवलिंग के निर्माण बाद हुआ है।

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग::-गोरखपुर में 2 और मरीज कोरोना पॉजिटिव कुल संख्या हुई 6

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: