Monday, May 27, 2019
Uttar Pradesh

प्रियंका गांधी की राजनीति में एंट्री पर बोले योगी, ‘शून्य में शून्य जोड़ने पर शून्य ही बचता है’…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय राजनीति में आने से आगामी लोकसभा चुनावों के नतीजों पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि ‘शून्य में शून्य जोड़ने से शून्य ही मिलता है.’योगी आदित्यनाथ ने प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए कांग्रेस महासचिव नियुक्त किए जाने को पार्टी की ‘‘राजनीतिक वंशवाद’’ की संस्कृति को आगे बढ़ाना बताया.

उन्होंने कहा, ‘शून्य में शून्य जोड़ने का परिणाम शून्य ही आता है. इससे चुनावी नतीजों पर कोई असर नहीं पड़ेगा. उनकी नियुक्ति के साथ कांग्रेस ने राजनीतिक वंशवाद की अपनी संस्कृति को ही बढ़ाया है.’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन 47 वर्षीय प्रियंका गांधी को बुधवार को फरवरी से पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए पार्टी का महसचिव नियुक्त किया गया. उनकी जिम्मेदारी वाले क्षेत्र में गोरखपुर भी शामिल हैं जहां से आदित्यनाथ पांच बार के सांसद रहे हैं.

योगी ने साधा एसपी और बीएसपी पर निशाना
मुख्यमंत्री नोएडा से ग्रेटर नोएडा मेट्रो रेल और छह ढांचागत परियोजनाओं का उद्घाटन करने आए थे. उन्होंने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी पर भी निशाना साधा.
उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मायावती का नाम लिए बगैर कहा,’पहले नोएडा और ग्रेटर नोएडा के साथ बदकिस्मती जुड़ी थी. ऐसा कहा जाता था कि जो भी मुख्यमंत्री इस क्षेत्र का दौरा करता है वह अपनी कुर्सी गंवा देता है. इसलिए इस क्षेत्र की उपेक्षा की गई.’

‘नोएडा और ग्रेटर नोएडा भी उत्तर प्रदेश का हिस्सा है’
आदित्यनाथ ने कहा,’जब मैं मुख्यमंत्री बना तो मुझसे पूछा गया कि क्या मैं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इन दो शहरों का दौरा करुंगा तो मैंने कहा क्यों नहीं! नोएडा और ग्रेटर नोएडा भी उत्तर प्रदेश का हिस्सा है. हम कुर्सी या सत्ता के लिए काम नहीं कर रहे बल्कि हम लोगों के लिए काम कर रहे हैं. मैंने मार्च 2017 से लेकर अब तक कई बार क्षेत्र का दौरा किया है और भविष्य में भी करता रहूंगा.’

केंद्रीय आवासीय एवं शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ खड़े हुए आदित्यनाथ ने समयबद्ध तरीके से विकास कार्य पूरे ना करने के लिए पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधा.

उन्होंने कहा, ‘राज्य में पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी की सरकार के पूर्ण कार्यकाल के दौरान सभी के लिए केंद्रीय आवासीय योजना के तहत 20,000 मकानों की मंजूरी दी गई लेकिन छोटी-सी अवधि में हमने आठ लाख से ज्यादा मकान बना दिए. हम लोगों के लिए और मकान बनाने की अपनी कोशिशें तेज कर रहे हैं.’

Advertisements
%d bloggers like this: