Monday, May 27, 2019
Uttar Pradesh

प्र‍ियंका गांधी बोलीं- इंदिरा जी थीं फुटबॉल की बहुत बड़ी फैन, इटली का करती थीं समर्थन….

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के मद्देनजर राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारक चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं. इन सबके बीच कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को केरल के अरीकोडे में एक रैली को संबोधित किया. इस रैली में प्रियंका ने लोगों के साथ इंदिरा गांधी से जुड़ी एक याद साझा की.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने रैली में कहा कि बहुत लोग नहीं जानते होंगे कि मेरी दादी इंदिरा गांधी फुटबॉल की बड़ी प्रसंशक थीं. उन्होंने मेरे साथ फुटबॉल वर्ल्ड कप भी देखा था. प्रियंका ने आगे कहा कि 1982 में जब हम वर्ल्ड कप का फाइनल मैच देख रहे थे तो मैंने उनसे पूछा था कि आप किस टीम का समर्थन कर रही हैं. इस सवाल पर उन्होंने कहा था कि भारत इसमें नहीं खेल रहा है, तो मैं इटली का समर्थन कर रही हूं. उन्होंने आगे कहा कि मेरा बेटा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी फुटबॉल के बड़े फैन हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा इस रैली में अपने बेटे रेहान और बेटी मिराया के साथ गईं थीं. रैली के खत्म होने पर प्रियंका के बच्चों ने भी लोगों का अभिवादन किया. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने केंद्र की भाजपा नीत एनडीए सरकार पर शनिवार को निशाना साधते हुए कहा कि उसने उन लोगों के साथ विश्वासघात किया, जिनके वोट की बदौलत वह (भाजपा) सत्ता में आई थी. प्रियंका ने यह भी आरोप लगाया कि एनडीए सरकार ने पिछले पांच बरसों में देश को सिर्फ बांटने का काम किया है.

कांग्रेस महासचिव ने कहा, “यह मेरा देश है, ये पहाड़ियां मेरा देश है, उत्तर प्रदेश में गेहूं के खेत मेरा देश हैं. तमिलनाडु, गुजरात, पूर्वोत्तर मेरा देश है लेकिन, भाजपा सरकार ने पिछले पांच बरसों में देश को सिर्फ बांटने का काम किया है.” उन्होंने आरोप लगाया, “पांच साल पहले, एक सरकार पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आई थी. हमारे देश के लोगों ने अपने पूरे विवेक के साथ उनमें अपना भरोसा जताया था. लेकिन जिस क्षण से वह सत्ता में आई, उसने लोगों से विश्वासघात करना शुरू कर दिया.”

कांग्रेस नेता ने कहा, “उन्होंने किसानों से उनकी आय दोगुनी करने का वादा किया. उन्होंने युवाओं से वादा किया कि रोजगार के दो करोड़ अवसर सृजित किए जाएंगे. लेकिन सत्ता में आने के बाद, वे भूल गए कि उन्हें सत्ता में लेकर कौन आया है.” उन्होंने आरोप लगाया कि वह (भाजपा) यह मानने लगी कि सत्ता उसके पास है और यह लोगों के पास नहीं है. उन्होंने कहा कि इस बात का पहला संकेत तब मिला, जब इसके (भाजपा के) अध्यक्ष ने कहा कि 15 लाख रुपये का वादा महज चुनाव की खातिर था.

प्रियंका ने दावा किया, “उन्होंने (भाजपा अध्यक्ष ने) कहा कि यह एक जुमला था.” अपने भाई राहुल गांधी के लिए चुनाव प्रचार करने आईं प्रियंका ने कहा कि वह (राहुल) लोकतंत्र और भाषा एवं संस्कृति में अभिव्यक्ति में दिल से भरोसा करते हैं. उन्होंने अपने भाई, उनके जीवन, उनकी शिक्षा, अपनी दादी एवं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या और अपने पिता राजीव गांधी के बारे में भावुक भाषण भी दिया.

Advertisements
%d bloggers like this: