Home Gorakhpur विधायक फतेह बहादुर ने दी नगर विधायक राधा मोहन को खुली चुनौती,कह...

विधायक फतेह बहादुर ने दी नगर विधायक राधा मोहन को खुली चुनौती,कह डाली ये बात…..

3472

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर में अभियंता को लेकर छिड़ा विवाद तूल पकड़ता जा रहा।।इसी कड़ी में अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो चुका है।।कैम्पियरगंज विधायक फतेह बहादुर और नगर विधायक राधामोहन के बीच भी तलवार खिंच गई है।।कैम्पियरगंज के विधायक ने राधामोहन पर अहम की बात कह दी तो 6 बिंदुओं में नगर विधायक ने फतेह बहादुर पर आरोप लगाया जिसके उत्तर में कैम्पियरगंज विधायक ने भी एक लंबा चौड़ा पोस्ट डाल कर विन्दुवार उत्तर दिया और यहां तक कह डाला कि आप भी इस्तीफा दजिये मैं भी इस्तीफा देता हूं।।एक दूसरे के क्षेत्र से लड़कर देख लेते है कौन कितना प्रभावी है।।

उन्होंने पोस्ट करते हुए लिखा कि “गोरखपुर शहर के माननीय विधायक श्री राधा मोहन दास अग्रवाल जी जो सहायक अभियंता केके सिंह के मेरे द्वारा समर्थन में आने से कुछ प्रश्न उठाए गए हैं वैसे तो मेरी सीमा क्षेत्र पूरा गोरखपुर ही नहीं पूरा पूर्वांचल और उत्तर प्रदेश है फिर भी मैं उनके इस हरकत पर अचंभित हूं।।1- मैं जब कांग्रेस से चुना गया था तो भी भारतीय जनता पार्टी में माननीय कल्याण सिंह की सरकार बनाने का कार्य किया था आपके द्वारा कहा गया कि मैं दो बार किसी पार्टी से नहीं लड़ा हूं कृपया अपना ज्ञान बढ़ा लें कल्याण सिंह की सरकार बनने से लेकर 2001 में पनियरा से विधायक रहा एवं आज भी भारतीय जनता पार्टी से विधायक हूं कृपया अपनी ओछी मानसिकता से ऊपर उठने का कष्ट करें।।

2- जब मैं वन मंत्री बना तो इसी गोरखपुर में चिड़ियाघर का जिसकी कोई कल्पना नहीं किया था कार्य प्रारंभ कराया यह चिड़ियाघर एशिया लेवल की चिड़ियाघर है। रीता बहुगुणा जोशी जी ने मेरे कार्यकाल की कोई चर्चा नहीं की।आपको विदित करना चाहता हूं कि कैबिनेट की बैठक में इंसेफलाइटिस की भयावहता किस कदर गोरखपुर में है इस विषय को मैं तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती जी को बताया था जिससे मुझे पार्टी से निकाला गया
आपको मालूम होगा कि अन्य दलों से आए विधायक नेता पार्टी में माननीय मंत्री ,महामहिम राज्यपाल और प्रदेश के बड़े पदो पर सुशोभित करने का कार्य कर रहे हैं।।

ये भी पढ़े :  UP Board 10th 12th Result 2020: कल जारी होगा यूपी बोर्ड 10वीं 12वीं रिजल्ट, यहां कर सकेंगे चेक

3- विधायक निधि 1 वर्ष के लिए स्थगित की गई है सभी जानते हैं कि कोबिड की महामारी में ही विधायक निधि का फंड जा रहा है जिससे जनता को ही सहयोग करने की बात सरकार द्वारा की जा रही है निधि द्वारा जो कार्य हुए हैं वह माननीय योगी आदित्यनाथ जी के निर्देश पर कराए गए हैं इस संबंध में मुझे आपसे प्रमाण पत्र लेने की आवश्यकता नहीं है।

4- फतेह बहादुर सिंह कभी बेचारा नहीं हो सकता बेचारे आप हैं जो पार्टी की कृपा से विधायक बने हैं हम सब की उपस्थिति में सदर विधानसभा का विधायक होने के नाते आपको मंच पर बोलने का अवसर मिला था आप सरेआम मंडलायुक्त एवं जनपद के अन्य अधिकारियों की तारीफ किए उस समय सभी अधिकारी और कर्मचारी जनपद के अच्छे थे क्या मुख्यमंत्री जी कहे थे तारीफ करने के लिए कृपया स्पष्ट करें।मैंने इसके पूर्व में माननीय प्रधान मंत्रियों के मंच को भी साझा किया हैं मैं मंच का भूखा नहीं हूं आप होंगे।

ये भी पढ़े :  खुशखबरी:- जुलाई से शुरू होगी गोरखपुर एम्स में डॉक्टरी की पढ़ाई ....

5- 2019 चुनाव जीतने के बाद सभी माननीय विधायकों को अवसर मिला था कि वह अपने क्षेत्र में अपने योगदान को बताएं मैंने नौजवानों को अधिक रोजगार देने की बात कही थी जिस पर जनता का उत्साह आपको मंच पर ही देखने को मिला होगा प्रजातंत्र में यह अधिकार प्रत्येक नागरिक का है कि अगर कोई अपनी समस्या रखे तो हम उसकी बात को सुनकर निराकरण करने का प्रयास करें .

जैसा कि आपने कहा कि क्या वह क्षेत्र मेरे विधानसभा में आता है तो आपको पता है जनता जानती है जो व्यक्ति उत्तर प्रदेश सरकार में रहा हो उसकी कोई सीमा नहीं है जो मेरे पास आता है मैं उसकी मदद करता हूं मैं किसी क्षेत्रीय सीमा में नहीं बधा हूं।

मैं यहां यह भी कहना चाहूंगा कि कृपया राजनैतिक मर्यादाओं को बनाए रखें और यदि आप बहुत होनहार जानकार पॉपुलर हैं तो कृपया गोरखपुर शहर से इस्तीफा दे दें मैं कैंपियरगंज से इस्तीफा देता हूं आप कैंपियरगंज से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीतकर दिखाइए मैं शहर से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीतकर दिखाता हूं
आप द्वारा जो आरोप लगाए गए वह सत्य से परे एवं निराधार हैं उचित होगा कि हमको भीड़ की महामारी में जनता के सहयोग में लगे।

%d bloggers like this: