Saturday, August 17, 2019
BaharichBreaking NewsUttar Pradesh

बहराइच जनपद मे प्राकृतिक खेती, गौ आधारित खेती की बैठक सम्पन्न हुई।

बहराइच जनपद अन्तर्गत आज दिनांक 09/02/2019 को बुद्धा रिसॉर्ट लखनऊ रोड बहराइच मे प्राकृतिक खेती/गौ आधारित खेती कार्यशाला हुई जिसमे प्राकृतिक खेती अभियान प्रमुख उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड माननीय कुंवर जयंकर सिंह जी ने किसानो को बताया कि रासायनिक आधारित कृषि घातक है। जैविक कृषि भी उपयोगी नहीं है। जैविक कृषि की 5 पद्धति होती है, जो अलग अलग देश से ली गयी हैं। जो प्रकृति के बिल्कुल भी अनुरूप नहीं है,जैविक पद्धति में कार्बन उत्सर्जन अधिक होता है। यह पर्यावरण को दूषित करने के साथ-साथ अधिक खर्चीला भी है। इस समस्या से निपटने के लिए प्राकृतिक कृषि/गौ आधारित कृषि ही एक मात्र विकल्प है और यही भारतीय पद्धति है।

अम्बिका प्रसाद वर्मा विभाग कार्यवाह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देवीपाटन मण्डल ने किसानो को बताया की कैसे प्राकृतिक खेती लाभदायक हो सकती है। बैठक मे डाक्टर जे एन मिश्रा संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य विभाग उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया की वो औषधीय खेती करते है तथा किसानो को प्राकृतिक खेती के लिऐ गौ मूत्र देसी बीज आदि समय समय पर किसानो को निशुल्क उपलब्ध करवाते है।

कार्यशाला मे रामकेवल गुप्ता, शक्तीनाथ सिंह, राजकुमार चौधरी, सुमित रस्तोगी, विशाल सिंह, आशीष मिश्रा, पवन चौधरी, नीबू लाल, तिलकराम, सत्यराम गुप्ता, लोक नाथ दुबे, सुरेन्द्र गिरी,रामकुमार तिवारी,राम रचन यादव, राम प्रवेश, सुनील कुमार सिह, राम सेवक वर्मा आदि बहराइच जनपद के समस्त प्राकृतिक कृषक उपस्थित रहे।

Advertisements
%d bloggers like this: