Wednesday, October 27, 2021

बिहार में मौतों को लेकर यूपी में अलर्ट, गांवों में खास सतर्कता बरतने के निर्देश…

समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान!

Gorakhpur: समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान! आज गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर...

Mrj: अधिकरियो के रहमो-करम पर दबंगों द्वारा चकनाले की जमीन पर बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय का किया जा रहा है संचालन, बच्चों का भविष्य...

Maharajganj/Dhani: युवा समाजसेवी अजय कुमार का कहना है कि धानी ब्लाक के अन्तर्गत एक विद्यालय साधु शरण गंगोत्री देवी लेदवा रोड बंगला...

साष्टांग प्रणाम यात्रा पे निकला बांसी से लेहड़ा मंदिर – भक्त रामशब्द लोधी

Maharajganj/ SiddharthNagar: बांसी क्षेत्र के अंतर्गत राम गोहार गाँव से रामशब्द लोधी ने लगातार तेरह वर्षों से नवमी में सष्टांग प्रणाम यात्रा...

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

बिहार में इंसेफ्लाइटिस व लू से हो रही मौतों के बाद उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अलर्ट घोषित किया गया है। प्रशासन इसके लिए तैयार हो गया है।

बिहार में इंसेफ्लाइटिस व लू से लगातार हो रही मौतों को लेकर यूपी में अलर्ट जारी कर दिया गया है। खासतौर पर पूर्वी उत्तर प्रदेश के अफसरों को सख्त हिदायत दी गई है कि वह इंसेफ्लाइटिस व लू से बचाव के साथ ही इलाज की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त करें। खुद औचक निरीक्षण कर इस बारे में किए गए इंतजामों का जायजा लें।

ये जिले हैं अलर्ट पर

गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज, बस्ती, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर, आजमगढ़, मऊ व बलिया जिलों को खासतौर पर आगाह किया गया है। इन जिलों के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए गए निर्देश में प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रशांत त्रिवेदी ने बिहार की सीमा से लगे गांवों में विशेष सतर्कता बरतने को कहा है।

तत्काल कार्रवाई के लिए तत्परता जरूरी

अधिकारियों से कहा गया है कि रैपिड रिस्पांस टीम को तथा हेल्पलाइन नंबर को सक्रिय रखें एवं मीडिया तथा अन्य स्रोतों से सूचना मिलते ही तत्काल कार्रवाई की जाए। फीवर ट्रैकिंग सिस्टम को सक्रिय किया जाए। इसके तहत आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर बुखार के रोगियों का पता लगाएं। सभी उपचार केंद्रों पर फीवर हेल्प डेस्क अनिवार्य रूप से स्थापित किए जाएं व बुखार के सभी रोगियों को प्राथमिकता के आधार पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर इलाज की सुविधा महैया कराई जाए। इंसेफ्लाइटिस के संभावित मरीजों की जेई, स्क्रब टाइफस, डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया आदि की सभी जांच जरूर कराई जाएं। इंसेफ्लाइटिस के संभावित रोगियों को सभी जरूर दवाएं दी जाएं।

ये भी पढ़े :  एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने से नाराज कांग्रेस नेता ने पार्टी से दिया इस्तीफा, कहा मेरे लिए देश पहले....
ये भी पढ़े :  हमें अयोध्या के गैर विवादित भूमि पर तत्काल निर्माण की अनुमति मिलनी चाहिए: योगी

इंसेफ्लाइटिस ट्रीटमेंट सेंटर 24 घंटे क्रियाशील रहेंगे

पीडियाट्रिक आइसीयू, मिनी पीडियाट्रिक आइसीयू तथा इंसेफ्लाइटिस ट्रीटमेंट सेंटरों को 24 घंटे क्रियाशील रखा जाए। डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां निरस्त करते हुए उनकी मौजूदगी सुनिश्चित की जाए। गर्मी व लू को देखते हुए भी खास निर्देश जारी किए गए हैं। अफसरों से कहा गया है कि हीट स्ट्रोक से प्रभावित रोगियों के प्राथमिक उपचार के महत्व को देखते हुए इस संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए।

शिक्षक भी रहें अलर्ट

शिक्षकों को भी इंसेफ्लाइटिस को लेकर सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। गोरखपुर के मंडलायुक्त जयंत नार्लीकर ने निर्देश दिए है कि स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी व आशाओं के नंबर स्कूलों में अनिवार्य रूप से प्रदर्शित किए जाएं। शिक्षकों से कहा गया है कि यदि कोई बच्चा बुखार के कारण दो दिन से अधिक तक विद्यालय से अनुपस्थित रहता है तो इसकी सूचना संबंधित आशा को दी जाए, जिससे उसका सही इलाज हो सके।

ये भी पढ़े :  योगी सरकार का फैसला : इस बार गणेश चतुर्थी व मोहर्रम पर नहीं निकाल सकेंगे जुलूस व झांकी

जागरूकता अभियान जरूरी

‘दस्तक’ से रोकी थी महामारी की राह

2017 में हुई पांच सौ से अधिक मौतों के बाद 2018 में ‘दस्तक’ तथा जागरूकता अभियान ने महामारी का रास्ता रोका था। दस्तक अभियान पहली बार 2018 में चार अप्रैल को शुरू किया गया। अभियान को इसी साल जुलाई व सितंबर में दोहराया गया। आशाओं को जिम्मेदारी सौंपी गई कि वह अपने इलाके के हर घर में जाएं। वहां इंसेफ्लाइटिस व दूसरी मच्छरजनित बीमारियों के लक्षण व शुद्ध पेयजल के इस्तेमाल के बारे में जानकारी दें। नाले-नालियों की साफ-सफाई, फागिंग कराई गई, जिससे मच्छर न पनप सकें। सुअरों का टीकाकरण के साथ, उनके बाड़ों को घेरकर उनको आबादी के बीच जाने से रोका गया। फीवर ट्रैकिंग व जागरूकता पर भी जोर रहा।

ये भी पढ़े :  एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने से नाराज कांग्रेस नेता ने पार्टी से दिया इस्तीफा, कहा मेरे लिए देश पहले....

इस तरह घटी मौतें

साल कुल भर्ती मौतें

2017 3692 556

2018 1660 186

2019 161 21

तैयारी पूरी

गोरखपुर मंडल के अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. पुष्कर आनंद का कहना है कि शासन के निर्देश के अनुसार पूरी तैयारी कर ली गई है। इस बार भी दस्तक अभियान के जरिए बीमारी पर काबू करने की तैयारी है। अभियान अप्रैल में चलाया जा चुका है। एक जुलाई को फिर से शुरू होगा। औचक निरीक्षक कर व्यवस्था का जायजा लिया जा रहा है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

स्वर्णकार समाज ने लोकसभा , विधानसभा में अपने प्रतिनिधित्व के लिए भरी हुँकार,जल्द प्रदेश व्यापी होगी सभा

स्वर्णकार समाज का स्वर लोकसभा एवं विधानसभाओं में मुखरित हो प्रतिनिधित्व सभी पंचायतों में हो इस विचार के साथ स्वर्णकार समाज...

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...
%d bloggers like this: