Saturday, July 24, 2021

बीमार पिता को साइकिल पर बैठा पूरा किया हजार किलोमीटर का कठिन सफर, अब बड़े अवसर ने दी चेहरे पर नई मुस्कान |

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

जब मुशीबतें आती है तो कई अवसर भी लाती है | बहुत सारे लोग मुशीबतों मे बिखर जाते है जबकि कुछ कम ही लोग ऐसे है जो अपने मजबूत इच्छा शक्ति और साहस से मुशीबतों का सामना करते है बल्कि समाज के लिए उदाहरण बन जातें है | आज ऐसे ही किरदार की चर्चा यहा पर है जिसने महज 15 साल की उम्र मे वो कर दिखाया जिसकी शायद कोई कल्पना भी कर सकें | साहस भी इतना मजबूत की मिलों की दूरियों ने उसके सामने घुटने टेक दिए |

मोहन पासवान को आज अपनी बेटी पर जरूर गर्व हो रहा होगा | जिसने गुरुग्राम से एक साइकिल के सहारे अपने पिता को इस लॉक-डाउन अवधि मे, अपना और अपनों का जीवन बचाने के लिए एक हजार किलोमीटर से अधिक की दूरी को महज 7 दिनों मे पूरा किया | लॉक-डाउन की वजह से न केवल पैसों की कमी की वजह से घर मे खाने की समस्या हो गयी थी बल्कि किराया तक देने के पैसे नहीं थे | जी हाँ आप सही समझ रहें है हम बात कर रहें है बिहार के दरभंगा की ज्योति कुमारी की जो अभी 8 वी क्लास मे पढ़ रही है, जिनके पिता गुरुग्राम मे ई-रिक्शा चलाया करते थे पर एक दुर्घटना की वजह से बीमार चल रहे थे इनकी समस्या और बढ़ गयी जब कोरोना वायरस की वजह से लॉक-डाउन हो गया | ऐसे मे ज्योति कुमारी ने हिम्मत नहीं हारी और अपने पिता को हौसला दिया |

ये भी पढ़े :  छुट्टी में आने पर तैयारी करने वाले नौजवानों से मिलतेे थे देवरिया के विजय, देतेे थे टिप्स...
ये भी पढ़े :  गोरखपुर एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता ने देर रात लिया गोरखनाथ मंदिर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा...

मिलों के सफर को महज 7 दिनों मे पूरा किया जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा की ट्रक वाले 5 से 6 हजार रुपये मांगते थे | उनकी हिम्मत को देखकर आज करोड़ों लोगों का यह भ्रम भी टूट गया की लड़किया लड़कों से कम होती है | अनेकों समस्याओं का सामना करते हुए भी अपनी मंजिल को पूरा किया | देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों ने उनके हौसले की तारीफ की बल्कि प्रमुखता से खबर उनके बारें मे प्रकाशित किया |

ज्योति कुमारी की हिम्मत को देखकर साइकलिंग फेडरेशन आफ इंडिया ने अगले महीने होने वाले ट्रायल मे ज्योति कुमारी को शामिल करने का मौका दिया है | यह तक की उनके और उनके साथ किसी एक परिवार के व्यक्ति को आने-जाने का सारा खर्च भी उठाने की घोषणा की है | यदि ज्योति कुमारी इस ट्रायल मे क्वालीफाई कर जाती है तो उन्हे ट्रेनी के पद पर – स्टेट ऑफ आर्ट नेशनल साइकलिंग अकैडमी आई.जी.आई. मे कार्य करने का मौका मिलेगा | आप सभी को बता दे की यह अकडेमी सपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधीन कार्य करती है | uci के द्वारा मान्यता प्राप्त है और इनके पास एशिया की सबसे अड्वान्स सुविधाये उपलब्ध है |

ये भी पढ़े :  गोरखपुर में मल्टी स्टोरी बिल्डिंगें करा रहीं बदलाव का अहसास...

वैश्विक महामरी मे जहां इस तरह की खबरें लोगों का हिम्मत और हौसला देती है बल्कि लड़के लड़कियों के भेद को मिटाती है | इस साहस, इस जज्बे की ही देन है की अवसर इनके द्वार तक आयी हुई है जो शायद इस कठिन अग्नि परीक्षा के बिना कभी नहीं आ पाती | इसी लिए कहते है की परिस्थितियाँ चाहे जैसी भी हो अवसर हमेशा विद्यमान रहता है जरूरत है तो बस अपना कर्म नियमित रूप से करने की बिना रुके बिना थके | ज्योति कुमारी के इस जज्बे को देश का प्रत्येक व्यक्ति सलाम कर रहा है और यह अनेकों लोगों को प्रेरणा देगा भविष्य मे कठिनाइयों से लड़ने के लिए |

ये भी पढ़े :  23 अप्रैल को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में जन्मे बच्चे को मां ने चौथी मंजिल से नीचे फेका।

डॉ. अजय कुमार मिश्रा (लखनऊ)
drajaykrmishra@gmail.com

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: