Saturday, September 25, 2021

बेटी की ज़िद में माँ ने नौकरी छोड़ शुरू किया कारोबार, देखते-ही-देखते 500 से बन गए 40 लाख….

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

“ये चढाई पाँव क्या चढ़ते इरादों ने चढ़ी है”; कवि दुष्यंत कुमार की यह पंक्ति शेरिल-डेनिस की आज की सफलता-गाथा पर सौ फीसदी सटीक बैठती है l हर किसी को अपने सपनों को साकार देखने की इच्छा होती है, पर यह आसान नहीं होता l अपनी सहजता-वृत से बाहर निकलकर कुछ करना और बड़ा रिस्क उठाना सबके वश की बात नहीं होतीl भाग्यशाली होते हैं वे लोग जिन्हें अन्त: प्रेरणा मिलती है अपने सपनों को पूरा करने की l जब चेन्नई बेस्ड शेरिल हफ्टन की बेटी ने उन्हें उनकी नौकरी छोड़ने को कहा तब उन्हें लगा कि उन्हें अपने पैर में कुल्हाड़ी मारने को कहा जा रहा हो l तब वह नहीं जानती थी कि इस चुनौती से गुज़रकर न केवल 40 लाख टर्न-ओवर का कारोबार चलेगा बल्कि गरीब महिलाओं की जिंदगी सुधारने का अवसर भी मिलेगा l

2008 में जब उनकी बेटी डेनिस ने अपना एमबीए पूरा किया और खुद का कुछ अपना करने की ठानी l पर उन्हें यकीन नहीं था कि वह अकेले कुछ कर पाएंगी; तब उन्होंने अपनी माता पर नौकरी छोड़ने के लिए जोर दिया l यह शेरिल को मूर्खतापूर्ण निर्णय लग रहा था l शेरिल एक गवर्नमेंट स्कूल में सोलह सालों से नौकरी कर रही थींl उनके कन्धों पर बहुत सारी जिम्मेदारियों का बोझ था l अपनी कम तनख्वाह में उन्हें अपने माता-पिता, इन-लॉज़ और दो बच्चों की जिम्मेदारी उठानी पड़ती थी l शेरिल जोखिम उठाने के लिए ही बनी थी पर जोखिम उठाने की क्षमता उम्र के साथ कुछ कम हो गई थी l

ये भी पढ़े :  बिग बॉस के कंटेस्टेंट रहे स्वामी ओम का निधन।

x9gvbntt5hmuaxskmf2jh6ey3rekpukm.jpg

पर डेनिश जानती थी कि सुनहरा भविष्य उनके लिए प्रतीक्षा कर रहा है, वह तो सिर्फ कोशिश करने में लगी थी l डेनिश का आईडिया था कि पर्यावरण के अनुकूल सामग्री से डिस्पोजेबल नैपकिन और कपड़े बनाये जाएं l वह रात-रात जाग कर उनके डिजाईन पर काम करती थी l वह अपने सपनों को पूरा करने के लिए इंतजार नहीं कर सकती थी l पर कुछ ऐसा चौकाने वाली घटना हुई कि स्थिति उनके पक्ष में बदल गई l

ये भी पढ़े :  स्टूडेंट थे तो टीवी नहीं देखी, नये कपड़े नहीं खरीद पाते थे : आज दुनिया के सबसे ज्यादा सैलरी वाले CEO....

डायबिटीज की वजह से लगभग दो दशकों से उनके यहाँ काम कर रही प्रेरणा नाम की महिला का एक पैर काटना पड़ा था l उसके दामाद ने उसे बोझ समझ घर से निकाल दिया था l और वह शेरिल से मदद मांगने आयी थी l उस वाकिये ने शेरिल को हिला कर रख दिया था l और तब डेनिस की सलाह पर कुछ करने की संभावना का मूल्यांकन शेरिल ने शुरू कर दियाl और तब उन्होंने एक दिन डेनिश से कह दिया कि वह अपनी नौकरी छोड़ने को और उसके कहे बिज़नेस को अपनाने के लिए अब तैयार हैं l

अपनी माता का फैसला आने के बाद डेनिश ने आगे बढ़ने का निश्चय किया और अपनी माता को विश्वास दिलाया कि वह प्रेरणा जैसे लोगों के भविष्य को सुधारने के लिए भी प्रयास करेगी l माँ-बेटी दोनों के पास शुरुआत करने के लिए केवल 500 रूपये ही थे l लेकिन उसके उत्साह, आत्मविश्वास और मेहनत में हर कमी को भर देने का जज़्बा थाl उन्होंने उस पैसे से कुछ कपड़े ख़रीदे और एक सिलाई मशीन उन्होंने इन्सटॉलमेंट में ले लिया l उन्होंने चेन्नई के ब्यूटी-पार्लर्स में उपयोग होने वाले ब्रा, पैंटीज, नैपकिन्स के डिस्पोजेबल संस्करण के उत्पादन की शुरुआत कर दी l

शुरुआत में कोई भी उनके प्रॉडक्ट को देखता तक नहीं था क्योंकि पार्लर में वही पुराना चलन था जिसमें कपड़ों का उपयोग किया जाता था l परन्तु शेरिल और डेनिश ने अपना भरोसा नहीं खोया l हर पार्लर में घूम-घूम कर वे अपने प्रॉडक्ट का प्रचार करते ताकि कोई तो उनके प्रॉडक्ट को अपने पार्लर में जगह दे l अंत में अलवारपेट में स्थित एक पार्लर उनका सामान खरीदने के लिए तैयार हो गया और उन्हें सिर्फ 5000 रुपये ही मिलेl वे बेहद खुश थे क्योंकि उनका मूल-धन पहली बार में ही वापस आ चुका था l

ये भी पढ़े :  घरवालों ने बचपन में ही छोड़ दिया था साथ, खुद के बूते पढ़कर पहले प्रयास में ही बनी IAS अफ़सर ...

दो महिलाएं बिना किसी के मदद के इंटरप्रेन्योर बन गई थी l भारतीय युवा शक्ति ट्रस्ट का उन्हें सहयोग मिला और उनकी मदद से उन्हें 2.5 लाख का लोन मिला l हौसले के संचार के लिए इतना धन उनकी कंपनी ड्रीम वीवर्स के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ l तब उन्होंने तीन और सिलाई मशीन खरीद ली l प्रेरणा का जीवन भी बदल रहा था और इस परिवर्तन को देख शेरिल और डेनिश ने यह तय किया कि वह और भी ऐसी महिलाओं को अपने यहाँ काम पर रखेंगी l

ये भी पढ़े :  पोर्न स्टार मिया खलीफा का किसान आंदोलन को लेकर खुल्लम-खुल्ला ऐलान, बोलीं- मैं किसानों के साथ।

उनका दूसरा ग्राहक हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड था l इस जुड़ाव से उन्हें अपने काम के लिए बहुत सारा नैतिक बल मिला और बिज़नेस में लाभ भी l आज उनके बहुत सारे ग्राहक हैं और हर महीने लाखों का आर्डर उन्हें मिलता है l डिस्पोजेबल सामान के आज वे एक प्रमुख उत्पादक बन चुके हैं और इनके बनाये डिस्पोजेबल सामान जैसे माउथ मास्क, डिस्पोजेबल टॉवेल्स, नैपकिन, पेपर बैग्स, हेड कैप्स, एप्रन, गाउन और लांड्री बैग का उपयोग स्पा में और ब्यूटी पार्लर में प्रचुर मात्रा में होता है l

पर शेरिल को इसी बात से संतोष है कि उन्होंने लगभग दो दर्जन महिलाओं को आर्थिक रूप से अपने पैरों पर खड़ा करने में कामयाबी हासिल की है l उनका बिज़नेस अब दुबई, सिंगापुर, मलेशिया, थाईलैंड और ऑस्ट्रेलिया तक फैल चुका है l माँ-बेटी की यह जोड़ी आज उन सभी के लिए एक मिसाल बन चुकी हैं जो आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना चाहतीं हैं और अपना भाग्य-विधाता खुद बनना चाहती हैं l

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

सिद्धार्थ पांडेय बने भाजपा मीडिया सम्‍पर्क विभाग के क्षेत्रीय संयोजक…

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुटी भाजपा संगठन को नए स्‍तर से मजबूत बनाने में...

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...
%d bloggers like this: