- Advertisement -
n
n
Tuesday, May 26, 2020

बड़ी खबर :- एक साथ सब जगह से नहीं हटेगा लॉकडाउन, ये हो सकती है प्रक्रिया

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से पूरी दुनिया इस समय प्रभावित है, भारत भी इस घातक वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहा है, देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या अब बढ़कर 4421 हो गई है, जिनमें से 3981 ऐक्टिव केस हैं, 325 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं जबकि 114 लोगों की मौत हुई है, देश में 21 दिन का लॉकडाउन लगा हुआ है, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है इसलिए केंद्र सरकार उन रास्तों की तलाश करने में जुटी है, जिसके जरिए 14 अप्रैल को लॉकडाउन खुलने के बाद तमाम काम किए जा सकें।

एक साथ सब जगह से लॉकडाउन नहीं हटेगा

The Economic Times की खबर के मुताबिक एक साथ सब जगह से लॉकडाउन नहीं हटेगा, बल्कि चरणबद्ध तरीके से इसे खोला जाएगा, इसी मसले पर सोमवार को केंद्र सरकार के दर्जनभर से ज्यादा सचिवों ने मंथन किया, इस मीटिंग में सामान्य जीवन के सुचारू संचालन के लिए विभिन्न क्षेत्रों द्वारा उठाए जाने वाले कदमों पर विचार किया गया, हालांकि अभी कुछ भी फाइनल नहीं हुआ है, बता दें कि गृह मंत्रालय द्वारा गठित समूह का नेतृत्व नीती अयोग के अध्यक्ष अमिताभ कांत कर रहे थे।

ये भी पढ़े :  राष्ट्रीय सेवा योजना के शिविर का हुआ समापन....

शीर्ष अधिकारियों का मंथन जारी

इस बैठक में नागरिक उड्डयन, श्रम एवं रोजगार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, सूक्ष्म-लघु एवं मध्य उद्यमिता, सूचना एवं प्रसारण, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालयों के सचिव और फार्मास्यूटिकल, कृषि, उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संव‌र्द्धन, उपभोक्ता मामलों, आर्थिक मामलों और उच्च शिक्षा के सचिव व रेलवे बोर्ड और नीति आयोग के प्रतिनिधि भी शामिल थे।

NOTE:  गोरखपुर टाइम्स का एप्प जरुर डाउनलोड करें  और बने रहे ख़बरों के साथ << Click

Subscribe Gorakhpur Times "YOUTUBE" channel !

The Photo Bank | अच्छे फोटो के मिलते है पैसे, देर किस बात की आज ही DOWNLOAD करें और दिखाए अपना हुनर!

 

लॉकडाउन का एक्जिट प्लान का ड्रॉफ्ट तैयार है..

खबर के मुताबिक लॉकडाउन का एक्जिट प्लान का ड्रॉफ्ट तैयार है, उसके अनुसार राज्यों की कैटेगरी कोरोना ग्रसित लोगों की संख्या के आधार पर तय होगी। वहां प्रति 10 लाख जनसंख्या पर मरीजों की संख्या कितनी है, ये देखा जाएगा, मानक का एक आधार यह भी होगा कि पिछले सात दिन में कोरोना का केस सामने आया है या नहीं और इनमें ज्यादा सक्रिय कोरोना वाले इलाकों में लॉकडाउन से छूट नहीं दी जाएगी। लेकिन जिन राज्यों में पिछले सात दिनों में कोरोना का कोई भी मामला सामने नहीं आया हो, वहां राहत मिल सकती है।

ये भी पढ़े :  जनपद बहराइच अन्तर्गत घुमनाभारू के कोटेदार के विरूद्ध कोतवाली मुर्तिहा में दर्ज हुआ अभियोग।

जोखिम वाले राज्यों में 28 दिनों तक और बढ़ सकता है लॉकडाउन

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा था कि आप सभी अपने प्रदेशों में लॉकडाउन कैसे हटाया जाए, इस पर अपने राज्यों की स्थिति के आधार पर रिपोर्ट तैयार करके केंद्र को भेजें, वैसे ET की खबर के मुताबिक मेडिकल इमरजेंसी मैनेजमेंट प्लान के अनुसार, उच्च जोखिम वाले राज्यों और जिलों में 28 दिनों तक और लॉकडाउन जारी रह सकता है और ये ही कहा जा रहा है कि देश में जहा-जहां भी लॉकडाउन हटाया जाएगा वहां धारा 144 लगाई जाएगी ताकि चार से ज्यादा व्यक्ति एक साथ एक स्थान पर जमा न हो सकें।

Advertisements
%d bloggers like this: