Thursday, February 21, 2019
Uttar Pradesh

मथुरा में बच्चों के साथ को मिड डे मील का स्वाद लेने पहुंचे मोदी और योगी….

भगवान कृष्ण की नगरी मथुरा में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बच्चों के साथ मिड डे मील का स्वाद लेने पहुंचे हैं। यहां पर अक्षयपात्र फाउंडेशन के 300 करोड़ का लक्ष्य प्राप्त करने के उपलक्ष्य में बच्चों के मिड डे मील बांटे जाने पर आयोजित समारोह में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। मंच पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथ हिलाकर और हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन किया। इस दौरान मंच पर सांसद हेमामालिनी ने भी लोगों का अभिवादन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ मंच पर मथुरा की सांसद हेमा मालिनी, राज्यपाल राम नाईक, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मीनारायण व राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल भी हैं।
पीएम मोदी ने श्री प्रभुपाद की प्रतिमा पर पुष्पार्जन किया। उन्होंने कहा कि प्रभुपाद अक्षय पात्र की प्रेरणा हैं और रहेंगे भी। ग्रेटर नोएडा से पीएम मोदी के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ मथुरा के वृंदावन पहुंचकर बच्चों के साथ मन की बात भी करेंगे। अक्षय पात्र फाउंडेशन प्राथमिक विद्यालयों को मिडडे मील उपलब्ध कराता है। मथुरा में अक्षय पात्र फाउंडेशन के इस आयोजन स्थल पर भीड़ उमड़ पड़ी है। सभा स्थल भर गया है। यहां पर पीएम मोदी व सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी रहेंगे।अक्षयपात्र फाउंडेशन के समारोह मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिकरत किया। वह चुनिंदा बच्चों को मिड डे मील बांटें और उनके साथ भोजन का स्वाद भी लिया।
पीएम मोदी के दौरे से पहले सुरक्षा एजेंसियों ने कार्यक्रम स्थल पर चाक चौबंद बंदोबस्त कर दिया है। प्रधानमंत्री स्कूली बच्चों व उनके अभिभावकों को संबोधित करेंगे। इस दौरान अक्षयपात्र की देशभर में चल रही रसोईयों पर मौजूद बच्चों के समक्ष टेली कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपनी बात रखेंगे। करीब एक घंटे समारोह स्थल पर रुकने के बाद पीएम मोदी का काफिला रवाना होगा। नन्हें दिलों को पीएम मोदी से बड़ी उम्मीद सबका साथ, सबका विकास का पीएम मोदी के नारे से न केवल बड़े बल्कि बच्चे भी इतने प्रभावित हैं, कि पीएम से मुलाकात को चयनित बच्चों ने भी अपने मन में बड़ी उम्मीदें पाल ली हैं। खास बात ये है कि पीएम से मिलने का मौका मिलने से उत्साहित बच्चों की मुराद अपने लिए नहीं बल्कि समाज और अपने जैसे साथियों की उम्मीदों को पूरा करने की है। कोई स्कूल की जर्जर छत को ठीक करवाने की मांग कर रहा है, तो कोई स्कूल को इंटरमीडिएट तक करने की मांग को पीएम मोदी के सामने रखने का मन बना चुका है। मथुरा के 108 गांवों से करीब आठ हजार बालक और उनके अभिभावकों को सभा में शामिल होने के लिए बुलाया गया है। इन बच्चों में चालीस बच्चे ऐसे हैं, जिन्हें पीएम के करीब तक पहुंचने का मौका मिलेगा।

Advertisements
%d bloggers like this: