Friday, August 14, 2020

महंगाई के मुद्दे पर घिरी सरकार ने देश की संसद में सांसदों और पत्रकारों के लिए कैंटीन में सब्सिडी खत्म।

लेस्बियन बीवी ने इलेक्ट्रिक कटर से टुकड़ों में काटी पति की बॉडी, पुरुषों से करती थी नफरत…

जोधपुर। सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में बुधवार को एक युवका का शव टुकड़ों में बहते हुए मिला था। इस सनसनीखेज हत्याकांड का जोधपुर पुलिस...

प्रेमी दरोगा के साथ मिलकर सिपाही बीवी रच रही हत्या की साजिश’, 900 कॉल रिकॉर्डिंग लेकर थाने पहुंचा कांस्टेबल…

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिस सुनकर आपके भी होश उड़ जाएंगे। दरअसल, यहां एक...

शादी के बाद 2-2 लड़कों से इश्क लड़ा रही थी चांदनी, एक रात रची खौफनाक साजिश….

राजस्थान के धौलपुर जिले की सरमथुरा थाना पुलिस ने एक युवक की हत्या के मामले का खुलासा कर दिया है। मृतक युवक...

तिरंगे में लिपटे पिता को देख जब मासूम बेटे ने पैर छुए तो भर आईं हर शख्स की आंखें

पुलवामा में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद जिलाजीत यादव का पार्थिव शरीर शुक्रवार की सुबह जौनपुर पहुंचा। अंतिम...

कोरोना काल मे गिरती अर्थव्यवस्था और बढ़ती बेरोजगारी…..

अर्थव्यवस्था में आई मंदी सिर्फ जीडीपी के सिकुड़ने का एक स्वरूप भर मात्र नहीं है। सही मायने में यह बीते कई वर्षों...

महंगाई के मुद्दे पर घिरी सरकार ने देश की संसद में सांसदों, आगंतुकों और पत्रकारों के लिए बनी कैंटीन पर बड़ा फैसला किया है. अब किसी को भी संसद की कैंटीन (Parliament Canteen) में सब्सिडी नहीं मिलेगी. इस पर पक्ष और विपक्ष ने एक साथ मिलकर फैसला किया है कि अब कैंटीन में सब्सिडी नहीं मिलेगी. मिली जानकारी के अनुसार सरकार का 17 करोड़ रुपये संसद कैंटीन की सब्सिडी पर खर्च होता है.
बताया गया कि सभी पार्टियों ने तय किया कि संसद भवन के कैंटीन में मिलने वाले खाने पर सब्सिडी खत्म की जाए. इस फैसले के बाद अब कैंटीन में खाने के दाम लागत के हिसाब से तय होंगे. पिछली लोक सभा में कैंटीन के खाने के दाम बढ़ाकर सब्सिडी का बिल कम किया गया था. अब पूरी तरह से सब्सिडी खत्म कर दी गई है.
बता दें सूचना के अधिकार के तहत दिए गए ब्योरे के मुताबिक, वर्ष 2012-13 से वर्ष 2016-17 तक संसद कैंटीनों को कुल 73,85,62,474 रुपये बतौर सब्सिडी दिए गए. अगर बीते पांच वर्षों की स्थिति पर गौर करें तो पता चलता है कि वर्ष 2012-13 में सांसदों के सस्ते भोजन पर 12,52,01867 रुपये, वर्ष 2013-14 में 14,09,69082 रुपये सब्सिडी के तौर पर दिए गए.

इसी तरह वर्ष 2014-15 में 15,85,46612 रुपये, वर्ष 2015-16 में 15,97,91259 रुपये और वर्ष 2016-17 में सांसदों को सस्ता भोजन मुहैया कराने पर 15,40,53365 रुपये की सब्सिडी दी गई

ये भी पढ़े :  डीएम व एसपी ने किया मिहींपुरवा में स्थापित शेल्टर होम का निरीक्षण

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर के इस बेटे का आईएएस में हुआ चयन, कहा- सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं

जिंदगी में कुछ सार्थक करने के लिए सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं। शुरुआती...

समधी-समधन के बाद अब जेठ-देवरानी घर से भागे, जेठानी बोली- बच्चों को कैसे पालूंगी….

यहां समधी-समधन के प्यार में घर से भाग जाने के बाद अब एक शादीशुदा शख्स अपने ही छोटे भाई की पत्नी के साथ भाग...

Related Articles

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक भी कोरोना पॉजिटिव, कहा- मेरे संपर्क में आए लोग करा लें जांच….

केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद वाई नाइक (Shripad Y Naik) कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। उन्‍होंने खुद ट्वीट कर यह...

अयोध्या: बाबर के नाम पर नहीं बनेगी मस्जिद, नींव रखने के लिए योगी को मिलेगा न्योता…

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने साफ किया है कि अयोध्या में दी गई जमीन पर बनने वाली मस्जिद का नाम बाबरी मस्जिद...

महाराजगंज:शराब ठेके पर मारपीट के बाद चौकी इंचार्ज पर तानी लाठी,चौकी छावनी में तब्दील…

बृजमनगंज थाना क्षेत्र के एक मयखाने पर शौकीन युवक का मूड इस कदर खराब हुआ कि फरेंदा सर्किल के सभी चार थानों...
%d bloggers like this: