Monday, August 10, 2020

माता-पिता के निधन के बाद अनाथ हो गए थे तीन बच्चे, सोनू सूद ने गोद लेकर दिल जीत लिया….

बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों-कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया,डीएम नें वेतन रोकने का भी दिया निर्देश….

महराजगंज। जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में एकीकृत कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल रूम में सूचनाओं के आदान प्रदान...

बड़ी खबर:गोरखपुर में नही निकलेगा मोहर्रम का जुलूस,पढा जाएगा फातिहा…

कोरोना लगातार पांव पसारते जा रहा।।कोरोना मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही।।इससे सुरक्षा के मद्देनजर गोरखपुर में इस साल मोहर्रम का जुलूस...

कोरोना के शिकंजे में गोरखपुर:आज फिर मिले 200 से अधिक कोरोना मरीज……

गोरखपुर में कोरोना अपना शिकंजा कसते ही जा रहा।।आज फिर गोरखपुर में 235 नए कोरोना मरीज मिले...

पीएम मोदी को मिलने जा रहा है अभेद्य किला,बाल भी बाँका नहीं कर पायेगा कोई ….

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप जिस विमान में सफर करते हैं, ठीक वैसा ही विमान अब पीएम नरेंद्र मोदी भी इस्तेमाल करने वाले हैं

कोरोना का कहर:पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव….

कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा।।आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी इसके चपेट में आ गए।।पूर्व...

कोरोना लॉकडाउन के बाद से गरीब ज़रूरतमंदों के लिए मसीहा बन चुके सोनू सूद रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं. तेलंगाना के 3 बच्चों को गोद लेकर उन्होंने एक बार फिर से सभी का दिल जीत लिया. ट्विटर राजेश नाम के एक यूजर ने सोनू सूद को टैग करते हुए तेलंगाना के तीन अनाथ बच्चों की जानकारी दी.

ये भी पढ़े :  स्टूडेंट थे तो टीवी नहीं देखी, नये कपड़े नहीं खरीद पाते थे : आज दुनिया के सबसे ज्यादा सैलरी वाले CEO....

राजेश ने लिखा, ये तीनों बच्चे तेलंगाना के यादाद्री भुवनगिरी जिले के रहने वाले हैं. इन्होंने अपने माता-पिता को खो दिया है. इनमें से बड़ा बच्चा अपने भाईयों की देखभाल कर रहा है. कृपया इनकी मदद करें. राजेश के इस ट्वीट का जवाब देते हुए, सोनू ने लिखा, ”ये बच्चे अब अनाथ नहीं हैं. ये अब मेरी ज़िम्मेदारी हैं.”

हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इन तीन अनाथ बच्चों में से सबसे बड़े 9 साल के मनोहर ने बताया कि उसने सोनू सूद के कई वीडियो देखे हैं. अगर ऐसे ही कोई उनकी मेरी मदद करें, तो वो बड़ा होकर डॉक्टर बन कर ग़रीबों की मदद करना चाहता है. इन बच्चों के पिता सत्यनारायण का एक साल पहले ही निधन हो गया था. 

ये भी पढ़े :  लॉकडाउन के बावजूद LIC ने की जबरदस्त कमाई, नया प्रीमियम कारोबार 25.2% बढ़ा....

मां जैसे-तैसे मज़दूरी करके बच्चों का पेट पालती थी. पिछले दिनों उसने भी बीमार के चलते आंखें हमेशा के लिए मूंद ली थीं. जिसके बाद तीनों बच्चे अनाथ हो गए थे! 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

समधी-समधन के बाद अब जेठ-देवरानी घर से भागे, जेठानी बोली- बच्चों को कैसे पालूंगी….

यहां समधी-समधन के प्यार में घर से भाग जाने के बाद अब एक शादीशुदा शख्स अपने ही छोटे भाई की पत्नी के साथ भाग...

गोरखपुर के इस बेटे का आईएएस में हुआ चयन, कहा- सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं

जिंदगी में कुछ सार्थक करने के लिए सपने मायने रखते हैं, गरीबी नहीं। शुरुआती...

Related Articles

बारिश से बचने के लिए घर में घुसा था, अकेला पाकर शारीरिक शोषण किया

कौन है ‘बिनोद’ जिसको लेकर सोशल मीडिया पर आई मीम्स की बाढ़, कैसे शुरू हुआ ये सब….

सोशल मीडिया पर इन दिनों हर कोई एक नाम को जरूर देख रहा है और ये नाम है 'बिनोद'। बिनोद नाम से...

BLACK BOX: विमान हादसे के बाद सबसे पहले क्यों खोजा जाता है ब्लैक बॉक्स?

साल 2020 में कोरोना वायरस महामारी से जूझते देश को शुक्रवार को एक दर्दनाक खबर सुनने को मिली। दुबई से कोझीकोड आ...
%d bloggers like this: