Monday, January 25, 2021

योगी सरकार में अब तक मारे गए 124 अपराधी, ढेर होने वालों में 47 अल्पसंख्यक, 11 ब्राह्मण, 8 यादव

घूसखोर बाबू से परेशान जनता, लगा आरोप

प्रदेश की योगी सरकार कितने भी वादे करे भ्रष्टाचार पर लगाम लगने का पर यह सिर्फ़ कागजों तक ही सीमित रह जाता...

यूपी: योगी सरकार की अजीबो गरीब आबकारी पॉलिसी, अब बिना लाइसेंस घर में रखी शराब तो…

लखनऊ: यूपी में सीमा से ज्यादा शराब रखने पर पाबंदी, घर में तय मानक से ज्यादा रखने...

ट्रैक्टरों को डीजल न देने पर भड़के टिकैत,और CM योगी को दे डाली धमकी कहा लगता है योगी सरकार भी…

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध लगातार जारी...

यूपी: भाजपा विधायक के बेतुके बोल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बताया राक्षसी विधायक जी यही नही रुके उन्होंने यहाँ तक कहां…

बलिया: कोलकाता में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के एक कार्यक्रम में ‘जयश्री राम’ का...

बड़ी खबर: सिक्किम में चीनी सैनिकों ने की घुसपैठ,भारतीय सेना ने दिया मुह तोड़ जवाब चीन के 20 से ज्यादा सैनिक घायल

India-China Standoff: सिक्किम के नाकु-ला (Sikkim Naku La) में चीनी सेना (Chinese Soldiers) ने यथास्थिति को बदलने...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

फाइल फोटो

प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद से अपराधियों का सफाया लगातार जारी है। बीते साढ़े तीन साल में पुलिस मुठभेड़ में 124 अपराधी मारे गए। इनमें 47 अल्पसंख्यक, 11 ब्राह्मण और 8 यादव थे। अल्पसंख्यक समुदाय के ज्यादातर अपराधी पश्चिमी यूपी के थे। 

ये भी पढ़े :  मुम्बई: बदले की भावना से तोड़ा कंगना रनौत का ऑफिस, नुकसान की करे भरपाई BMC: बॉम्बे HC ने लगाई फटकार

वहीं, शेष 58 अपराधियों में ठाकुर, वैश्य, पिछड़े, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के बदमाश शामिल थे। दरअसल, बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे और कृष्णानंद राय हत्याकांड में शामिल रहे 

राकेश पांडेय के एनकाउंटर के बाद सवाल उठ रहे हैं कि पुलिस जाति विशेष के लोगों का ही एनकाउंटर कर रही है और फर्जी आंकड़े दिए जा रहे हैं। इसकी पड़ताल की गई तो पता चला कि 31 मार्च 2017 से लेकर 9 अगस्त 2020 तक हुए पुलिस एनकाउंटर में ब्राह्मण जाति के 11 अपराधी मुठभेड़ में मारे गए। 

इनमें सात बीते डेढ़ महीने में ढेर किए गए। एक अपराधी बस्ती और दो लखनऊ व छह कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल थे। इनका एनकाउंटर जुलाई में हुआ था।

ये भी पढ़े :  अयोध्या की रामलीला' 14 भाषाओं में डिजिटली,मनोज तिवारी,रवि किशन जैसे बड़े नेता करेंगे अभिनय

मेरठ में सर्वाधिक मुठभेड़, मारे गए 14 अपराधी

मुठभेड़ की सर्वाधिक घटनाएं मेरठ में हुईं। यहां 14 अपराधी मारे गए। दूसरे नंबर पर मुजफ्फरनगर रहा, जहां 11 अपराधी मारे गए। सहारनपुर में 9, आजमगढ़ में 7 और शामली में 5 अपराधी पुलिस मुठभेड़ में ढेर हुए।

अपराधियों का नहीं होता जाति और धर्म : डीजीपी
डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने पुलिस पर विशेष वर्ग के लोगों के एनकाउंटर किए जाने के आरोप पर कहा कि इस तरह के आरोप बेबुनियाद हैं। अपराधियों की कोई जाति और धर्म नहीं होता है। पुलिस एनकाउंटर में मारे गए सभी का आपराधिक इतिहास रहा है। कई तो पुलिस कर्मियों की हत्या में शामिल थे। 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी: योगी सरकार की अजीबो गरीब आबकारी पॉलिसी, अब बिना लाइसेंस घर में रखी शराब तो…

लखनऊ: यूपी में सीमा से ज्यादा शराब रखने पर पाबंदी, घर में तय मानक से ज्यादा रखने...

ट्रैक्टरों को डीजल न देने पर भड़के टिकैत,और CM योगी को दे डाली धमकी कहा लगता है योगी सरकार भी…

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध लगातार जारी...

यूपी: भाजपा विधायक के बेतुके बोल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बताया राक्षसी विधायक जी यही नही रुके उन्होंने यहाँ तक कहां…

बलिया: कोलकाता में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के एक कार्यक्रम में ‘जयश्री राम’ का...
%d bloggers like this: