Monday, August 2, 2021

‘मैं इंतजार करती रही, नहीं आया फोन’ शहीद पत्नी का दर्द….

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए देवरिया के सीआरपीएफ जवान विजय कुमार मौर्य के साथ ही कई रिश्ते भी शहीद हो गए। कई सपने दम तोड़ गए। बुजुर्ग पिता ने होनहार बेटा खो दिया। पत्नी का सुहाग उजड़ गया। तीन साल की मासूम बच्ची की अभी अपने पापा से पहचान पुख्ता भी नहीं हो सकी थी कि दोनों हमेशा के लिए बिछड़ गए। दो मासूम भतीजियों की उम्मीदों की डोर भी एक झटके में टूट गई। इन सब की जिम्मेदारी आतंकी हमले में शहीद हुए विजय पर थी।

भटनी ब्लॉक के गांव छपिया जयदेव के रहने वाले विजय के घर की माली हालत ठीक नहीं है। उन्होंने हाल में बैंक से 10 लाख रुपये का ऋण लिया था। इससे उन्होंने गोरखपुर में जमीन खरीदी और बाकी पैसों से गांव का घर दुरुस्त कराया था। अब परिवार को चिंता है कि यह लोन कैसे चुकता होगा।

पिता रमायन गांव में ही बटाई ली हुई जमीन पर खेती करते हैं। तीन भाइयों व एक बहन के बीच विजय सबसे छोटे थे। बड़े भाई अशोक गुजरात में निजी कंपनी में काम करते हैं। बहन की शादी हो चुकी है।दूसरे नंबर के भाई हरिओम 2008 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए, लेकिन चार साल पहले उनकी भी मौत हो गई। इसके बाद भाई की पत्नी और दो बेटियां की जिम्मेदारी भी विजय पर थी। वर्ष 2014 में विजय की शादी हुई। उनकी तीन साल की बेटी अराध्या है। विजय के जाने से इन सभी के सपनों ने दम तोड़ दिया।

2015 में भी बाल-बाल बचे थे: पंपोर में वर्ष 2015 में तैनाती के समय भी विजय के वाहन *पर आतंकी हमला हुआ था। तब उन्हें मामूली चोट आई थीं।
पत्नी बोलीं, इतनी शहादतों के बाद भी कुछ नहीं हुआ:विजय की पत्नी विजयालक्ष्मी रात में देवरिया में थीं। गांव पर पिता रामायन को फोन पर बेटे की शहादत की सूचना मिली तो वह पूरी रात बेचैन रहे। सुबह हमले की जानकारी मिलने के बाद से विजयालक्ष्मी सुध-बुध खो बैठी हैं। पूछने पर विजयालक्ष्मी रोते-रोते सवाल करती हैं, आज तक इतने जवान शहीद हुए,क्या हुआ? कुछ भी नहीं। नेता हो या मंत्री, कोई कुछ नहीं करता। बस चार दिन शोर होगा, उसके बाद सब शांत हो जाता है, लेकिन हम पर तो जिंदगीभर गुजरती है।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर - दिल्ली फ्लाइट हुई बहुत महंगी, लॉकडाउन के बाद ये होगा दाम

मैं इंतजार करती रही, नहीं आया फोन

रमेश इसी मंगलवार को छुट्टी पूरी कर डयूटी के लिये श्रीनगर के लिए रवाना हुए थे। उन्हें पुलवामा जाना था। मैंने पूछा, दोबारा कब आओगे। बोले, चिंता मत करो एक महीने बाद फिर आऊंगा। बुधवार रात को वहां पहुंचने के बाद मुझे फोन किया। घर में सबकी सलामती पूछकर फोन रख दिया।

फिर गुरुवार को दोपहर एक बजे फिर उनका फोन आया। बोले, बस में बैठने जा रहा हूं। फिर बेटे आयुष से बात कराने को कहा। आयुष खेल में मगन था। उसने बात नहीं की तो बोले, अच्छा कोई बात नहीं। शाम को फोन करुंगा। मैं इंतजार करती रही। रात आठ बजे फोन की घंटी बजी। मुझे लगा उनका फोन होगा। मैंने दौडकर फोन उठाया। उधर से किसी ने पूछा, आप कौन हैं। मैंने कहा, मैं रमेश यादव की पत्नी हूं। उधर से आवाज आई, आपके पति शहीद हो गए। मेरी तो जान ही निकल गई। ये क्या हुआ। वो तो मुझसे फोन करने वाले थे। मुझसे बिना बात किये ही चले गये। ये कैसे हो सकता है। यकीन नहीं होता, रमेश हमें छोडकर चले गये हैं।

ये भी पढ़े :  मोहद्दीपुर चौकी इंचार्ज को मिली सफलता,चोरी के वाहन के साथ एक शातिर चोर गिरफ्तार....
ये भी पढ़े :  दंतेवाड़ा हमले में गोरखपुर का जवान शहीद.….

शहीद रमेश यादव की पत्नी रेनू कहती हैं, जिन्होंने हमारे पति को मारा है, उन लोगों को मुंहतोड़ जवाब मिलना चाहिये। ऐसा करारा जवाब कि फिर किसी का सुहाग उजाड़ने से पहले वे दस बार सोचें।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...
%d bloggers like this: