Tuesday, September 21, 2021

यशश्वी ने बढ़ाया यूपी का मान, अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला में भारतीय टीम में बनाया स्‍थान…

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

यशश्वी जायसवाल 19 सितंबर से लखनऊ में शुरू होने जा रही पांच मैचों की भारत-बांग्लादेश अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला के लिए यशश्वी का चयन भारतीय टीम में चुने गए हैं।

 ‘जब से क्रिकेट को जाना, बस हर दिन मेहनत से खेलता जा रहा हूं। कभी यह नहीं सोचता कि क्या पाना है, पूरा ध्यान अच्‍छा खेलने पर है।’ यह बातें हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर यशश्वी जायसवाल की। 19 सितंबर से लखनऊ में शुरू होने जा रही पांच मैचों की भारत-बांग्लादेश अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला के लिए यशश्वी का चयन भारतीय टीम में हुआ है।

सेंट एंड्रयूज कालेज के मैदान पर अभ्यास करने आए यशश्वी ने दैनिक जागरण से बातचीत में अपने संघर्षों की कहानी साझा की। क्रिकेट को लेकर शुरू से जुनून था। वह मुंबई चले आए। सपनों की नगरी में बड़े सपनों के साथ आए यशश्वी की राह कठिनाईयों से भरी रही। बकौल यशश्वी उन्हें हर हाल में खेलना था, क्रिकेट को छोड़कर उनके पास कुछ नहीं था। आजाद मैदान के कैंप में भीषण गर्मी के बीच रातें बिताईं। वहां शौचालय तक की व्यवस्था नहीं थी। खर्च चलाने के लिए मैदान पर काम किया, गेंदें ढूंढी और आजाद मैदान पर पानी पूरी भी बेची।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर विश्‍वविद्यालय की छूटी परीक्षाएं 7 जुलाई से, देखिए अपना टाइम टेबल
ये भी पढ़े :  गन्ना उत्पादन किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ के सी पाण्डेय दी स्पष्ट चेतावनी ,आगामी 31 मार्च तक समस्त गन्ना मूल्य का करे भुगतान…

बांये हाथ के बल्लेबाज यशश्वी बताते हैं कि मुंबई में क्रिकेट एकेडमी चलाने वाले गोरखपुर के ज्वाला सिंह से मिलना जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट रहा। उन्होंने बताया कि सचिन तेंदुलकर व वसीम जाफर उनके आदर्श हैं। जाफर के साथ वह खेलते हैं, जबकि एक साल पहले अंडर-19 भारतीय टीम में चयन के बाद सचिन उन्हें बुलाया था। सचिन ने उन्हें हस्ताक्षर किया बल्ला भेंट किया था,  यशश्वी ने उससे खेला भी। यशश्वी कहते हैं कि सचिन के साथ तब फोटो नहीं ले पाया था, अगली मुलाकात का मौका मिला तो जरूर लूंगा।   

इच्‍छाशक्ति हो तो फेल होने का डर नहीं होता : ज्वाला सिंह

गोरखपुर के रुस्तमपुर निवासी ज्वाला सिंह आज जाना-पहचाना नाम बन चुके हैं। उनके शिष्य रहे यशश्वी व पृथ्वी शॉ जैसे क्रिकेट खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमक बिखेर रहे हैं। दो दर्जन से अधिक खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं। ज्वाला का कहना है कि इ’छाशक्ति हो तो फेल होने का डर नहीं होता।

ये भी पढ़े :  देखिए गोरखपुर में विकास की बनगीः हल्की सी बारिश में ही घरों तक पहुंच जा रहा पानी....

गोरखपुर में मौजूद ज्वाला सिंह ने सेंट एंड्रयूज कालेज के मैदान पर दैनिक जागरण से बातचीत की। उन्होंने बताया कि 1995 में मुंबई गए, 1997 से घर से आर्थिक मदद लेना बंद कर दिया। उसके बाद संघर्ष शुरू हुआ। फुटपाथ पर सोना पड़ा, उधार लेकर काम चलाना पड़ा। क्रिकेट में प्रदर्शन अ’छा था, लेकिन परिस्थितियों के कारण बड़ी कामयाबी नहीं मिली। उन्होंने कहा कि कोचिंग उनके लिए काफी अ’छी है, खिलाडिय़ों को बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं। कहा कि 2010 में ज्वाला फाउंडेशन शुरू किया। यशश्वी जायसवाल व पृथ्वी शॉ संघर्षों से निकले खिलाड़ी हैं। इसी तरह और भी खिलाड़ी अ’छा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई में एक वर्ग ऐसा है, जिसके पास सुविधाएं हैं, और दूसरा पक्ष यह है, जिसके पास केवल इच्‍छाशक्ति। उन्होंने कहा कि कभी दबाव में नहीं आना चाहिए बल्कि विपरीत परिस्थितियों से ताकत प्राप्त करनी चाहिए। 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: