Tuesday, April 20, 2021

यशश्वी ने बढ़ाया यूपी का मान, अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला में भारतीय टीम में बनाया स्‍थान…

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी सकरात्मक सोचें, होमियोपैथी पर...

UP: पंचायत चुनाव में पैसा बांट रहे थे BJP के पूर्व MLA के भाई, रंगे हाथ पकड़े गए

पूर्व भाजपा विधायक अवनीन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ महंत दूबे के छोटे भाई व पूर्व प्रधान सत्येन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ राजू द्विवेदी को...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

लखनऊ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

यशश्वी जायसवाल 19 सितंबर से लखनऊ में शुरू होने जा रही पांच मैचों की भारत-बांग्लादेश अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला के लिए यशश्वी का चयन भारतीय टीम में चुने गए हैं।

 ‘जब से क्रिकेट को जाना, बस हर दिन मेहनत से खेलता जा रहा हूं। कभी यह नहीं सोचता कि क्या पाना है, पूरा ध्यान अच्‍छा खेलने पर है।’ यह बातें हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर यशश्वी जायसवाल की। 19 सितंबर से लखनऊ में शुरू होने जा रही पांच मैचों की भारत-बांग्लादेश अंडर-23 क्रिकेट श्रृंखला के लिए यशश्वी का चयन भारतीय टीम में हुआ है।

सेंट एंड्रयूज कालेज के मैदान पर अभ्यास करने आए यशश्वी ने दैनिक जागरण से बातचीत में अपने संघर्षों की कहानी साझा की। क्रिकेट को लेकर शुरू से जुनून था। वह मुंबई चले आए। सपनों की नगरी में बड़े सपनों के साथ आए यशश्वी की राह कठिनाईयों से भरी रही। बकौल यशश्वी उन्हें हर हाल में खेलना था, क्रिकेट को छोड़कर उनके पास कुछ नहीं था। आजाद मैदान के कैंप में भीषण गर्मी के बीच रातें बिताईं। वहां शौचालय तक की व्यवस्था नहीं थी। खर्च चलाने के लिए मैदान पर काम किया, गेंदें ढूंढी और आजाद मैदान पर पानी पूरी भी बेची।

ये भी पढ़े :  सशक्त एवं समर्थ नारी ही भारत को स्वर्ण शिखर पर आरूढ़ कर सकती है:क्षेत्र कार्यवाहिका शारदा पांडेय
ये भी पढ़े :  सांसद रवि किशन ने जिला।चिकित्सालय गोरखपुर में लिया कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया..

बांये हाथ के बल्लेबाज यशश्वी बताते हैं कि मुंबई में क्रिकेट एकेडमी चलाने वाले गोरखपुर के ज्वाला सिंह से मिलना जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट रहा। उन्होंने बताया कि सचिन तेंदुलकर व वसीम जाफर उनके आदर्श हैं। जाफर के साथ वह खेलते हैं, जबकि एक साल पहले अंडर-19 भारतीय टीम में चयन के बाद सचिन उन्हें बुलाया था। सचिन ने उन्हें हस्ताक्षर किया बल्ला भेंट किया था,  यशश्वी ने उससे खेला भी। यशश्वी कहते हैं कि सचिन के साथ तब फोटो नहीं ले पाया था, अगली मुलाकात का मौका मिला तो जरूर लूंगा।   

इच्‍छाशक्ति हो तो फेल होने का डर नहीं होता : ज्वाला सिंह

गोरखपुर के रुस्तमपुर निवासी ज्वाला सिंह आज जाना-पहचाना नाम बन चुके हैं। उनके शिष्य रहे यशश्वी व पृथ्वी शॉ जैसे क्रिकेट खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमक बिखेर रहे हैं। दो दर्जन से अधिक खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं। ज्वाला का कहना है कि इ’छाशक्ति हो तो फेल होने का डर नहीं होता।

ये भी पढ़े :  युवाओं को फेसबुक और गूगल के अधकचरे ज्ञान से उबरना होगा....

गोरखपुर में मौजूद ज्वाला सिंह ने सेंट एंड्रयूज कालेज के मैदान पर दैनिक जागरण से बातचीत की। उन्होंने बताया कि 1995 में मुंबई गए, 1997 से घर से आर्थिक मदद लेना बंद कर दिया। उसके बाद संघर्ष शुरू हुआ। फुटपाथ पर सोना पड़ा, उधार लेकर काम चलाना पड़ा। क्रिकेट में प्रदर्शन अ’छा था, लेकिन परिस्थितियों के कारण बड़ी कामयाबी नहीं मिली। उन्होंने कहा कि कोचिंग उनके लिए काफी अ’छी है, खिलाडिय़ों को बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं। कहा कि 2010 में ज्वाला फाउंडेशन शुरू किया। यशश्वी जायसवाल व पृथ्वी शॉ संघर्षों से निकले खिलाड़ी हैं। इसी तरह और भी खिलाड़ी अ’छा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई में एक वर्ग ऐसा है, जिसके पास सुविधाएं हैं, और दूसरा पक्ष यह है, जिसके पास केवल इच्‍छाशक्ति। उन्होंने कहा कि कभी दबाव में नहीं आना चाहिए बल्कि विपरीत परिस्थितियों से ताकत प्राप्त करनी चाहिए। 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी

कोरोना कॉल में होमियोपैथी पर विश्वास रखें, योग व्यायाम करें : डॉ रूप कुमार बनर्जी सकरात्मक सोचें, होमियोपैथी पर...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

लखनऊ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...
%d bloggers like this: