Thursday, April 9, 2020

यह गोरखपर वासी जान हथेली पर रख पार करते हैं पुल,माँ तरकुलहा का भी यह है एक रास्ता

जर्जर अवस्था में मलांव चंदा घाट का पीपा पूल,
पीपा पूल पर यात्रा करना मौत को दावत देने के समान

लोगों में रोष

बेलीपार थाना क्षेत्र के मलांव चंदा घाट पीपा पूल पर चलना अब अत्यंत कठिन हो गया है इस पुल के दोनों तरफ से लोहे का एंगल क्षतिग्रस्त हो गया है ।सांप के आकार का यह पुल कई गाँवों को जोड़ने का कार्य करता है

आपको बताते चलें कि कुछ साल पहले रुद्राइन उर्फ मझिगांवा पर एक व्यक्ति की पीपा पुल से नदी में गिरने से मौत हो गई थी।

वहीं सुसुप्तावस्था में पड़े प्रशासन को कई बार ग्रमीणों ने अपने जनप्रतिनिधियों के माध्यम से अवगत कराया है लेकिन बावजूद उसपर आज तक कोई कार्य नहीं हो पाया है

आये दिन इस पुल से कोई ना कोई गिर कर चोटिल होता ही हैं। शासन अगर संज्ञान ले तो आये दिन होने वाली यह घटना रुक सकती है

इस नदी के पार माँ तरकुलही माता का स्थान भी है। इस वजह से भी श्रद्धालु यहाँ से आते जाते रहते हैं । देवरिया व कुशीनगर व महराजगंज आदि जिला दूरी कम होने के कारण इस पीपा पूल के रास्ते आते रहते है ।यदि समय रहते पीपा पूल सही नही किया गया तो निश्चित तौर पर कोई बड़ी घटना घट सकती है जो सबको जगाने के लिए काफ़ी होगी

ये भी पढ़े :  Delhi Assembly Election Politicial Reaction Live: जेपी नड्डा ने केजरीवाल को दी बधाई, बोले- जनादेश का सम्मान

सत्य चरण लक्क़ी की रिपोर्ट

Advertisements
%d bloggers like this: