Friday, July 30, 2021

यूपी के सीएम के लिए चला था नाम,केंद्र में रह चुके मंत्री, जाने कौन है मनोज सिन्हा…

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया सामग्री का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गिरीश चंद्र मूर्मू ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकार कर लिया है. मूर्मू की जगह बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा को उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है. बीएचयू के छात्र संघ अध्यक्ष से लेकर केंद्रीय मंत्री तक का सफर तय करने वाले मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर की अहम जिम्मेदारी दी गई है.

. मनोज सिन्हा जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल

.सिन्हा 3 बार MP और मोदी सरकार में मंत्री रहे

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर का नया उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है. गिरीश चंद्र मूर्मू ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकार कर लिया है. बीएचयू के छात्र संघ अध्यक्ष से लेकर केंद्रीय मंत्री तक का सफर तय करने वाले मनोज सिन्हा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का करीबी माना जाता है.

ये भी पढ़े :  महाराजगंज: जिला गोसदन की बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई...

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के मोहनपुरा गांव में एक किसान परिवार में 1 जुलाई 1959 को जन्मे मनोज सिन्हा ने छात्र जीवन से ही सियासत में कदम रख दिया था. सिन्हा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव के प्राथमिक विद्यालय से किया. इसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए बीएचयू की ओर रुख किया. बनारस से ही उन्होंने आईआईटी की पढ़ाई की और यहीं से छात्र राजनीति में अपना कदम रखा. 1982 में बीएचयू छात्र संघ के अध्यक्ष भी निर्वाचित हुए. इंजीनियरिंग करने के बाद मनोज सिन्हा को कई नौकरी के ऑफर आए, लेकिन उन्होंने तो राजनीति में अपना करियर बनाने का मकसद ठान लिया था.

ये भी पढ़े :  हाय शर्मनाक!! यूपी के इस दरोगा ने रेप पीड़िता से कहा एक रात साथ रह लो जो कहोगी वो कर दूँगा,पीड़िता ने लगाई इंसाफ की गुहार....

मनोज सिन्हा ने छात्रसंघ का अध्यक्ष बनने के बाद पलटकर नहीं देखा. मनोज सिन्हा 1989 से 1996 तक भाजपा की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे हैं. 1996 में वे पहली बार गाजीपुर सीट से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे, पर 1998 का लोकसभा चुनाव हार गए. हालांकि, 13 महीने के बाद जब दोबारा 1999 में चुनाव हुआ तो दूसरी बार जीतकर संसद पहुंचे. इसके बाद करीब 15 साल तक चुनाव नहीं जीत सके.

मनोज सिन्हा ने सियासी बुलंदी नरेंद्र मोदी के केंद्रीय राजनीतिक में आने के बाद छूआ. 2014 लोकसभा चुनाव में मनोज सिन्हा तीसरी बार मोदी लहर पर सवार होकर संसद पहुंचे. मनोज सिन्हा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्रीय मंत्री भी रहे. इस दौरान रेल मंत्रालय जैसे अहम विभाग की जिम्मेदारी संभाली, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में हार जाने के चलते सियासी परिदृश्य से पूरी तरह से गायब हो गए थे.

मनोज सिन्हा को अपने तीन दशक के राजनीतिक सफर में कई बार हार का भी सामना करना पड़ा, लेकिन हर बार के बाद उन्होंने जबरदस्त वापसी की है. 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद मनोज सिन्हा का नाम मुख्यमंत्री के प्रमुख दावेदारों में से एक था, लेकिन बाजी योगी आदित्यनाथ के हाथ लगी थी. अब उन्होंने उपराज्यपाल के पद के जरिए एक बार फिर जबरदस्त वापसी की है.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में कई IPS बदले गए,दिनेश कुमार गोरखपुर के नए एसएसपी.

कई IPS के तबादले हुए जिसमे गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को झाँसी का नया डीआईजी बनाया...

बड़े पैमाने पर हुआ सीओ का तबादला,125 सीओ किये गए इधर से उधर….

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर सीओ यानी उपाधीक्षकों के तबादले किये गए।।125 उपाधीक्षकों का तबादला किया...

तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंसी बहू, सिद्धि के लिए दे दी अपने ही ससुर की बलि

उत्तर प्रदेश के कौशांबी में तंत्र-मंत्र के चक्कर में फंस कर एक बहू ने अपने ही ससुर...
%d bloggers like this: