Tuesday, March 9, 2021

यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 की आरक्षण नीति आज हो सकती है जारी, क्‍या होंगे नियम?

प्रधान बनने के लिए चाहिए ये योग्यता और दस्तावेज, बिना गलती भरें नामांकन वरना हो जाएगा खारिज

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) की घोषणा होने के साथ ही लोग पूरे जोर-शोर से तैयारियों...

लोगों को रोजगार और अच्छे इलाज की जरूरत

Maharajganj: जनपद महराजगंज के पिपरा चौराहे फरेंदा में राकेश गुप्ता ने जनसभा को संबोधित किया जो वार्ड नंबर 27 से प्रत्याशी हैं...

गोरखपुर:- हॉकी नहीं है भारत का राष्ट्रीय खेल, आरटीआई में हुआ खुलासा

हॉकी नहीं है भारत का राष्ट्रीय खेल, आरटीआई में हुआ खुलासा गोरखपुर: बच्चों को उनके किताबों में पढ़ाया जाता...

ब‍िजनेसमैन की पत्नी को लूटकर बदमाश ने छूए पैर, बोला- बहन की शादी करना है, माफ कर देना

टॉय गन की मदद से एक बदमाश ने होजरी व्यवसायी की पत्नी, नौकरानी को बंधक बनाकर लगभग 4 लाख का माल लूट...

यूपी पंचायत चुनाव की आरक्षण सूची आते ही सीएम योगी ने इन IAS अफसरों का किया तबादला, देखें पूरी लिस्ट

लखनऊ. यूपी के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिलेवार आरक्षण की सूची जारी होते ही योगी सरकार ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 की आरक्षण नीति का इंतजार आज संभवत खत्म हो सकता है । उम्मीद है कि यूपी सरकार आज आरक्षण नीति जारी कर दे। उत्तर प्रदेश शासन प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य चुनाव के लिए चक्रानुक्रम आरक्षण की व्यवस्था को आगे बढ़ा सकता है। बीडीसी, जिला पंचायत सदस्य, जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के निर्वाचन क्षेत्रों के आरक्षण में जरूर कुछ बदलाव किया जा सकता है। यूपी पंचायत चुनाव 2021 में 57207 प्रधान चुने जाएंगे। 25 दिसंबर को ग्राम प्रधानों का कार्यकाल खत्म हो चुका है।यूपी पंचायत चुनाव में आरक्षण को लेकर काफी दिनों से मंथन चल रहा है। ग्राम पंचायतों में इस बार चक्रानुक्रम में आरक्षण को आगे बढ़ाया जाएगा। वर्ष 2015 में ग्राम पंचायतों में चक्रानुक्रम से शुरुआत की गई थी।

ये भी पढ़े :  महाराजगंज: विगत आठ महीनों से भारत-नेपाल के बीच आवागमन ठप होने के कारण ओली बिरोध में हुई नारेबाजी।

दूसरे वर्ग को मिलेगा आरक्षण:- यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 में आरक्षण की व्यवस्था में यह बदलाव होगा कि साल 2015 में यदि किसी ग्राम पंचायत में प्रधान पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित था तो इस चुनाव में किसी दूसरे वर्ग को आरक्षित किया जाएगा।

ये भी पढ़े :  कैसे पहनें मास्क:गलत तरीके से पहनने पर खतरे से बचाने वाला मास्क संक्रमित कर सकता है, लापरवाही छोड़कर 7 बातों का ध्यान रखें

पिछला आरक्षण किया जाएगा दर्ज:- आरक्षण के लिए प्रत्येक ब्लॉक में अनुसूचित जाति, पिछड़े और सामान्य वर्ग की आबादी अंकित करते हुए ग्राम पंचायतों की सूची अकारादि (अ, आ, इ, ई…) क्रम में बनाई जाएगी। इसमें अंकित किया जाएगा कि वर्ष 1995 में कौन की ग्राम पंचायत किस वर्ग के लिए आरक्षित थी।

गिरते क्रम में आवंटित होगी:- एससी और पिछड़े वर्ग के लिए प्रधानों के आरक्षित पदों की संख्या उस ब्लॉक में अलग-अलग पंचायतों में उस वर्ग की आबादी के अनुपात में गिरते हुए क्रम में आवंटित की जाएगी।

बदल जाएगा आरक्षण फार्मूला:- नए फार्मूले में बीडीसी व जिला पंचायत सदस्य, जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के आरक्षण में भी चक्रानुक्रम लागू हो सकता है लेकिन शर्त रखी जा सकती है कि जो निर्वाचन क्षेत्र 1995 से 2015 के बीच एससी या ओबीसी के लिए आरक्षित रहा है, उसे इस बार उनके लिए आरक्षित नहीं किया जाएगा। जिला पंचायतों के अध्यक्ष पद पर आरक्षण संबंधी कार्यवाही शासन करेगा।

ये भी पढ़े :  महाराजगंज जनपद में बनाये गए तीन नए नगर पंचायतों में प्रशासक नियुक्त...

डीएम के जिम्मे भारी जिम्मेदारी:- सूबे के सभी 75 जिलाधिकारियों को जिलावार प्रमुखों और विकास खंडवार प्रधानों के आरक्षित पदों की संख्या शासन व निदेशालय स्तर से तय करके उपलब्ध कराई जाएगी। क्षेत्र पंचायत प्रमुखों के आरक्षित पदों, विकासखंडवार ग्राम पंचायतों के प्रधानों के आरक्षित पदों और तीनों स्तर की पंचायतों में आरक्षित वार्डों के आवंटन की कार्यवाही डीएम करेंगे।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

प्रधान बनने के लिए चाहिए ये योग्यता और दस्तावेज, बिना गलती भरें नामांकन वरना हो जाएगा खारिज

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) की घोषणा होने के साथ ही लोग पूरे जोर-शोर से तैयारियों...

लोगों को रोजगार और अच्छे इलाज की जरूरत

Maharajganj: जनपद महराजगंज के पिपरा चौराहे फरेंदा में राकेश गुप्ता ने जनसभा को संबोधित किया जो वार्ड नंबर 27 से प्रत्याशी हैं...

ब‍िजनेसमैन की पत्नी को लूटकर बदमाश ने छूए पैर, बोला- बहन की शादी करना है, माफ कर देना

टॉय गन की मदद से एक बदमाश ने होजरी व्यवसायी की पत्नी, नौकरानी को बंधक बनाकर लगभग 4 लाख का माल लूट...
%d bloggers like this: