Monday, August 19, 2019
Gorakhpur

योगी आदित्यनाथ खुद तैयार कर रहे गोरखपुर लोकसभा चुनाव की रणनीति का खाका,पलट सकता है विपक्ष का दांव,लड़ सकता है कोई सीएम योगी का करीबी…

गोरखपुर पूर्वांचल ही नही पूरे देश मे भाजपा के लिए एक प्रतिष्ठा वाली सीट बन गई है।।गोरखपुर लोकसभा हाइ प्रोफाइल सीट मानी जा रही ऐसे में इसे कैसे भी भाजपा जीतने के लिए जद्दोजेहद कर रही।।उपचुनाव में मिली हार के बाद भाजपा व सीएम योगी दोनों की किरकिरी हुई थी। उस समय 2017 के लोकसभा उपचुनाव ने यह सीट सपा के खाते में बतौर प्रवीण निषाद सांसद के रूप में गई थी।।जिसके बाद यह कहा जाने लगा कि विपक्ष ने सीएम योगी का किला भेद लिया।।।

सीएम योगी की प्रतिष्ठा से जुड़े गोरखपुर सीट को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ फुल एक्टिव मोड में दिखाई दे रहे।सीएम योगी लोकसभा चुनाव की रणनीति का खाका खुद तैयार कर रहे।।ऐसा माना जा रहा कि सीएम योगी वैसी ही रणनीति बना रहे जैसा उन्होंने अपने चुनाव के लिए तैयार किया करते थे।।इस बार चुनाव भाजपा को जिताने के लिए हिन्दू युवा वाहिनी को सक्रिय कर दिया गया है।।अभी हाल ही में गोरखपुर के कुछ प्रमुख कार्यकर्ताओ की वैठक सीएम योगी के लखनऊ स्थित आवास पर हुई थी जिसमे गोरखपुर सीट पर चर्चा हुई थी।।हिन्दू युवा वाहिनी इसके लिए विधानसभा वार व क्षेत्रवार ढांचा तैयार कर रही।।बूथ स्तर तक को मजबूत करने का काम किया जा रहा वही सीएम योगी खुद यहां भाजपा के कार्यक्रमो में ज्यादा से ज्यादा शिरकत करने की कोशिश कर रहे जैसे को खुद चुनाव लड़ने जा रहे।।

सीएम योगी द्वारा लगातार गोरखपुर सीट पर नजर रखी जा रही।।जिसके बाद ऐसा माना जा रहा कि इस चुनाव में सीएम योगी का कोई अपना क़रीबी चुनावी मैदान ने ताल ठोक सकता है।।निषाद समाज के वोट के किये सीएम योगी ने पहले ही सक्रियता दिखाते हुए जय प्रकाश निषाद को सरकार में एडजेस्ट किया वही अमरेंद् निषाद व उनकी माँ राजमती निषाद ने भाजपा की सदस्यता स्वीकार कर ली।।अब निषाद पार्टी भी भाजपा से गठबन्धन की तैयारी में है।।इससे यह लगता है कि सीएम योगी आदित्यनाथ खुद के लिए जैसी चुनावी बिसात बिछाते थे वैसे ही इस बार भी वो तैयारी कर रहे।।खैर अब। देखना ये होगा कि भाजपा किसे प्रत्याशी बनाती है..????सीएम योगी की सभी सम्भवनाओ से साथ दिया तो विपक्ष का दांव उल्टा पड़ सकता है और उसे फिर हार का स्वाद चखना पड़ सकता है।।

%d bloggers like this: