Saturday, September 18, 2021

राशन कार्ड बनाने के सिस्टम में बड़ा बदलाव करने जा रही मोदी सरकार! फर्जीवाड़े पर कसेगी लगाम…

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

देश में लगभग 23.30 करोड़ राशन कार्ड हैं, जिनमें से 85 प्रतिशत लाभार्थियों को आधार नंबर के साथ जोड़ा गया है।

केंद्र की मोदी सरकार राशन कार्ड में फर्जीवाड़े को रोकने के लिए इसके बनाने की सिस्टम में बड़ा बदलाव करने जा रही है। फर्जी नाम को चेक करने के लिए राशन कार्ड को आधार संख्या (AADHAAR) से लिंक कराने के बाद, केंद्र सरकार एक ऐसी प्रणाली पर काम कर रही है, जिसमें यह सुनिश्चित किया जाएगा कि नए राशन कार्ड राष्ट्रीय स्तर के ‘डी-डुप्लीकेशन’ चेक के बाद ही जारी किए जाएं। ‘सार्वजनिक वितरण प्रणाली’ (PDS) में धांधली को रोकने के उद्देश्य से यह पहल उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा अमल में लाई गई है।
खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के सचिव रविकांत ने बताया, “एक बार प्रस्तावित प्रणाली चालू हो जाने के बाद राष्ट्रीय स्तर पर डुप्लीकेशन जाँच के बाद ही नए राशन कार्ड जारी किए जाएंगे। वर्तमान में कुछ राज्यों में उनके अधिकार क्षेत्र के भीतर ‘डी-डुप्लीकेशन’ जांच की जा रही है। हम अगले साल तक इसे राष्ट्रीय स्तर पर लागू करने की योजना बना रहे हैं।” उन्होंने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया, “हमने राज्यों को राशन कार्ड डाटा साझा करने के लिए कहा है। उनमें से कुछ पहले से ही जरूरी विवरण साझा कर चुके हैं। हम इस डाटा को राष्ट्रीय स्तर के डेटाबेस में एकत्रित करेंगे। इसको एक साल के भीतर पूरा कर लिए जाने की उम्मीद है। यह पूरा हो जाने के बाद, राशन कार्ड के प्रत्येक नए आवेदन को डी-डुप्लीकेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा। नए राशन कार्ड आधार-सत्यापित होंगे और प्रस्तावित प्रक्रिया यह सुनिश्चित करेगी कि नए आवेदक के नाम और पते में कोई मौजूदा राशन कार्ड न हो।”

यह कदम महत्वपूर्ण है, क्योंकि पहले सरकार का ध्यान लाभार्थियों के आधार के साथ जोड़कर फर्जी राशन को हटाने पर था। देश में लगभग 23.30 करोड़ राशन कार्ड हैं, जिनमें से 85 प्रतिशत लाभार्थियों को आधार नंबर के साथ जोड़ा गया है। मंत्रालय के अनुसार, डिजिटलीकरण के परिणामस्वरूप, 2013 और 2018 के बीच राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कुल 2.98 करोड़ राशन कार्ड हटाए गए या रद्द किए गए हैं। इसके परिणामस्वरूप पीडीएस में खामी और धांधली कम हो गई है।

ये भी पढ़े :  लोकतंत्र की मजबूती और जनता की बेहतरी के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नई "संविधान सभा"का शीघ्र गठन करें:- डॉ के सी पांडेय
ये भी पढ़े :  गोरखपर के इस चौकी इंचार्ज ने जमकर पीटा महिला व बेटे को सीसीटीवी में आई वारदात

वर्तमान में, 75 प्रतिशत ग्रामीण और 50 प्रतिशत शहरी आबादी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के तहत शामिल है। इस अनुपात के आधार पर एनएफएसए के तहत सब्सिडी वाले खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए पात्र व्यक्तियों की संख्या 81.35 करोड़ है। इसमें से 79.66 करोड़ रुपये की पहचान 3 सितंबर, 2019 को लाभार्थियों के रूप में की गई। अभी भी 1.69 करोड़ लोग ऐसे हैं, जिन्हें एनएफएसए का लाभ उठाने और नए राशन कार्ड प्राप्त करने की आवश्यकता है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: