Sunday, April 18, 2021

रिश्ते में तनाव का सबसे बड़ा कारण अहंकार

UP: पंचायत चुनाव में पैसा बांट रहे थे BJP के पूर्व MLA के भाई, रंगे हाथ पकड़े गए

पूर्व भाजपा विधायक अवनीन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ महंत दूबे के छोटे भाई व पूर्व प्रधान सत्येन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ राजू द्विवेदी को...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

लखनऊ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...

गोरखपुर :- आरपीएम के छात्र प्रवीण ने बढ़ाया ज़िले का मान,SDM बनकर करेंगें प्रदेश की सेवा

प्रदेश की सर्वश्रेष्ठ परीक्षाओं में से एक उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 2020 की परीक्षा का परिणाम लोक सेवा आयोग के द्वारा...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

भदोही । शहर के मेन रोड आनन्द नगर स्थित श्रीराम जानकी मंदिर पर चल रहे संगीतमय श्रीराम कथा के पांचवे दिन प्रख्यात कथावाचक पण्डित धनेश्वर महाराज जी ने कहा कि रिश्ते में तनाव का कारण अहंकार है। आज के दौर में रिश्तों में सबसे ज्यादा तनाव देखा जा रहा है। पति-पत्नी, माता-पिता और संतान। पति-पत्नी के रिश्ते तो बहुत ही तनावपूर्ण होते जा रहे हैं। जिसका कारण अहंकार है। संगीतमय श्रीराम कथा में मौजूद लोगों को रामायण का एक प्रसंग सुनाते हुए महाराज जी ने कहा कि सीता का स्वयंवर चल रहा है। धनुष तोड़ने वाले से सीता का विवाह किया जाएगा। यह शर्त थी सीता के पिता जनक की। कई राजाओं और वीरों ने प्रयास किया। लेकिन धनुष किसी से हिला तक नही है। तब ऋषि विश्वामित्र ने राम को आज्ञा दी। जाओ राम धनुष उठाओ। राम ने सबसे पहले अपने गुरू को नमन किया फिर शिव का ध्यान करके धनुष को प्रणाम किया। देखते ही देखते धनुष को फूल की तरह उठा लिया, और किसी खिलौने की तरह तोड़ दिया। आखिर धनुष ही क्यों उठाया और तोड़ा गया। धनुष ही विवाह के पहले की शर्त क्यों थी। वास्तव में इसके मर्म में चलें तो इस प्रसंग को आसानी से समझा जा सकता है। अगर दार्शनिक रूप से समझें तो धनुष अहंकार का प्रतीक है। अहंकार जब तक हमारे भीतर हो, हम किसी के साथ अपना जीवन नहीं बीता सकते। अहंकार को तोड़कर ही गृहस्थी में प्रवेश किया जाए। इसके लिए विवाह करने वाले में इतनी परिपक्वता और समझ होना आवश्यक है। संगीतमय श्रीराम कथा में महाराज जी ने राम सीता स्वयंवर प्रसंग सुनाकर मौजूद लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। स्वयंवर कथा पर मौजूद लोग झूम उठे।

ये भी पढ़े :  आज लखनऊ में 26, गोरखपुर में 6 नए कोरोना संक्रमित मिले । विस्तृत विवरण यहां जाने!
ये भी पढ़े :  पानी मे डूबे केबिल को ठीक करते बिजलीकर्मी  क्रासर। टेन एम बी ए का ट्रांसफार्मर आते ही काम शुरू

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...
%d bloggers like this: