Wednesday, November 20, 2019
Uttar Pradesh

‘लोग कहते हैं मोदी है तो मुमकिन है, मेरे पिता को वापस नौकरी पर रखवा दीजिए’, सार्थक त्रिपाठी ने लिखी PM को मार्मिक चिट्ठी….

कानपुर के एक 13 वर्षीय बच्चे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 37वीं बार चिट्ठी लिखी है। 13 वर्षीय सार्थक त्रिपाठी ने शुक्रवार को पीएम मोदी को 37वीं चिट्ठी लिखी जिसमें उसने उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज के पूर्व कर्मचारी अपने पिता सत्यजीत विजय त्रिपाठी को वापस नौकरी पर रखने की मांग की है। साल 2016 से अब तक सार्थक पीएम मोदी को 36 चिट्ठियां लिख चुका है और शुक्रवार उसने 37वीं चिट्ठी लिखी। इस चिट्ठी में उसने ना सिर्फ विस्तार से अपने परिवार की समस्याओं का वर्णन किया है बल्कि पीएम मोदी से अपने पिता को वापस नौकरी पर रख लेने के लिए अनुरोध किया है। दरअसल उसके पिता को उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज (यूपीएसई) की नौकरी से बाहर निकाल दिया गया था।
उसने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि पिता की नौकरी चले जाने से उसके परिवार की काफी वित्तीय समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उसने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि मैंने मोदी बाबा जी को अपने पिता की मदद करने के लिए चिट्ठी लिखी है जिन्हें कुछ लोगों के द्वारा नौकरी से निकाल दिया गया था। पीएम मोदी को 36 चिट्ठी भेजने के बाद भी उसके परिवार को कोई मदद नहीं मिली बल्कि उल्टा ही कई लोगों की तरफ से पूरे परिवार को बर्बाद करने की धमकी भरे कॉल आने लगे। सार्थक ने बताया कि मुझे लगता है कि इन चिट्ठियों के कारण ही मेरे पिता को धमकी भरे कॉल आ रहे हैं। वे मेरे पिता और पूरे परिवार को जान से मार देने की धमकी दे रहे हैं। उसकी इच्छा है कि जिसने भी उसके पिता के साथ गलत किया है उसे कानून के तहत उचित सजा मिलनी चाहिए। आठवीं कक्षा के छात्र सार्थक ने नरेंद्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने पर उन्हें बधाई देते हुए कहा कि मैंने कई लोगों से सुना है कि मोदी है तो मुमकिन है। इसलिए मैं आपसे (पीएम मोद) अनुरोध करता हूं कि आप मेरी विनती सुनें।

Advertisements
%d bloggers like this: