Sunday, June 16, 2019
Uttar Pradesh

शर्मिंदगी: एसएसपी के सामने रिवाल्वर का लॉक तक नहीं खोल सके योगी के प्रदेश के कई दरोगा…

संभल में मुठभेड़ के दौरान दरोगा जी की मुंह से निकाली गई ठांय-ठांय की आवाज को अभी लोग नहीं भूले होंगे। पुलिस को सार्वजनिक रूप शर्मिंदा होने से बचाने के लिए एसएसपी के शुक्रवार की परेड में रिर्जव पुलिस लाइन्स में वेपन हैंडलिंग टेस्ट ले डाला। दरोगा जी लोगों की स्थिति देखकर एसएसपी स्वयं शर्मिंदा हो गए। कई दरोगा और सिपाही रिवाल्वर का लॉक ही नहीं खोल पाए।

एसएसपी जे रविंदर गौड ने साप्ताहिक परेड में पुलिसकर्मियों का वेपन टेस्ट ले लिया। उन्होंने परेड में शामिल पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों से शस्त्रों को खोलने और फिर उन्हें बंद कर फायर करने के लिए तैयार करने को कहा। अलग-अलग टीमों को बुलाकर उनका टेस्ट लिया गया। इस दौरान कई सिपाही और दरोगा असलहों को खोल तक नहीं पाए। कुछ ने खोल लिया तो उन्हें बंद करने में पसीने छूट गए। यह सब देखने के बाद एसएसपी ने नाराजगी जताई।

एसएसपी ने ट्रेनरों के माध्यम से सभी को शस्त्रों के सफाई करने और उन्हे खोलने व जोड़ने का अभ्यास कराया। उन्होंने खुद असलहों को खोलना और बंद करने के बारे में बताया। एसएसपी ने कहा कि जब नियमित रूप से अभ्यास किया जाएगा तभी जरूरत पड़ने पर इन शस्त्रों का सजगता से प्रयोग किया जा सकेगा।

पहले भी असलहा चलाने में फेल होते रहे
यूपी पुलिस के दरोगा और सिपाही जरूरत पड़ने पर असलहा चलाने में फिसड्डी साबित होते रहे हैं। हाल में ही अमरोहा में एक एन्काउंटर के दौरान दरोगा की पिस्टल से फायर नहीं हो पाया था। इसी तरह संभल में एन्काउंटर के दौरान दरोगा पिस्टल से फायर नहीं कर सके तो मुंह से ही ठांय-ठांय करने लगे थे।

पुलिस लाइन्स की साफ-सफाई का लिया जायजा
एसएसपी ने परेड के बाद रिवर्ज पुलिस लाइन का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां चल रहे निर्माण कार्य देखे और आरआई को निर्देशित किया कि निमार्ण कार्यों को जल्द पूरा कराएं। परिसर की साफ-सफाई पर एसएसपी ने संतोष जताया और आरआई से कहा कि नियमित रूप से स्वच्छता पर ध्यान दिया जाय। एसएसपी ने नारी उत्थान केंद्र का भी निरीक्षण किया और वहां केंद्र को प्राप्त प्रकरणों में त्वरित कार्यवाही करने को कहा।

Advertisements
%d bloggers like this: