- Advertisement -
n
n
Tuesday, June 2, 2020

#शहीदकाबेटा:- ऋषभ पापा की याद में रोया.. खुद आंसू पोंछे और फिर सैनिक की तरह तनकर दहाड़ा- पाकिस्तान मुर्दाबाद…

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

पुलवामा हमले में शहीद हुए राजस्थान के पांच जवानों में से कोटा के रहने वाले हेमराज का अंतिम संस्कार गांव विनोद कला में किया गया। उनके बड़े बेटे अजय ने उन्हे मुखाग्नि दी। अंत्येष्टि के दौरान मौजूद हजारों लोग बमुश्किल अपनी भावनाओं पर काबू कर रहे थे। शव यात्रा गांव पहुंचने पर शहीद के पिता, पत्नी, बेटे-बेटि यों व परिजनों ने पार्थिव देह को नमन किया। अंत्येष्टि स्थल पर हेमराज का 5 साल का छोटा बेटा ऋषभ पहले तो रोया फिर भारत माता के जयकारे लगाने लगा तो पूरे मैदान में मौजूद हजारों लोग रो उठे। अपने साथ हुए वज्रपात के बावजूद मासूम पूरे समय भारत माता व अपने पिता के जयकारे लगाता रहा। शहीद हेमराज के बेटे, बेटियां,धर्म पत्नी व पिता उनकी शहादत को लेकर फख्र से बोल उठे-तुम्हा री शहादत को झुकने नहीं देंगे।

1. तिरंगे में लिपटे शहीद हेमराज मीणा को श्रद्धांजलि देने सैलाब उमड़ा था। हेमराज मीणा अमर रहे के गगनभेदी नारों केे बीच शनिवार दोपहर बाद कोटा जिले के गांव सांगोद क्षेत्र के पैतृक िनवास विनोद कलां में हेमराज की अंत्येष्टि हुई। बहादुर बेटे की पापा को मासूम श्रद्धांजलि पर हर आंख नम हो गई। पहले तो पापा को याद कर 5 साल का ऋषभ रोने लगा।

NOTE:  गोरखपुर टाइम्स का एप्प जरुर डाउनलोड करें  और बने रहे ख़बरों के साथ << Click

Subscribe Gorakhpur Times "YOUTUBE" channel !

The Photo Bank | अच्छे फोटो के मिलते है पैसे, देर किस बात की आज ही DOWNLOAD करें और दिखाए अपना हुनर!

 

ये भी पढ़े :  बड़ी खबर:- पिपराइच और मुंडेरवा की चीनी मिलें आज से चलेंगी.....

2. पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ की 61वीं बटालियन के हैड कांस्टेबल हेमराज को सीआरपीएफ व कोटा ग्रामीण पुलिस की टुकड़ियों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। शोक शस्त्र हाथ में थामे सीआरपीएफ के जवानों ने 25 राउंड फायर किए। रोता हुआ ऋषभ अपने आंसू पोंछकर अचानक तनकर खड़ा हो गया, बिल्कुल एक सैनिक की तरह। बहादुर बेटे की आंखों में पिता का अक्स साफ झलक रहा था।

3. भारत माता की जयकार सुनकर सैनिक का बेटा भीड़ के साथ नारे लगाने लगा। इस बात से अनजान की अब उसके पापा कभी नहीं लौटेंगे। शहीद हेमराज के पिता, पत्नी, बेटे-बेटियों व परिजनों ने उन्हें नमन किया। बड़े बेटे अजय और छोटे बेटे ऋषभ ने मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार में आए गांव के हर आदमी की आंख इस वाकये से भर आई। भारत माता की जयकार के साथ भीड़ से पाकिस्तान विरोधी नारे लगे तो बहादुर बेटा शेर की तरह दहाड़ते हुए बोला-पाकिस्तान मुर्दाबाद।

ये भी पढ़े :  कनिका कपूर कोरोना मरीजों के लिए दान करेंगी अपना खून...

बड़े बेटे अजय ने कहा कि-उसे अपने पिता की शहादत पर गर्व है। वहीं 4 साल के बेटे रिशु को अभी दुनियादारी की समझ नहीं है, लेकिन अचानक घर पर इतने लोगों के आने और पिता के शहीद होने की बात पता चलने पर उसने अपनी भावना कुछ यूं व्यक्त की- मैं पुलिस में जाऊंगा, आतंकवादियों को बंदूक से मारूंगा

Advertisements
%d bloggers like this: