Saturday, August 17, 2019
Education

‘शून्य’ के रहस्य से पर्दा उठाएगा यूपी बोर्ड, जानें-क्या है मामला…

यूपी बोर्ड की परीक्षा में सैकड़ों छात्रों को शून्य अंक मिले हैं। छात्रों ने इस संबंध में शिकायत भी की है। अब इस मामले की जांच हो रही है।

शून्य की खोज वैसे तो आर्यभट्ट ने की थी, लेकिन इस बार इस शून्य के रहस्य से यूपी बोर्ड पर्दा उठाएगा। वजह इंटर की बोर्ड परीक्षा में सैकड़ों छात्रों की कॉपियों में मिले शून्य नंबर हैं। इन छात्रों ने इस पर सवाल उठाया है और कॉपियां निकालकर दोबारा जांच करने की मांग को लेकर आवेदन किया। विज्ञान वर्ग के विषयों में सैकड़ों छात्रों को मिले हैं शून्य नंबर यूपी बोर्ड की परीक्षा में इस साल विज्ञान वर्ग के विषयों में सैकड़ों छात्रों को शून्य नंबर मिले हैं। इस पर उन्होंने असंतोष जताते हुए क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय में शिकायत की। 
उन्हें स्क्रूटनी के तहत आवेदन करने को कहा गया था। करीब तीन सौ विद्यार्थियों ने आवेदन किया है। अब विभाग इन छात्रों की कॉपियां निकलवाकर शून्य अंक पाने के रहस्य से पर्दा उठाने की तैयारी में है। जल्द ही यह बात साफ हो जाएगी कि उन्हें मिले शून्य अंक सही हैं या मूल्यांकन में गड़बड़ी हुई है। छात्रों ने कहा यूपी बोर्ड परीक्षा का परिणाम आया तो इंटरमीडिएट के कई विद्यार्थी क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय के चक्कर लगाते नजर आए। उनका कहना था कि अन्य विषयों में उन्हें अच्छे अंक मिले हैं, लेकिन कुछ विषयों में शून्य अंक मिले। उनका दावा था कि उनका पेपर अच्छा गया था। शून्य अंक तो किसी कीमत पर नहीं मिलना चाहिए। 
भौतिक विज्ञान में आई सर्वाधिक शिकायतें भौतिक विज्ञान में सर्वाधिक शिकायतें मिलीं हैं। महराजगंज जिले के एक विद्यालय में 100 से अधिक विद्यार्थियों को इस विषय में शून्य मिला है। विद्यालय के एक शिक्षक ने बताया कि पढ़ाई में होनहार विद्यार्थियों को भी शून्य मिला हैं। विद्यालय की ओर से सभी विद्यार्थियों से स्क्रूटनी के तहत आवेदन कराया गया है। गलती मिलती है तो सुधार होगा इस संबंध में क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय के अपर सचिव योगेंद्र ने कहा कि कुछ विषयों में शून्य अंक को लेकर शिकायत मिली थी। स्क्रूटनी के तहत आवेदन आए हैं। कॉपियां निकलवाई जा रही हैं। यदि किसी प्रकार की गलती मिलती है, तो उसे सुधारा जाएगा।

Advertisements
%d bloggers like this: