Thursday, August 22, 2019
Gorakhpur

साथ जी न सके तो एक साथ फांसी के फंदे पर लटक गए प्रेमी युगल…

गोरखपुर के खोराबार में कैथवलिया गांव के पास मंगलवार को शीशम के पेड़ से लटक रही प्रेमी युगल की लाश मिली है। जानें दोनों ने अपनी जान क्‍यों दी।

गोरखपुर के खोराबार में कैथवलिया गांव के पास मंगलवार को शीशम के पेड़ से लटक रही प्रेमी युगल की लाश मिली है। युवती की पहचान इसी गांव के ओमप्रकाश की बेटी पूजा और युवक की पहचान जंगल सिकरी निवासी उसके रिश्तेदार सरबजीत के पुत्र धर्मेंद्र के रूप में हुई है। शुरुआती छानबीन के आधार पर पुलिस इसे खुदकुशी की घटना मान रही है, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही किसी ठोस नतीजे पर पहुंचने की बात कही है। पूजा की मां और भाई को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

सुबह खेत की तरफ टहलने निकले लोगों ने गांव के बाहर पेड़ से लटक रही युवक और युवती की लाश देखकर पुलिस को इसकी सूचना दी। इस बीच गांव के लोग भी एकत्र हो गए। पूजा के परिजनों ने बताया कि सोमवार की रात में उसी ने खाना बनाया था। सबको खिलाने के बाद खुद भी खाना खाकर छत पर सोने चली गई। मंगलवार को सुबह बिस्तर पर नहीं मिली। पहले तो परिजनों ने इस पर ध्यान नहीं दिया, लेकिन काफी देर तक उसका पता न चलने पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। इसी बीच उन्हें गांव के बाहर युवक के साथ पेड़ से लटकती उसकी लाश मिलने की जानकारी हुई।

पूजा के साथ धर्मेंद्र की लाश मिलने की सूचना पर उसके परिजन मौके पर पहुंच गए। दोनों के परिजनों से पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि धर्मेंद्र का पूजा के घर अक्सर आना-जाना था। तीन साल से उनके बीच प्रेम संबंध था। इस बीच पूजा के परिजनों ने उसकी शादी तय कर दी, जबकि पूजा और धर्मेंद्र एक-दूसरे से अलग रहने को तैयार नहीं थे। पूजा के परिजन धर्मेंद्र के साथ उसकी शादी करने को तैयार नहीं थे। माना जा रहा है कि साथ जीने की इच्छा पूरी न होने पर उन्होंने साथ मरने का फैसला कर लिया और रात में पेड़ में फंदे से लटक गए।

25 जून को होनी थी शादी

पूजा के परिजनों ने उसकी शादी तय कर दी थी। 25 जून को उसकी बरात आनी थी। शादी का कार्ड भी बंट गया था। शादी में शामिल होने के लिए महिला रिश्तेदारों के आने का सिलसिला भी शुरू हो गया था। घर में शादी की तैयारी जोरशोर से चल रही थी, लेकिन प्रेमी के साथ पूजा के आत्मघाती कदम उठाने की वजह से सारी तैयारियों पर पानी फिर गया है।

दो माह पहले दोनों परिवारों के बीच हुई थी पंचायत

पूजा की शादी तय होने की जानकारी होने के बाद धर्मेंद्र काफी परेशान हो गया था। परिवार के लोगों को पूजा से प्रेम करने की बात बताकर उसी से शादी करने की इच्छा जताई। उधर, पूजा ने भी परिवार के लोगों के सामने धर्मेंद्र से ही शादी करने की इच्छा व्यक्त की थी। परिजन धर्मेंद्र के साथ उसकी शादी करने को तैयार तो नहीं हुए, साथ ही प्रेम संबंध के बारे में जानकारी होने के बाद उन्होंने उस पर नजर भी रखनी शुरू कर दी। हालांकि धर्मेंद्र के परिवार वाले उनकी शादी करने को तैयार थे। दो माह पहले रिश्ता लेकर वे पूजा के घर भी गए थे। इस दौरान दोनों परिवारों बीच पंचायत भी हुई थी, लेकिन पूजा के परिवार वाले शादी के लिए तैयार नहीं हुए।

पेड़ के पास मिला दो मोबाइल फोन, सिगरेट व टाफी

जिस पेड़ से दोनों के शव लटक रहे थे, उसके पास से पुलिस को दो मोबाइल फोन, सिगरेट का पैकेट और टाफी मिली है। युवक की जेब से 120 रुपये भी मिले हैं। दोनों के कपड़े गीले थे। इस आधार पर माना जा रहा है कि खुदकुशी करने से पहले पास के पोखरे में उन्होंने स्नान भी किया था।

पेशे से मजदूर था धर्मेंद्र

चार भाइयों में धर्मेंद्र सबसे बड़ा था। घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। मजदूरी कर परिवार चलाने में वह पिता का सहयोग करता था। उसके पिता सरबजीत ने बताया कि देवरिया बाइपास रोड स्थित कोल्ड ड्रिंक एजेंसी में मजदूरी करता था। सोमवार को सुबह वह काम पर निकला था। इसके बाद घर नहीं लौटा। रात में उन्होंने उसे तलाश करने का प्रयास किया लेकिन पता नहीं चल पाया। मंगलवार को सुबह उसकी लाश मिलने की सूचना मिली।

Advertisements
%d bloggers like this: