Friday, June 18, 2021

सिंघडिया आदर्श नगर जन औषधि केंद्र पर मनाया गया जन औषधि दिवस…..

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

देश भर में जनऔषधि दिवस ’मनाया गया। जनऔषधि दिवस’ के अवसर पर, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने जनऔषधि केंद्रों के मालिकों और प्रधानमंत्री भारतीय जनशक्ति परिषद (PMBJP) के लाभार्थियों के साथ बातचीत की। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से देश। योजना के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए सभी PMBJP केंद्रों पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इन कार्यक्रमों में डॉक्टरों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों, गैर सरकारी संगठनों और लाभार्थियों की भागीदारी देखी गई। जनऔषधि दिवस का उद्देश्य आगे की प्रेरणा प्रदान करना और जेनेरिक दवाओं के उपयोग के बारे में जागरूकता पैदा करना है। यह दिन सरकार द्वारा आयुष्मान भारत, पीएमबीपीपी इत्यादि जैसे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा को किफायती बनाने की दिशा में शुरू की गई पहल पर भी प्रकाश डालता है। सस्ती और गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाओं को लोगों के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए सरकार ने प्रधान मंत्री भारतीय जनऔषधि योजना शुरू की। सरकार का लक्ष्य 2020 तक देश के प्रत्येक ब्लॉक में कम से कम 1 पीएमबीजेपी केंद्र है।
ये भी पढ़े :  गोरखपुर में मौसम फिर से लेगी करवट, इस सप्ताह भी होगी झमाझम बारिश...

• प्रतिदिन लगभग 10-15 लाख लोगों को जनौषधि दवाओं से लाभ होता है और जेनेरिक दवाओं का बाजार हिस्सा पिछले 3 वर्षों में 2 प्रतिशत से 7 प्रतिशत तक बढ़कर तीन गुना हो गया है।

ये भी पढ़े :  मानो पूरा देवरिया बोला 'आपका स्वागत है रमापति राम',भाजपा प्रत्याशी के रोड शो में उमड़ा जनसैलाब.....
• भारत में जानलेवा बीमारियों से पीड़ित रोगियों के जेब खर्च को कम करने में जनऔषधि दवाओं ने बड़ी भूमिका निभाई है। • PMBJP योजना ने आम नागरिकों के लिए लगभग 1000 करोड़ रुपये की कुल बचत का नेतृत्व किया है, क्योंकि ये दवाएं औसत बाजार मूल्य के 50 प्रतिशत से 90 प्रतिशत तक सस्ती हैं। • PMBJP स्व-स्थायी आय के साथ स्वरोजगार का एक अच्छा स्रोत भी प्रदान कर रहा है क्योंकि प्रति माह औसत बिक्री प्रति दुकान 1.50 लाख रुपये तक बढ़ी है, जो कि बीपीपीआई द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार है। • दिल्ली, गुवाहाटी, बेंगलुरु और चेन्नई में चार बड़े गोदाम खोले गए हैं ताकि सभी पीएमबीजेपी केंद्रों पर जनऔषधि दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके। • PMBJP योजना के तहत सस्ती गुणवत्ता वाले स्वास्थ्य उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला पहले ही लॉन्च की जा चुकी है जिसमें ऑक्सो-बायोडिग्रेडेबल सेनेटरी नैपकिन भी शामिल है। 2.50 प्रति पीस; जन औषधि स्वाभिमान पर रु। 5 वयस्क डायपर के पैक के लिए 140; जन आषाढ़ी बच्चन 20 रुपये में केवल 5 बेबी डायपर के पैक के लिए; जन आयुषी अंकुर गर्भावस्था परीक्षण किट 20 रु।
ये भी पढ़े :  गोराखपुर AIIMS OPD :अनियंत्रित हुई भीड़, भगदड़ में कई मरीज घायल....

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनऔषधि मेडिकल स्टोर जैसे एक्सक्लूसिव आउटलेट्स के माध्यम से, विशेष रूप से गरीबों और वंचितों को सभी को सस्ती कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाली दवाइयां उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शुरू किया था। यह योजना जेनेरिक दवाओं को बेचने वाले समर्पित स्टोरों के माध्यम से सस्ती कीमत पर गुणवत्तापूर्ण दवाएं उपलब्ध कराती है। दवाएं, हालांकि कीमत में कम हैं, गुणवत्ता और प्रभावकारिता में महंगी ब्रांडेड दवाओं के बराबर हैं।
ये भी पढ़े :  अभी अभी :-बेलीपार में NH29 पर एक्सीडेंट,सेंट्रो कार ने मारी बाइक सवार को टक्कर....
योजना के मुख्य उद्देश्य • लागत प्रभावी दवाओं और उनके नुस्खे के बारे में अधिक जागरूकता को बढ़ावा देना। • सार्वजनिक-निजी भागीदारी के माध्यम से सस्ती कीमतों पर अनब्रांडेड गुणवत्ता वाली जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराना। • डॉक्टरों को प्रोत्साहित करने के लिए, विशेष रूप से सरकारी अस्पताल में जेनेरिक दवाओं को निर्धारित करने के लिए। • स्वास्थ्य देखभाल में पर्याप्त बचत को सक्षम करने के लिए, विशेष रूप से गरीब रोगियों और लंबे समय तक नशीली दवाओं के उपयोग की आवश्यकता वाले पुराने रोगों से पीड़ित लोगों के मामले में।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...
%d bloggers like this: