Saturday, July 24, 2021

सीएम योगी का करीबी रहा यह शख्स अब इस सीट से भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ ठोकेगा ताल…

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

सीएम योगी आदित्यनाथ के कभी अतिकरीबियों में शुमार रहे सुनील सिंह ने लोकसभा चुनाव में भाग्य आजमाने का निर्णय लिया है। हिंदू युवा वाहिनी से निकाले जाने के बाद हिंदू युवा वाहिनी भारत बनाने वाले सुनील सिंह गोरखपुर से सटे संतकबीरनगर संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ सकते हैं। ऐसा उन्होंने खुद अपने फेसबुक पेज पर पोस्टर लगाकर ऐलान किया है। पोस्टर पर उनको भावी सांसद पद प्रत्याशी संतकबीरनगर बताया गया है।

फिलवक्त सुनील सिंह जेल में हैं। बीते जुलाई में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं की हियुवा भारत के कार्यकर्ताओं के बीच कहासुनी हुई। मामला थाने तक पहंुचा। सुनील अपने कार्यकर्ताओं को छुड़ाने के लिए राजघाट थाने पहुंचे थे। पुलिस से झड़प होने के बाद उनको तथा उनके साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इन लोगों के खिलाफ आधा दर्जन केस दर्ज किए गए। काफी दिनों बाद पुलिस ने शहर में एक लावारिश गाड़ी बरामद की थी। इस गाड़ी से कुछ असलहे बरामद हुए थे। गाड़ी पर सुनील सिंह का स्टिकर लगा हुआ था। पुलिस ने यह केस भी सुनील पर बनाया और उनके खिलाफ रासुका की भी कार्रवाई की गई।
हालांकि, सुनील सिंह के जेल में होने के बाद भी उनका सोशल मीडिया कैंपेन जारी है। फेसबुल, ट्वीटर पर सुनील सिंह के लगातार अपडेट्स हैं। फेसबुक पर सुनील सिंह ने पोस्टर लगाकर खुद को संतकबीरनगर का भावी सांसद प्रत्याशी होने की बात कहकर विरोधियों में खलबली मचा दी है। इस पोस्टर से यह तय माना जा रहा है कि वह संतकबीरनगर से 2019 लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

ये भी पढ़े :  अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर गोरखपुर में दिखा उत्साह, तस्वीरों में देखें शहरवासियों ने ऐसे किया योग
ये भी पढ़े :  अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर गोरखपुर में दिखा उत्साह, तस्वीरों में देखें शहरवासियों ने ऐसे किया योग

Sunil Singh

कौन हैं सुनील सिंह

सुनील सिंह हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। 2017 विधानसभा चुनाव के पहले तक वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अतिकरीबियों में गिने जाते रहे हैं। डेढ़ दशक तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ रह चुके सुनील सिंह ने विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ को भाजपा का यूपी चुनाव में चेहरा बनाने की मांग करते हुए बगावत कर दिए। उन्होंने हिंदू युवा वाहिनी से प्रत्याशी उतारने का भी ऐलान कर दिया। हालांकि, सुनील सिंह के ऐलान के बाद तत्काल प्रभाव मंदिर के निर्देश पर हिंदू युवा वाहिनी से सुनील सिंह समेत कईयों को संगठन से निकाल दिया गया। लेकिन सुनील सिंह ने हियुवा पर अपना दावा जताते हुए प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया और शिवसेना के सिंबल पर इन प्रत्याशियों को चुनाव भी लड़ाया। सफलता तो किसी भी प्रत्याशी को नहीं मिली परतुं आलम यह रहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अलावा यूपी भाजपा के प्रदेश प्रभारी समेत तमाम सीनियर नेताओं को गोरखपुर में कैंप करना पड़ा। यह बात दीगर है कि चुनाव बाद सुनील सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ आने की कोशिश की लेकिन उनकी संगठन में एंट्री नहीं हुई। संगठन में वापसी नहीं होने के बाद सुनील सिंह ने हिंदू युवा वाहिनी भारत नाम से संगठन बना लिया। प्रदेश में सगठन खड़ा करने के लिए लगे हुए थे। उन्होंने कट्टर हिंदूत्व की राह पर चलते हुए भाजपा और हियुवा पर प्रहार भी करने शुरू कर दिए थे। लेकिन हियुवा व हियुवा भारत के बीच हुए विवाद में वह जेल की सलाखों के पीछे हैं।

ये भी पढ़े :  बिग ब्रेकिंग::- बाँसगांव में मिले इन गांवों से 5 पॉजिटिव, कुल गोरखपुर से 7

इसलिए संतकबीरनगर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहते सुनील

सुनील सिंह खजनी क्षेत्र के रहने वाले हैं। उनका संसदीय क्षेत्र संतकबीरनगर ही है। संतकबीरनगर जिला कभी गोरखपुर का ही हिस्सा हुआ करता था। जातीय समीकरण भी साधने की नीयत से सुनील सिंह ने इस लोकसभा सीट को चुना है। सपा/भाजपा या बसपा जैसे बड़े दल इस सीट से चुनाव मैदान में ब्राह्मण प्रत्याशी उतारने जा रहे हैं। सुनील सिंह ठाकुर, कुर्मी-सैंथवार जैसी जातियों के वोट साध चुनाव मैदान में विरोधियों से मुकाबला कर सकते हैं। राजनीति के जानकार बताते हैं कि संतकबीरनगर में ठाकुर के अलावा ओबीसी व अल्पसंख्यकों की संख्या निर्णायक है। जबकि चुनाव मैदान में ब्राह्मण प्रत्याशियों की अधिकता है।

वीडियो न्यूज़ के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करेंं 👈 

ये भी पढ़े :  गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रवेश शुल्क में सामान्य वर्ग को आर्थिक आधार पर मिले छूट इसके लिए छात्र नेता व अधिवक्ता प्रणव द्विवेदी ने सौपा विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन....

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: