Saturday, August 17, 2019
Uttar Pradesh

स्वच्छ भारत मिशन शौचालय निर्माण व आवास निर्माण में भ्रष्टाचार…

सरकार की कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन शौचालय निर्माण व आवास निर्माण में भ्रष्टाचार,आज तक सरकार की योजना का लाभ नहीं मिल पाया चक, मिरदासपुर के ग्रामीणों को…. चंदौली जनपद के सदर ब्लाक अन्तर्गत चक,मिरदासपुर में समस्याओं का अम्बार है। मिरदासपुर गांव की सम्पर्क मार्ग की पुलिया टूटी हुई है इस पुलिया से हजारों लोगों का आना जाना है। बच्चों को भी इसी रास्ते पुलिया से होकर स्कूल जाना पड़ता है। बहुत से लोग पूलिया से गिरकर चोटिल हो जाते है। बरसात में तो और भी दयनीय स्थिती हो जाती है। बगल में चंद्रप्रभा नदी है उसमें गिरकर बहने की आशंका ग्रामीणों को बनी रहती है। उसके बाद भी मिरदासपुर के ग्रामीणों की समस्या को ग्राम प्रधान से लेकर जनप्रतिनिधि या कोई अधिकारी देखने तक नहीं आया। सरकार व जिला प्रशासन के शक्ति के बाद भी ग्राम प्रधान मुन्ना यादव व ग्राम विकास अधिकारी राजेश्वर पाल सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। ग्राम प्रधान व कुछ भ्रष्ट अधिकारियों के मिलीभगत के चलते सरकार की योजनाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी है। सरकार गांवों के विकास के लिए पानी की तरह पैसा बहा रही है। वहीं ग्राम प्रधान मुन्ना यादव व ग्राम विकास अधिकारी राजेश्वर पाल के द्वारा पैसों का बंदरबांट किया जा रहा है। जिससे गांव का विकास पुर्ण रूप से अवरूद्ध हो गया है। सरकार की कल्याणकारी योजनाएं गांवों तक पहुंचने से पहले ही दम तोड़ रही हैं। चंदौली जनपद मुख्यालय से लगभग चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित चक,मिरदासपुर गांव बदहाली का अंशु बहा रहा है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि गांव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय का निर्माण ही नहीं कराया गया है। दो चार कराया भी गया है तो वो आधा अधुरा है कुछ लोग अपने पैसो से शौचालय बनवा लिए हैं। तो उनको पैसा ही नहीं दिया गया है। ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए सुदर्शन न्यूज़ के जिला संवाददाता प्रशान्त सिंह से बताया की गांव के विकास के लिए आये लाखों रूपए को ग्राम प्रधान मुन्ना यादव व ग्राम विकास अधिकारी राजेश्वर पाल ने बंदरबांट कर लिया है। जिससे गांव का विकास पुर्ण रूप से अवरूद्ध हो गया है। ग्रामीणों ने बताया की गांव में न तो शौचालय ही बना है और न ही किसी गरीब को आवास का लाभ दिया गया है। ग्रामीणों ने बताया की शौचालय न होने के कारण ग्रामीण खुले में शौच करने को मजबूर हैं। जब जिला संवाददाता प्रशान्त सिंह ने ग्राम विकास अधिकारी राजेश्वर पाल से बात की तो बोले की मुझे दस गांव देखना पड़ता है मैं कहां कहां देखूं हर समस्या नहीं देख सकता ये सब ग्राम प्रधान का काम है। इससे मालूम होता है कि जानबूझकर चक,मिरदासपुर के ग्रामीणों को शौचालय व आवास न देकर परेशान किया जा रहा है। महिलाओं ने ग्राम प्रधान मुन्ना यादव पर आवास देने के लिए पैसे मांगने का भी आरोप लगाया गया है। ग्रामीणों ने कहा की पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच हो जिससे सरकार की योजनाएं हम लोगो तक पहुंचे।

प्रशान्त सिंह

Advertisements
%d bloggers like this: