Thursday, September 24, 2020

हत्या के दोषी को केरल के सीएम सहित वामपंथी कुनबे की श्रद्धांजलि, 51 बार पार्टी के बागी नेता को चाकु से गोदा था

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना से निधन,पीएम मोदी-सीएम योगी सहित अन्य नेताओं ने जताया शोक…

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का निधन हो गया है। 65 वर्षीय अंगड़ी पिछले दिनों कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे और...

गोरखपुर की डॉ रेखा ने विश्व में किया गोरखपुर का नाम रोशन,अपनी प्रतिभा से लहराया परचम

गोरखनाथ की पावन भूमि गोरखपुर के लोगों ने वैश्विक स्तर पर अपने झंडे बुलंद किए हैं कठिन मेहनत और लगन के कारण...

अयोध्या में रामलीला को योगी सरकार की मिली मंजूरी

बॉलीवुड के कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन.आमलोगों के लिए नहीं होगी एंट्री.सोसल मीडिया पर होगा रामलीला का...

गोरखपुर के डीएम के विजयेंद्र पांडियन हुए कोरोना पॉजिटिव इनको मिली डीएम की जिम्मेदारी…

डीएम के विजयेंद्र पांडियन कोरोना पाजिटिव मिले। एंटीजन जांच में हुई पुष्टि। rtpcr के लिए भेजा गया नमूना। होम आइसोलेट हुए। सीडीओ...

कैन्ट थानान्तर्गत मारपीट व फायरिंग में संलिप्त दो अभियुक्तों के ऊपर एसएसपी ने 25-25 हजार रूपये धनराशि के पुरस्कार की घोषणा ….

गोरखपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर द्वारा अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाये जाने हेतु किये जा रहे कार्यवाही...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

केरल, विजयन

— हत्या के दोषी को केरल के सीएम सहित वामपंथी कुनबे की श्रद्धांजलि, 51 बार पार्टी के बागी नेता को चाकु से गोदा था लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं —

केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने शुक्रवार को विवादों को न्योता देते हुए पीके कुंजानाथन को श्रद्धांजलि दी। हत्या के मामले में दोषी करार दिए गए कुंजानाथन का गुरुवार (11 मई 2020) को निधन हुआ था। विजयन सहित केरल CPI(M) के नेता उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए इस कदर जुटे जैसे किसी नायक की मौत हुई हो।

आंतों में इंफेक्शन होने की वजह से तिरुवनंतपुरम के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में कुंजानाथन हो गया था। वे 72 वर्ष के थे। कोझिकोड जिले में सीपीआई (एम) के बागी नेता टीपी चंद्रशेखरन की 2012 में हत्या कर दी गई थी। इस मामले में कुंजानाथन सहित 11 लोग 2014 में दोषी पाए गए थे। हालॉंकि तबीयत खराब होने की वजह से कुंजानाथन को बाद में जमानत दे दी गई थी।

ये भी पढ़े :  Opinion- चुनावी खर्चे में कमी के लिए पार्टियां भरसक करें डिजिटल सभाएं
ये भी पढ़े :  बलिया: CM योगी बोले- 'सपा अध्यक्ष को BJP सरकार में कानून राज से परेशानी हो रही है'...योगी आदित्यनाथ

सीपीआई (एम) की कन्नूर एरिया कमिटी के मेंबर रहे कुंजानाथन सीएम विजयन के सहयोगी रहे थे। रामचंद्रन की हत्या में उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वे ऐसे कॉमरेड थे जिसने नि:स्वार्थ भाव से पार्टी की सेवा की।

अपने फेसबुक पोस्ट में विजयन ने दावा किया कि कुंजानाथन एक प्रतिबद्ध सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज की सेवा में बिताया।

हालाँकि, मुख्यमंत्री द्वारा एक हत्या के आरोपी की जयजयकार और प्रशंसा करना सोशल मीडिया यूज़र्स को अच्छा नहीं लगा। साथ ही नागरिकों ने भी एक हत्यारे को सपोर्ट करने पर सीएम को खूब-खरी खोटी सुनाई।

केवल विजयन ही नहीं, सीपीआई (एम) की केंद्रीय समिति के सदस्यों सहित कई कम्युनिस्ट नेताओं ने कुंजानाथन को श्रद्धांजलि दी। वे अस्पताल भी उनका हालचाल लेने जाते थे। उनके निधन पर ‘शहीद जो कभी नहीं मरेगा’ के नारे भी लगे।

साल 2012 में टीपी चंद्रशेखरन ने वैचारिक मतभेदों के कारण पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा क्रूरतापूर्वक उनकी हत्या कर दी गई थी। जाँच से पता चला था कि चंद्रशेखरन को 51 बार चाकू मारा गया था।

ये भी पढ़े :  अगर कल्याण सिंह ने नक़ल अध्यादेश लाकर यूपी बोर्ड में सख्ती न की होती तो आज स्थिति और बुरी होती

पुलिस को बाद में जाँच के दौरान यह भी पता चला था कि चंद्रशेखरन की हत्या का मास्टरमाइंड कुंजानाथन था। जुलाई 2014 में अदालत ने सीपीआई (एम) नेता को दोषी ठहराया था। हालाँकि इसके बाद में वे विवादों में रहे। 2016 में राज्य में वामपंथी सरकार की वापसी के बाद उन्हें अक्सर परोल दिया जाने लगा। इस साल 14 मई को उन्हें इलाज के लिए तीन महीने की जमानत दी गई थी।

बता दें कि छह साल की सजा के दौरान कुंजानाथन ने 400 से अधिक दिनों के परोल का लाभ उठाया। इस दौरान वे पार्टी के कार्यक्रमों में भी शिरकत करते थे। हत्या का दोषी होने के बावजूद उन्हें सीपीआई (एम) क्षेत्रीय समिति का नेता चुना गया था।

ये भी पढ़े :  Blog: भारत अब गढ़े नई दुनिया

शेष Opp India पर…

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

कृषि बिल: संसद के बाद अब सड़क पर चलेगी लड़ाई, कांग्रेस नवंबर तक करेगी प्रदर्शन…

कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस बड़े अभियान की तैयारी कर रही है. कांग्रेस अपने आंदोलन को संसद से सड़क तक ले...

आमिर हुसैन के नेतृत्व सपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, एसडीएम को ज्ञापन सौंपा…

महाराजगंज। कोरोना काल में हुए भ्रष्टाचार तथा पुलिसिया उत्पीड़न व किसान बिल के विरोध में आज जनपद...

सपा की बैठक में जनसमस्याओं को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन भेजने का निर्णय…

महाराजगंज: समाजवादी पार्टी जनपद महाराजगंज की एक महत्वपूर्ण बैठक नवनियुक्त जिला अध्यक्ष आमिर हुसैन की अध्यक्षता में की गई बैठक में राष्ट्रीय...
%d bloggers like this: