Saturday, July 24, 2021

हनुमान जी हिमालय से लाए थे संजीवनी, अब भी है यहां जड़ी-बूटियों का खजाना…

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोरोना (Corona Pandemic) की वजह से देश में चल रहे लॉकडाउन का पार्ट 2 (Lockdown-2) जारी है. ये लॉकडाउन आगामी 3 मई तक रहेगा. इस बीच घर के भीतर बोर हो रहे लोगों के लिए सरकार ने कई पुराने धारावाहिकों का प्रसारण फिर से शुरू किया है. सबसे ज्यादा लोकप्रिय रामायण का प्रसारण है. जल्दी खत्म करने के लिए दिन में दो बार इसका प्रसारण किया जा रहा है. रामायण कहानी में इस समय मेघनाद द्वारा नागपाश हमला किए जाने की वजह से लक्ष्मण मू्र्छित हो गए हैं. लक्ष्मण के मूर्छित होने के बाद भगवान हनुमान हिमालय से संजीवनी बूटी लेकर आते हैं और उन्हें ठीक करते हैं. रामायण की कहानी मिथकीय है लेकिन अगर हिमालय में मौजूद आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों की बात की जाए तो इसका खजाना असीम है.

‘संजीवनी’ का दावा

द हिंदू अखबार में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में वैज्ञानिकों ने दावा किया था उन्होने एक ऐसे अनोखे पौधे की तलाश की है जो ‘संजीवनी’ ही है. Rhodiola नाम के इस पौधे को लेकर वैज्ञानिकों का दावा था कि ये इम्यूनिटी सिस्टम को जबरदस्त तरीके से बढ़ाता है. लद्दाख में स्थानीय तौर पर इसे सोलो कहते हैं. वैज्ञानिकों का दावा था कि दुनिया अब तक Rhodiola की खासियतों से अनजान रही है.
लेह स्थित Defence Institute of High Altitude Research (DIHAR) के डायरेक्टर आर,बी. श्रीनास्तव ने तब कहा था, ‘Rhodiola एक चमत्कारिक पौधा है जिसके भीतर प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के अलावा अन्य कई गुण मौजूद हैं.’

121 जड़ी-बूटियों पर पैदा हुआ था खतरा
साल 2012 में खबर आई थी कि हिमालय रेंज में पैदा होने वाली 121 किस्म की जड़ी बूटियों पर खतरा है. कई औषधीय और अन्य महत्व की जड़ी बूटियों के अवैज्ञानिक ढंग से हो रहे विदोहन के चलते ये समाप्ति की कगार पर पहुंच गई थीं. तब रक्षा कृषि अनुसंधान इकाई ने इनके प्लांट बचाने के लिए हिमाचल प्रदेश में तीन स्थानों पर हर्बल गार्डन तैयार किए थे.

एकोनिटम फेरोक्स (Aconitum Ferox)
पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग की ऊंची पहाड़ियों पर यह जड़ी बूटी पाई जाती है. इसका इस्तेमाल विषहर औषधि यानी अगर किसी पर विष का प्रभाव हुआ हो तो उसे दूर करने के लिए किया जाता है. तेज बुखार को कम करने के साथ ही इस औषधि का इस्तेमाल शरीर में घर कर गए पुराने दर्द को दूर करने में भी होता है. मेंटल हेल्थ के उपचार में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है. चिंता और तनाव को दूर करने के लिए यह बेजोड़ औषधि है.

क्लीमेटिस बुखेनैनियाना (Clematis Buchananiana)
चमत्कारिक औषधीय गुणों से भरपूर इस पौधे को घर के गार्डेन में भी लागाया जा सकता है. इस पौधे का इस्तेमाल साइनस, सिर दर्द, दांत दर्द या अपच की समस्या से निपटने के लिए बनाई जाने वाली औषधि में होता है. इस पौधे की जड़ों का पेस्ट और जूस बनाकर औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है.

ये भी पढ़े :  अभी अभी :-गगहा अंतर्गत हर्रैया दलित बस्ती में लगी आग धु धु कर लाखों का सामान राख
ये भी पढ़े :  गोरखपुर में शुरू हुआ ताड़ी का सीजन,आज विवाद में चाचा ने किया भतीजे पर चाकू से वार
Clematis Buchananiana

वेस्ट इंडियन चिकवीड (West Indian Chickweed)
औषधीय गुणों से मालामाल यह पौधा हिमालय के बिल्कुल छोर पर पाया जाता है. इस पौधे की पत्तियां सांप के काटने पर उपचार के लिए इस्तेमाल होती हैं. चीन में इस औषधि का बेहद इस्तेमाल होता है. इसलिए वहां इसे मैजिकल हर्ब भी कहते हैं. साइनस की औषधि बनाने के लिए यह रामबाण की तरह इस्तेमाल होता है. कब्ज होने पर भी इस औषधि का इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जाता है.

West Indian Chickweed

रुस सेमिअलाता (Rhus Semialata)
नार्थ ईस्टर्न हिमालय में पाई जाने वाला यह औषधीय प्लांट कई बीमारियों के उपचार में काम आता है. स्थानीय लोग इसके फल को डायरिया और पेचिश के उपचार में इस्तेमाल करते हैं.

हेम्प एग्रीमोनी (Hemp Agrimony)
समान्य भाषा में इसे भांग कहते हैं. यह पौधा वैसे तो भारत के कई हिस्सों में पाया जाता है लेकिन हिमालयन क्षेत्र में पाया जाने वाला पौधा अन्य क्षेत्रों में पाए जाने वाले पौधों से कहीं ज्यादा औषधीय गुणों से भरपूर होता है. इसका इस्तेमाल जुलाब के रूप में, मूत्रवर्धक औषधि के रूप में और इस पौधे के जूस का इस्तेमाल रक्त स्राव बंद न होने पर किया जाता है. रक्त को शुद्ध करने के लिए भी बेमिसाल औषधि है. भारी नजला या इंफ्लुएंजा के लिए तो यह वाकई रामबाण औषधि है. इसकी बनी हुई चाय का उपयोग भी कई देशों में औषधि की तरह इस्तेमाल होती है.

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के स्कूल इस तरह चलेंगे लॉक डाउन के बाद, पहली बार इस तरह के बदलाव के साथ...
ये भी पढ़े :  प्रधानमंत्री मोदी की मदद का अमेरिका ने माना एहसान,पर यहाँ तो लोग प्रधानमंत्री को ही बोल रहे बुरा भला
Hemp Agrimony

वो जड़ी बूटी जो 10 लाख रुपए किलो तक बिकती है
यह हिमालयी क्षेत्रों में तीन से पांच हजार मीटर की ऊंचाई वाले बर्फीले पहाड़ों पर पाई जाती है. चीन और कोरिया में इसकी भारी मांग हैं. वहां इसका उपयोग दवा कंपनियां, ऊर्जा बढ़ाने वाली दवा बनाने के लिए करती हैं. हिमालय वियाग्रा जड़ी बूटी का साइंटिफिक नाम कोर्डिसेप्स साइनेसिस (Caterpillar fungus) है. इसे कीड़ा-जड़ी, यार्सागुम्बा या यारसागम्बू नाम से भी जानी जाती है.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: