Saturday, July 24, 2021

₹10 हजार गारंटीड आमदनी वाली स्कीम को सरकार फिर कर सकती है शुरू, साथ में मिलेंगे ये फायदें….

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

नई दिल्ली. देश में जारी लॉकडाउन की परेशानियों के बीच आम आदमी के लिए बड़ी खुशखबरी आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सरकार फिर से पेंशन स्कीम-प्रधानमंत्री वय वंदना योजना ((Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana-PMVVY) को शुरू कर सकती है. इसके साथ में टैक्स रियायत का भी प्रस्ताव किया गया है. अब इस योजना को 4 साल के लिए लागू किया जा सकता है.

आपको बता दें कि यह वरिष्ठ नागरिकों को स्थायी मासिक आमदनी का विकल्प देने के लिए शुरू की गयी थी. PMVVY में 10 साल तक 10,000 रुपये महीने की गारंटी वाली आमदनी का विकल्प मिलता है. अगर PMVVY योजना में 15 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो आपको योजना जारी रहने तक 10,000 रुपये की रकम हर महीने मिलती रहती है. इस योजना में निवेश की समयसीमा 4 मई 2017 से 3 मई 2018 तक थी, इसे बाद में बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दिया गया था.

अब क्या होगा- सूत्रों के मुताबिक, इसको शुरू करने के लिए कैबिनेट ड्राफ्ट नोट तैयार हो गया है. इस योजना को अगले 4 साल के लिए शुरू करने का प्रस्ताव दिया गया है. इस योजना में PPF की तरह निवेश और निकासी पर टैक्स छूट मिलेगी. ये स्कीम Exempt-Exempt-Exempt कैटेगरी में रहेगी. फिलहाल टैक्स छूट प्रस्ताव से रेवेन्यू विभाग सहमत नहीं है.

ये भी पढ़े :  दिल्ली सरकार ने कन्हैया कुमार पर देश द्रोह का मुकदमा चलाने की मंजूरी दी....

1.50 लाख रुपए जमा करना जरूरी- इस योजना के तहत एक बार एकमुश्त रकम जमा करवानी पड़ती है. यह रकम कम-से-कम 1.50 लाख और ज्यादा-से-ज्यादा 15 लाख रुपये हो सकती है. पेंशनर को यह अधिकार होगा कि वह ब्याज की रकम या तो पेंशन के रूप में या एकमुश्त ले.

ये भी पढ़े :  उड़ जायेंगें चीन और पाकिस्तान के होश,भारत ने स्वयं निर्माण किया "ध्रुवास्त्र मिसाइल" :-टैंक को पलभर में उड़ाने की क्षमता

8.30% तक का मिलता है रिटर्न- पीएमवीवीवाई के तहत जमा रकम पर 8 से 8.30% प्रति वर्ष का निश्चित रिटर्न मिलता है. ब्याज की दर इस बात पर निर्भर करती है कि पेंशनर मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक, किस क्रम में पेंशन की रकम लेगा. हर महीने पेंशन लेनेवालों को 8% का ब्याज जबकि सालाना पेंशन लेने पर 8.30% का ब्याज मिलेगा.

पीएमवीवीवाई 60 साल और उससे अधिक उम्र के नागरिकों के लिए है. इस योजना के तहत 10 साल तक 8% के निश्चित सालाना रिटर्न की गारंटी के साथ पेंशन सुनिश्चित होती है. निवेश सीमा बढ़ने से वरिष्ठ नागरिकों को प्रति माह अधिकतम ₹10 हजार जबकि न्यूनतम ₹1,000 पेंशन प्रतिमाह मिलने की गारंटी मिल गई है.

गारंटी रिटर्न स्कीम- पेंशन के रूप में ब्याज की ही रकम मिलती है. इसे ऐसे समझें कि अगर आपने 15 लाख रुपये जमा कर दिए तो 8% की दर से इस पर साल का 1 लाख 20 हजार रुपये ब्याज मिलेगा. ब्याज की यही रकम मासिक तौर पर 10-10 हजार रुपये, हर तिमाही में 30-30 हजार रुपये, साल में दो बार 60-60 हजार रुपये या साल में एक बार एकमुश्त 1 लाख 20 हजार रुपये पेंशन के रूप में दे दी जाती है.

ये भी पढ़े :  जानिए कौन है दीप सिद्धू? खालिस्तान समर्थक या अंग्रेजी बोलने वाला किसान।

अंतर सिर्फ इतना है कि दूसरे जमा पर ब्याज की दर की समीक्षा सरकार हर तिमाही में करती है जबकि पीएमवीवीवाइ पर ब्याज की दर कम-से-कम 8% निश्चित है. ध्यान रहे कि तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर पेंशन लेने का विकल्प चुनते हैं तो इसके मुताबिक आपको 15,000 लाख से कम रुपये जमा कराने होंगे. जैसा का ऊपर बताया जा चुका है.

योजना का लाभ लेने की शर्तें

>> कम-से-कम 60 साल की उम्र पूरी कर ली हो.

>> 60 साल के बाद उम्र की कोई अधिकतम सीमा नहीं.>> पॉलिसी टर्म- 10 वर्ष.

ये भी पढ़े :  उड़ जायेंगें चीन और पाकिस्तान के होश,भारत ने स्वयं निर्माण किया "ध्रुवास्त्र मिसाइल" :-टैंक को पलभर में उड़ाने की क्षमता

>> कम से कम पेंशन- ₹1000 प्रति माह, 3000 रुपये प्रति तिमाही, 6000 रुपये प्रति छमाही, 12000 रुपये प्रति वर्ष.

>> अधिकतम पेंशन- ₹10000 प्रति माह, 30000 रुपये प्रति तिमाही, 60000 रुपये प्रति छमाही, 1 लाख 20 हजार रुपये प्रति वर्ष.

एक परिवार को 10,000 से ज्यादा पेंशन नहीं

इस स्कीम की संचालक एलआईसी की वेबसाइट के मुताबिक, पेंशन की अधिकतम सीमा एक पेंशनर नहीं बल्कि उसके पूरे परिवार पर लागू होती है. मतलब, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत एक परिवार से जितने भी लोग पेंशन प्लान लेंगे, उन सबको मिलनेवाली पेंशन की रकम मिलाकर 10,000 रुपये से ज्यादा नहीं होगी. पेंशनर के परिवार में पेंशनर के अलावा जीवनसाथी और उनके आश्रित शामिल हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष के बाद अब चुने जाएंगे ब्लॉक प्रमुख, 8 को नामांकन, 10 जुलाई को मतदान

ब्लॉक प्रमुख पद के लिए 8 जुलाई को दिन में 11 बजे से शाम 3 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा...

मोदी कैबिनेट में जल्‍द बड़ा फेरबदल, सिंधिया और वरुण गांधी सहित इन चेहरों को मिल सकती है जगह

टाइम्‍स नाउ की खबर के मुताबिक, मोदी कैबिनेट में जल्‍द फेरबदल का ऐलान हो सकता है। इस बार कई युवा चेहरों को...

अब दिल्ली में LG होंगे ‘सरकार’ केंद्र सरकार ने जारी की अधिसूचना, हो सकता है बवाल

दिल्ली में राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन अधिनियम (NCT) 2021 को लागू कर दिया गया है. इस अधिनियम में शहर की चुनी हुई...
%d bloggers like this: