Monday, January 18, 2021

मां-बाप ने तब नहीं किया अंतिम संस्‍कार, चार दिनों बाद फिर से जिंदा हो उठी मृत घोषित बच्ची

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिले गोरखपुर के युवा,NH29 राज मार्ग जल्द होगा पूरा

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दिया NH29 के सम्बन्ध में आस्वासन गोरखपुर । गोरखपुर के सामाजिक...

लालपुर में समाजसेवी स्व.बालेश्वर राय की पुण्यतिथि पर सैकड़ों जरूरतमंदों को बांटे गए कम्बल

लालपुर में समाजसेवी बालेश्वर की पुण्यतिथि मनाई गयी बांसगांव। आज समाजसेवी पूर्व प्रधान स्व. बालेश्वर राय की 11 वीं...

भव्य राममंदिर निर्माण हेतु महापौर सीताराम जयसवाल ने दिया एक लाख ग्यारह हजार रुपए की समर्पण राशि….

श्रीरामजन्मभूमि निधि समर्पण अभियान के तहत आज गोरखपुर के महापौर सीताराम जयसवाल ने एक लाख ग्यारह हजार रुपए व व्यवसायी भीष्म चौधरी...

20 लाख रुपए का चरस लिए तस्कर को पुलिस और एसएसबी की संयुक्त टीम ने किया गिरफ्तार।

Maharajganj: जनपद महराजगंज सोनौली कोतवाली क्षेत्र के भारत-नेपाल सीमा के सरहदी गांव डंडा हेड के पास पुलिस और एसएसबी की संयुक्त टीम...

बांसगांव विधायक ने सैकड़ों को बाँटे कम्बल,ट्राईसाइकिल पाकर दिव्यांगों के खिले चेहरे

बांसगांव के युवा विधायक डॉ विमलेश पासवान के द्वारा आज ट्राईसाइकिल एवं कम्बल वितरण किया गया यह कार्यक्रम विकास खण्ड बांसगांव में...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

चतरा। ईश्वर जिसकी रक्षा करता है उसे कोई मार नहीं सकता। यहां तक कि यदि पूरी दुनिया शत्रु बन जाए, तब भी उसका कुछ बिगाड़ नहीं सकता। इस बात को सत्य कर दिखाया गेंजना पंचायत के सोनपुरा गांव में घटी एक घटना ने। वहां पिछले गुरुवार की देर शाम सीटू यादव की पत्नी शकुंत़ला देवी ने अपनी दो बच्चियों सोनी कुमारी (डेढ़ वर्ष) और गोली कुमारी (तीन वर्ष) को कुएं में डाल दिया था।

ये भी पढ़े :  सगे मां-बेटे को हुआ आपस में प्यार, अब बनना चाहती है बेटे के बच्चे की मां

गांव वालों ने तत्परता दिखाते हुए दोनों बच्चियों को कुएं से निकाल लिया और पड़ोसी गांव पांडेयपुरा के एक चिकित्सक के पास ले गए। चिकित्सक ने छोटी बच्ची सोनी कुमारी को मृत घोषित किया और गोली कुमारी की स्थिति चिंताजनक बताई। बच्ची के परिजनों को चिकित्सक की बातों पर भरोसा नहीं हुआ और वह दोनों बच्चियों को सीमावर्ती बिहार के गया जिले के शेरघाटी स्थित सरकारी अस्पताल ले गए।

वहां चिकित्सक ने इलाज से इन्कार कर दिया तो परिजन दोनों बच्चियों को लेकर गया पहुंचे, जहां अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज अस्पताल में चिकित्सक ने दोनों को कोमा में मानकर इलाज शुरू किया और कहा-अब सब ऊपर वाले के हाथ में है। यहां चार दिन तक आइसीयू में रखकर गहन चिकित्सा के बाद बच्ची को होश आ गया और वह जी उठी। परिवार वाले खुशी से चहक उठे।

ये भी पढ़े :  महाराष्ट्र के भंडारा में दर्दनाक हादसा, अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत

इस घटना की सभी जगह चर्चा हो रही है। बच्ची के पिता ने भगवान का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि दिल मान नहीं रहा था कि मेरी बच्ची दुनिया छोड़ सकती है। इसलिए एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल लेकर दौड़ता रहा। स्वजनों ने यह भी कहा कि आज अगर बड़े अस्पताल नहीं जाते तो बच्ची की जान नहीं बचती। यह बोलते हुए सभी लोग फफक कर रो पड़े।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गूगल मैप को फॉलो करते हुए शख्स ने पानी में डूबे ब्रिज पर उतारी कार, डूबने से हुई मौत………

महाराष्ट्र पुलिस के अनुसार, अहमद नगर ज़िले में गूगल मैप को फॉलो करते...

एक बेघर लड़की सड़क पर भीख मांग रही थी – फिर उसे मिली एक बहुत ही अजीब पेशकश

शहर की एक व्यस्त शॉपिंग स्ट्रीट पर एक छोटी लड़की भीख माँग रही है। उसने हाथ में...

बिहार में एक और पकरूआ विवाह, बंद कमरे में पकड़े गए प्रेमी युगल तो ग्रामीणों ने जबरन कराई शादी

नालंदा. बिहार में एक बार फिर से पकड़ौआ विवाह का मामला सामने आया है. घटना नालन्दा (Nalanda)...
%d bloggers like this: