Tuesday, January 26, 2021

बच्चे को दफन कर रहा था बाप, गड्ढे में रखते ही हुआ जिंदा, लेकिन हकीकत कुछ और

नुसरत जहां भी जय श्री राम के नारेबाजी से खफा, बोलीं- राम का नाम गले लगाके बोलें, गला दबाकर नहीं

ममता के भाषण के दौरान जयश्री राम के नारे लगाए जाने पर टीएमसी की सांसद नुसरत जहां...

सहजनवा में मीट मसालों का लिया अधिकारियों ने सैम्पल

गोरखपुर के आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के आदेश पर तथा अभिहित अधिकारी गोरखपुर के निर्देश पर मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी...

घूसखोर बाबू से परेशान जनता, लगा आरोप

प्रदेश की योगी सरकार कितने भी वादे करे भ्रष्टाचार पर लगाम लगने का पर यह सिर्फ़ कागजों तक ही सीमित रह जाता...

यूपी: योगी सरकार की अजीबो गरीब आबकारी पॉलिसी, अब बिना लाइसेंस घर में रखी शराब तो…

लखनऊ: यूपी में सीमा से ज्यादा शराब रखने पर पाबंदी, घर में तय मानक से ज्यादा रखने...

ट्रैक्टरों को डीजल न देने पर भड़के टिकैत,और CM योगी को दे डाली धमकी कहा लगता है योगी सरकार भी…

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध लगातार जारी...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गंजबासौदा. डॉक्टरों और नर्सों की लापरवाही के मामले सामने आते रहते हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के विदिशा जिले से जो घटना देखने को मिली उसने सारी हदें पार कर दीं। जहां नर्स ने इलाज के दौरान नवजात बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

परिवार के सदस्य दुखी थे और बच्चे को दफनाने गए। परी तैयार हो गई, गड्ढे को भी खोदा, लेकिन जैसे ही उसने नवजात बच्चे को नीचे रखा, उसके हाथ और पैर हिलने लगे।

ये भी पढ़े :  महाराजगंज: जिले में नशामुक्ति अभियान शुरू, 12 सदस्यीय कमेटी भी गठित....

नर्स ने बताया कि बच्चे की मौत हो गई हैं, तब मां को नही हुआ यकीन…

दरअसल, लापरवाही का यह मामला विदिशा जिले के गंजबासौदा अस्पताल का है। जहां संगीता नाम की महिला की डिलीवरी के बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ गई। कुछ घंटों के बाद, नर्स ने बच्चे को मृत बताया और उसे परिवार को सौंप दिया।

प्रसूति को यकीन नहीं था कि उसका बच्चा इस दुनिया में नहीं है। वह इलाज की गुहार लगाती रही, लेकिन उसे मृत घोषित कर दिया।

ये भी पढ़े :  किसान पिता दिल्ली की सीमा पर कर रहा था प्रदर्शन, 22 वर्षीय बेटा कश्मीर में हुआ शहीद।

जब किसी ने भगवान का चमत्कार कहा, तो किसी ने कहा…

नवजात के पिता बबलू प्रजापति ने कहा कि मेरे बच्चे को नर्स रानी कुशवाहा ने मृत घोषित कर दिया था। हमने भी सही काम किया और दफन की तैयारी की। लेकिन उस समय, परमेश्वर का ऐसा चमत्कार हुआ कि वह साँस लेने लगा और वह हिलने लगा।

तो हम हैरान थे, कुछ कहने लगे कि यह भगवान का चमत्कार है। लेकिन कुछ ने कहा कि यह सब डॉक्टरों की गलती से किया गया था।

पूरी तरह से स्वस्थ हैं मासूम…

अस्पताल की नर्स और स्टाफ की लापरवाही की शिकायत जिला चिकित्सा अधिकारी से की। जिसके बाद इस मामले पर कार्रवाई की गई थी। वहीं, जब बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेंद्र बाजोरिया और डॉक्टर अतुल जैन ने बच्चे की जांच की, तो वह सांस ले रहा था। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

मुजफ्फरपुर: यहां एंबुलेंस में मरीज को स्लाइन की जगह चढ़ाई जा रही शराब!

शराब के धंधेबाज एंबुलेंस का भी इस्तेमाल करने लगे हैं। शुक्रवार को शहर के बंजारी मोड़ के...

आज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फरेन्दा में कोविड-19 की पहली डोज डॉ सी वी पांडेय को लगाया गया

Maharajganj: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फरेंदा में महराजगंज के डीएम डॉ उज्जवल कुमार एवँ सीएमओ डॉ ए के श्रीवास्तव की मौजूदगी में...

सर्दी से बचने को कमरे में जलाई थी अंगीठी, मौत की नींद सोया पूरा परिवार

बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोना एक परिवार के लिए जानलेवा साबित हुआ है। दिल्ली से सटे...
%d bloggers like this: