Friday, June 18, 2021

गोरखपुर दक्षिणांचल से उठी आवाज हमें भी चाहिए कोविड अस्पताल,मुख्यालय है 60 km दूर

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के दूसरे फेज में जो स्थितियां नजर आ रही हैं वह बेहद खतरनाक हैं पूर्वांचल की हृदय स्थली गोरखपुर के लिहाज से अगर देखा जाए तो यहां लगातार लोगों को इस गंभीर बीमारी के कारण समस्या का सामना करना पड़ रहा है ।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर पुलिस को है इन ठगों की तलाश,अकेली महिलाओं को निशाना बनाकर ठगते हैं सोना चाँदी:- जानकारी देने पर 10000 ईनाम, रखा जाएगा नाम गुप्त

यही नहीं गोरखपुर के ग्रामीण दक्षिणांचल क्षेत्र की स्थिति पर नजर डाला जाए तो यह बेहद भयावह नजर आती है क्योंकि इस क्षेत्र के लिए जो कि मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूरी पर स्थित है प्रशासन के द्वारा मात्र एक अस्पताल की अनुमति दी गई है जो कि यहां के लोगों के मरीजों के लिहाज से कुछ भी नहीं है ।

प्रशासनिक अधिकारियों के साथ जनप्रतिनिधियों के द्वारा प्रयास किए जाने के बावजूद यहां एक अस्पताल की व्यवस्था नहीं हो सकी है जोकि मरीजों के भार को उठा सके इसी क्रम में टीम मदद के सहयोगी अधिवक्ता प्रणव दि्वेदी के द्वारा दक्षिणांचल क्षेत्र में अस्पताल की मांग को पूरी करने के लिए एक मुहिम चलाई गई है जो कि सोशल मीडिया पर काफी चर्चित हो रही है गोरखपुर टाइम्स के सत्य चरण लक्क़ी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि दक्षिणांचल क्षेत्र के मरीजों की जान बचाने के लिए अस्पतालों की संख्या में इजाफा होना चाहिए क्योंकि बिना सुविधाओं के इस महामारी में जान बचाना संभव नहीं है।

ये भी पढ़े :  #Breaking पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में निधन

बहरहाल इस मुहिम को सोशल मीडिया पर काफी सराहा जा रहा है और यह महत्वपूर्ण होगा कि प्रशासनिक अमला इस पर किस प्रकार से कार्य करेगा व सहयोग देगा।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

शहीद नवीन सिंह के परिवार को पवन सिंह ने दिया सहयोग।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए गोरखपुर निवासी...
%d bloggers like this: