Thursday, March 4, 2021

भारत में बने कोरोना टीके को पाकिस्तान ने दी मंजूरी पर मोदी से मांगने में आ रही है शर्म, जानिए कैसे निकाल रहे हैं जुगाड़

यूपी पंचायत चुनाव की आरक्षण सूची आते ही सीएम योगी ने इन IAS अफसरों का किया तबादला, देखें पूरी लिस्ट

लखनऊ. यूपी के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिलेवार आरक्षण की सूची जारी होते ही योगी सरकार ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया...

BJP ने तैयार किया किसान आंदोलन का काउंटर, चौपालों तक पहुंचने का बनाया मास्टर प्लान, यूपी पंचायत चुनाव पर रहेगी नजर।

उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत में सफलता हासिल करने के लिए बीजेपी ने मास्टर प्लान तैयार किया है. किसान आंदोलन...

यूपी में बेरोजगारो को सरकारी नौकरियां देने के लिए सीएम योगी का नया प्लान।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अब आउटसोर्सिंग और संविदा पर सारी भर्तियां सेवायोजन पोर्टल (Sevayojan Portal) के जरिए की जाएंगी. आउटसोर्सिंग...

सर्वोदय महाविद्यालय कौड़ीराम में छात्रों को दी गई राष्ट्र सेवा की शिक्षा

लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहते हुए करें सम्पूर्ण चुनौतियों का सामना- सत्य चरण लक्क़ी स.कि.पी.जी.कालेज में रासेयो शिविर का...

पत्नी पंखुड़ी पाठक पर विवादित टिप्पणी से आहत पूर्व सपा प्रवक्ता अनिल यादव ने छोड़ी समाजवादी पार्टी

कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक के पति व समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया है....

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

पाकिस्तान ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जिस टीके को सबसे पहले मंजूरी दे दी है, उसे पाने के लिए वह तरह-तरह के जुगाड़ तलाश रहा है। असल में, पड़ोसी देश ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की ओर से तैयार किए गए कोविशील्ड को देश में टीकाककरण के लिए चुना है। लेकिन भारत में इसके उत्पादन की वजह से इमरान खान सरकार दुविधा में फंस गई है। एक तरफ उसके लिए नाक का सवाल है तो दूसरी तरफ जनता की जान का। पाकिस्तान की सरकार बीच का रास्ता तलाशने में जुटी है। एक तरफ उसे कोवाक्स प्रोग्राम के तहत वैक्सीन का इतंजार है तो इमरान ने खुद को वैक्सीन खरीद से दूर करते हुए राज्यों और प्राइवेट सेक्टर को दूसरे देशों से बात करने की छूट दे दी है।

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन के ऑनलाइन संस्करण में दी गई खबर के मुताबिक, ड्रग रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ पाकिस्तान (DRAP) ने एस्ट्राजेनेका के कोविड-19 को इमर्जेंसी यूज के लिए मंजूरी दे ती है, जबकि चीन की सरकारी कंपनी सिनोफार्मा के टीके को अगले दो सप्ताह में मंजूरी दी जा सकती है।

ये भी पढ़े :  मोदी को मिलेगा माही का साथ!…भाजपा के टिकट पर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं धोनी...

डॉन ने लिखा है कि यह टीका पाकिस्तान को द्वीपक्षीय समझौते के तहत नहीं मिल सकता है, क्योंकि इसका निर्माण भारत में हो रहा है। लेकिन इस मंजूरी से कोवाक्स प्रोग्राम के तहत मिलने वाले टीके का रास्ता साफ हो गया है। डब्ल्यूएचओ की इस वैश्विक पहल से पाकिस्तान को 20 फीसदी आबादी के लिए मुफ्त टीका मिलेगा।

ये भी पढ़े :  किसान हिंसा पर बोला संयुक्‍त राष्‍ट्र, अहिंसा और प्रदर्शन के अधिकार का सम्‍मान करे भारत सरकार

डॉन ने प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष स्वास्थ्य सलाहकार डॉ. फैजल सुल्तान से भी वैक्सीन को मिली मंजूरी की पुष्टि की है। हालांकि, उनसे जब पूछा गया कि इसका निर्माण भारत में हो रहा है तो क्या यह द्वीपक्षीय समझौते के तहत मिल पाएगा? डॉ. सुल्तान ने कहा कि रजिस्ट्रेशन का उपलब्धता या खरीद से मतलब नहीं है। उन्होंने कहा, ”हमने इसे मंजूरी इसलिए दी है क्योंकि इसका प्रभाव 90 फीसदी से अधिक है। हम वैकल्पिक बंदोबस्त से इसे लेने का प्रयास करेंगे। इससे अहम यह है कि इससे हम कोवाक्स के जरिए टीका ले पाएंगे, क्योंकि DRAP की मंजूरी के बिना यह संभव नहीं है।”

हालांकि, इरमान खान के विशेष सलाहकार का ध्यान जब भारत के साथ ट्रेड बैन की ओर खींचा गया तो उन्होंने कहा कि जीवनरक्षक दवाओं का आयात किया जा सकता है। डॉ. सुल्तान ने कहा, ”यह सच है कि जिस देश ने विज्ञान में निवेश किया है वे पहले अपने लोगों के लिए वैक्सीन का उत्पादन करेंगे। लेकिन हम इसे लेने का प्रयास करेंगे। हम कुछ और वैक्सीन को मंजूरी देने जा रहा है, जिसमें सिनोफार्मा का टीका भी शामिल है, क्योंकि हमारी आबादी बड़ी है और हमें कई देशों से वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी।” हालांकि, पाकिस्तान यह जानता है कि चीनी वैक्सीन भारतीय वैक्सीन के मुकाबले काफी महंगी है।

ये भी पढ़े :  आईये जानते है ....क्या है गणतंत्र दिवस , और क्यू मनाते है 26 जनवरी..

यूं नाक और जान बचाने की कोशिश में इमरान खान
पाकिस्तान की इमरान खान सरकार जानती है कि कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ जंग जीतने के लिए उसे भारत से मदद लेनी ही होगी, क्योंकि दुनिया के बड़े-बड़े देश भी भारत से ही सहायता मांग रहे हैं। भारत में मंजूर दोनों ही टीके दुनिया के दूसरे टीकों से काफी सस्ते हैं, इसलिए भी इरमान खान सरकार इन्हें लेना चाहेगी। लेकिन पाकिस्तान सरकार के लिए मुश्किल यह है कि आतंकवाद और भारत विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देते रहने की वजह से भारत के साथ रिश्ता बेहद खराब है और इमरान खान मोदी सरकार के सामने मदद की गुहार लगाने से हिचक रहे हैं। इस बीच पाकिस्तान सरकार ने बीच का रास्ता निकालने की कोशिश के तहत प्रांतीय सरकारों और निजी सेक्टर को विदेशों से टीका खरीदने की छूट दे दी है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

पत्नी पंखुड़ी पाठक पर विवादित टिप्पणी से आहत पूर्व सपा प्रवक्ता अनिल यादव ने छोड़ी समाजवादी पार्टी

कांग्रेस नेता पंखुड़ी पाठक के पति व समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया है....

Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल समेत इन पांच राज्यों की चुनावी तारीखों का ऐलान हुआ, 2 मई को आएंगे नतीजे।

Elections 2021: निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर...

किसान पंचायत में बोलीं प्रियंका गांधी वाड्रा, ‘आपका साथ नहीं छोड़ूंगी, मेरी जान, मेरा धर्म आप हैं

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ( Priyanka Gandhi Vadra) ने कृषि कानून (Farm laws) मामले में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)और...
%d bloggers like this: