- Advertisement -
n
n
Monday, July 6, 2020

#Breaking योगी का जन्‍मदिन हिन्‍दू स्‍वाभिमान दिवस के रूप में मनाया जायेगा

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

सीएम योगी का जन्‍मदिन पांच जून को है। भाजपा, हिन्‍दूवादी संगठन और उनके समर्थक-प्रशंसक अपने-अपने ढंग से इसे मनाते हैं। लेकिन इस बार विश्‍व हिन्‍दू महासंघ ने इसे हिन्‍दू स्‍वाभिमान दिवस के रूप में मनाने का एलान किया है।

विहिम के प्रदेश अध्‍यक्ष और राज्‍य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्‍य भिखारी प्रजापति ने मंगलवार को कहा कि विहिम कार्यकर्ता पांच जून को अपने घर, अगल-बगल, टोला, पास-पड़ोस, गली-मोहल्ले, गांव,वार्ड में हिन्दू स्वाभिमान के रूप में केसरिया ध्वज फहराएंगे। इसके साथ ही हवन, पूजन करके मुख्‍यमंत्री के स्‍वास्थ्‍य और शतायु होने की प्रार्थना की जाएगी।

अपना जन्‍मदिन खुद नहीं मनाते हैं सीएम योगी

सीएम योगी अपना जन्‍मदिन खुद नहीं मनाते। हालांकि बड़ी संख्या में लोग उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हैं और वह उन्‍हें स्वीकार भी कर लेते हैं। 5 जून 1972 को उत्तराखण्ड के पौड़ी गढ़वाल जिले स्थित यमकेश्वर तहसील के पंचुर गांव में  योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ। उनके पिता आनन्द सिंह बिष्ट फॉरेस्ट रेंजर थे। उनकी माता का नाम श्रीमती सावित्री देवी है। 20 अप्रैल 2020 को उनके पिता आनन्द सिंह बिष्ट का निधन हो गया। अपनी माता-पिता की सात संतानों में तीन बड़ी बहनों और एक बड़े भाई के बाद योगी आदित्‍यनाथ पांचवें थे। उनसे छोटे दो भाई हैं।

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग::-कुशीनगर में फूटा कोरोना बम एक साथ 10 कि रिपोर्ट आई पॉजिटिव

योगी आदित्‍यनाथ ने गढ़वाल विश्विद्यालय से गणित में बीएससी किया है। योगी आदित्यनाथ का नाम लोकसभा में पहुंचने वाले सबसे कम उम्र के सांसदों की सूची में भी शामिल है। गोरक्षपीठाधीश्‍वर महंत अवेद्यनाथ ने उन्हें अपना उत्तराधिकारी घोषित किया।1998 में वह पहली बार सांसद चुने गए। योगी आदित्यनाथ जब 12वीं लोकसभा में सांसद बनकर पहुंचे तब उनकी उम्र मात्र 26 साल थी। इसके बाद आदित्यनाथ 1999, 2004, 2009 और 2014 में भी लगातार सांसद चुने जाते रहे। सितंबर 2014 में उनके गुरु महंत अवेद्यनाथ के समाधि लेने के बाद वह गोरक्षपीठाधीश्‍वर बने। योगी आदित्यनाथ हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं। हिन्दू युवा वाहिनी एक सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी समूह है।

Advertisements
%d bloggers like this: