इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के मुताबिक मस्जिद की जमीन पर जब अस्पताल या फिर ट्रस्ट के भवन की नींव रखी जाएगी तब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आमंत्रित किया जाएगा.