Monday, September 20, 2021

सावधान: शरीर में छिपा रहता है कोरोना! 51 ठीक हुए मरीज दोबारा निकले पॉजिटिव, पढ़े रिपोर्ट।

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए जिस देश की दुनियाभर में तारीफ हो रही है, उस देश में 51 मरीज दोबारा पॉजिटिव पाए गए हैं. साउथ कोरिया ने कोरोना के मामले शुरू होने के साथ ही बड़ी संख्या में लोगों के टेस्ट किए थे. इसकी वजह से देश में कोरोना पर काफी हद तक नियंत्रण हो गया है. लेकिन 51 मरीजों के दोबारा पॉजिटिव आने पर न सिर्फ साउथ कोरिया बल्कि अन्य देशों की चिंताएं भी बढ़ गई हैं.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए लोगों को साउथ कोरिया के डैगु में क्वारनटीन किया गया था. लेकिन टेस्ट रिजल्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें क्वारनटीन से छोड़ दिया गया. लेकिन कुछ ही दिन बाद 51 लोग दोबारा पॉजिटिव पाए गए.

साउथ कोरिया के स्वास्थ्य अधिकारियों का मानना है कि कोरोना वायरस इंसानों के भीतर ऐसी जगह छिप जाता है जिसका पता लगाना मुश्किल होता है.

ये भी पढ़े :  Corona: भारत मे खरतनाक होता कोरोना, 4 दिन में 1000 से अधिक नए मरीज़

बता दें कि साउथ कोरिया में संक्रमित लोगों की संख्या करीब 10,300 है. वहीं 192 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि, डैगु इलाके में संक्रमण सबसे अधिक है.

ये भी पढ़े :  धारावी घुग्गियों में दूसरे मामले की पुष्टि, अब ये परेशानी की बात हैं। लाखों लोगों से खचाखच भरी हैं झुग्गियां...

साउथ कोरिया के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (KCDC) का कहना है कि ऐसा लगता है कि मरीज दोबारा संक्रमित नहीं हुआ बल्कि वायरस फिर से एक्टिव हो गया. हालांकि, ब्रिटिश एक्सपर्ट का कहना है कि अब तक ऐसे सबूत नहीं मिले हैं जिससे ये साबित होता हो कि मरीज के भीतर वायरस दोबारा एक्टिवेट होते हैं. 

ब्रिटेन के ईस्ट एन्गलिया यूनिवर्सिटी में संक्रमित रोगों के प्रोफेसर पॉल हंटर ने कहा- मैं मानता हूं कि ये मरीज दोबारा संक्रमित नहीं हुए होंगे. लेकिन मैं यह भी नहीं सोच रहा हूं कि वायरस दोबारा एक्टिव हो गए. मुझे लगता है कि पहले उनकी जांच रिपोर्ट में गलती से निगेटिव रिजल्ट आया होगा.

प्रोफेसर हंटर ने कहा कि पारंपरिक तौर पर कोरोना वायरस के जो टेस्ट किए जाते हैं उनमें 20 से 30 फीसदी संभावना गलत परिणाम देने की होती है. उन्होंने कहा कि क्वारनटीन से छोड़े जाने के वक्त साउथ कोरिया में मरीजों के जिन टेस्ट के बाद रिजल्ट निगेटिव आए, वे सही नहीं रहे होंगे. असल में उस वक्त भी मरीज संक्रमित ही रहे होंगे.

ये भी पढ़े :  भारत ही नहीं एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी में कोरोना की दस्तक, अभी मिला पहला पॉजिटिव केस

कोरिया के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (KCDC) के डायरेक्टर जनरल इउन किओंग का कहना है कि डैगु में इन मामलों की जांच के लिए एक टीम को भेजा गया है. इससे पहले जापान के भी एक्सपर्ट ने चिंता जताते हुए कहा था कि मरीज दोबारा संक्रमित हो सकते हैं, क्योंकि वहां भी एक महिला और एक पुरुष के दोबारा पॉजिटिव होने की बात सामने आई थी.

लीड्स यूनिवर्सिटी में वायरोलॉजी के प्रोफेसर मार्क हैरिस ने कहा है कि मरीजों के दोबारा पॉजिटिव पाए जाने की रिपोर्ट साफतौर से चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि इसकी संभावना कम है कि मरीज फिर से संक्रमित हुए होंगे क्योंकि पहली बार वे इम्यून रेस्पॉन्स डेवलप कर लते हैं.

ये भी पढ़े :  LIVE: एक ही मोहल्ले के 39 लोग कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन में हड़कंप...

प्रोफेसर मार्क हैरिस ने कहा कि दूसरी संभावना ये है रिपोर्ट निगेटिव आने के वक्त असल में मरीज संक्रमण मुक्त नहीं हुए होते हैं. हालांकि, जानकारों का ये भी कहना है कि ऐसे मामले अपवाद के तौर पर ही सामने आते हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: तेज तर्रार नेता नितेश मिश्र भाजपा छोड़ थामा सपा का दामन, आपने सैकड़ों समर्थकों के साथ ली सदस्यता

Maharajganj/Dhani: धानी ब्लॉक के डेढ़ सौ लोगो ने पूर्व भाजपा नेता नीतेश मिश्र के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सदस्यता लिया। प्राप्त...

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...

Maharajganj: सपा नेता राम प्रकश सिंह के नेतृत्व में निकाली गई साईकिल रैली

Maharajganj: समाजवादी पार्टी महाराजगंज के कार्यकर्ताओं ने स्वर्गीय जनेश्वर मिस्र के जयंती के शुभ अवसर पर समाजवादी साईकिल यात्रा का आयोजन फरेंदा...
%d bloggers like this: