Thursday, June 17, 2021

दशाश्वमेध घाट पर मिली ऐसी प्राचीन शिवलिंग,जिसे देखने के लिए लोग दूर–दूर से आए दशाश्वमेध

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

वाराणसी। धर्म की नगरी काशी के लिए एक कहावत है कि यहां के कड़ कड़ में शंकर और घर-घऱ में मंदिर हैं। ऐसा ही कुछ विश्वनाथ कॉरिडोर निर्माण कार्य के दौरान देखने को मिला। अब फिर से वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर गुरुवार को खुदाई के दौरान लगभग 7 फीट नीचे एक शिवलिंग का विग्रह मिला है। विग्रह उल्टी दिशा में है और विग्रह का लिंग मिट्टी के अंदर दबा हुआ है, फिलहाल शिवलिंग मिलने के बाद खुदाई का काम रोक दिया गया है। क्षेत्रीय नागरिकों का कहना है कि यह शिवलिंग सैकड़ों वर्ष पुराना है।

वाराणसी में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत घाटों के सुंदरीकरण का कार्य प्रगति पर है, जिसके अंतर्गत अलग-अलग घाटों पर एलइडी स्क्रीन लाइट्स व अन्य विकास कार्य के लिए खुदाई की जा रही है। इसी क्रम में दशाश्वमेध घाट पर भी सुंदरीकरण का कार्य चल रहा है, इसके लिए मजदूर घाट पर खुदाई कर रहे थें कि तभी दशाश्वमेध घाट के जल पुलिस चौकी के नीचे लगभग 7 फीट खुदाई के बाद एक शिवलिंग का विग्रह मिल गया, जिसके बाद इसे निकालने की कोशिश की गई लेकिन शिवलिंग नहीं निकला। अंत में मजदूरों ने खुदाई रोक दी और आला अधिकारियों को इसकी सूचना दी।

ये भी पढ़े :  वाराणसी : घर वालों को बंधक बनाकर लाखों की डकैती
ये भी पढ़े :  यातायात पुलिस के विशेष चेकिंग अभियान में शाम तक 1179 गाड़ियों पर हुई कार्रवाई

दूर-दूर से शिवलिंग देखने पहुंच रहे लोग-
खुदाई के दौरान मिलें शिवलिंग को लेकर लोग तरह तरह की चर्चा कर रहे हैं। कुछ लोग इस शिवलिंग को सैकड़ों वर्ष पुराना बात रहे हैं। इस सम्बंध में नगर आयुक्त गौरांग राठी ने जानकारी दी कि खुदाई का काम रोक दिया गया है और मिलें शिवलिंग की जानकारी करने के लिए पुरातात्विक टीम को बुलाया गया है। शिवलिंग मिलने के बाद क्षेत्र में यह कौतूहल का विषय बना हुआ है। शिवलिंग के मिलने का पता चलते ही लोग दूर-दूर से आकर इसे देख रहे हैं।

दशाश्वमेध घाट की मान्यता
पुरोहितों और विद्वानों के अनुसार जिस घाट पर ये शिवलिंग मिला है वो घाट कभी देवी देवताओं की तपोभूमि हुआ करती थी। मान्यता है कि इस घाट पर स्वयं ब्रम्हा जी ने दस बार अश्वमेध यज्ञ किया था, जिसके कारण इस घाट का नाम दशाश्वमेध घाट पड़ा। जहां पर ये विशाल शिवलिंग मिला है, उस जगह पर यज्ञ कुंड हुआ करता था और उसके पास वाले घाट पर वेद मंडप हुआ करता था।

ये भी पढ़े :  महिला को अकेली पाकर घर में घुसे दो युवक, धमका कर किया सामूहिक दुष्कर्म

वहीं डॉ. काशी प्रसाद जायसवाल का अनुमान है कि दूसरी शताब्दी में प्रसिद्ध भारशिव राजाओं ने कुषाणों को परास्त कर दस अश्वमेध यज्ञ करने के पश्चात यहीं पर स्नान किया था तभी से इसका नाम दशाश्वमेध घाट पड़ा। सन् 1735 में घाट का निर्माण बाजीराव पेशवा ने कराया था। पूर्व में इस घाट का विस्तार वर्तमान अहिल्याबाई घाट से लेकर राजेन्द्रप्रसाद घाट तक था। सन् 1929 में यहाँ रानी पुटिया के मंदिर के नीचे खोदाई में अनेक यज्ञकुंड निकले थे। बतां दे कि विश्वनाथ कॉरिडोर निर्माण कार्य के दौरान भी खुदाई के दौरान कई प्राचीन शिवलिंग मिले हैं, जिनकी पुरातात्विक विभाग जांच भी कर रही है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

वाराणसी में 9साल के बच्चे की हत्या, खेत में मिला शव…….

वाराणसी। सारनाथ थाना क्षेत्र के पैगंबपुर इलाके में फूलों के खेत में 9 वर्षीय बच्चे का शव...

बाबा विश्वनाथ के दरबार पहुंचे भोजपुरी के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव,पूजा अर्चना के बाद काशी के कोतवाल से लिया आशीर्वाद

वाराणसी। भोजपुरी एक्टर खेसारी लाल यादव इस समय बनारस में हैं। खेसारी लाल यादव ने बनारस पहुँचते...

वाराणसी:- फेक एफ.बी आई डी बनाकर शख्स ने इंस्पेक्टर के नाम पर ठगे पैसे, भेजे अश्लील मैसेज

वाराणसी। साइबर क्राइम के मामले दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं। अक्सर किसी के नाम से...
%d bloggers like this: