Wednesday, April 14, 2021

अभी काम शुरू हो तो 2023 में बनकर तैयार हो जाएगा राम मंदिर, आएगा इतना खर्च- चंद्रकांत भाई

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...

गोरखपुर :- आरपीएम के छात्र प्रवीण ने बढ़ाया ज़िले का मान,SDM बनकर करेंगें प्रदेश की सेवा

प्रदेश की सर्वश्रेष्ठ परीक्षाओं में से एक उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 2020 की परीक्षा का परिणाम लोक सेवा आयोग के द्वारा...

नाईट कर्फ्यू का पालन करवाने के लिए सीओ गोरखनाथ मुस्तैद,अनावश्यक निकलने पर होगी कार्यवाही….

कोरोना का प्रकोप जिले में बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है।। इसको देखते हुए आज से नाईट कर्फ्यू की शुरुआत हो गयी...

दिनेश पांडेय एक बार फ़िर से सिधुवापार के प्रत्याशी के रूप में हुए सक्रिय

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की शुरुआत होने के साथ ही जगह जगह प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार प्रसार किया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अयोध्या. राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद (Ram Janambhoomi and Babri Mosque Dispute) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपना ऐतिहासिक फैसला सुना दिया है. इस फैसले से एक शख्स बेहद उत्साहित दिखाई दिए, जो 30 साल पहले ही राम मंदिर के भव्य स्वरूप का खाका खींच चुके थे. ये हैं चंद्रकांत भाई सोमपुरा (Chandrakant Bhai Sompura). अयोध्या (Ayodhya) से 1,384 किलोमीटर दूर गुजरात (Gujarat) के अहमदाबाद में बैठे चंद्रकांत भाई सोमपुरा वो शख्सियत हैं, जिन्होंने राम मंदिर का डिजाइन (Ram Temple Model) तैयार किया है. उनके ही बनाए गए मॉडल को दर्शन के लिए अयोध्या के कारसेवकपुरम में रखा गया है. यह जगह विश्व हिंदू परिषद (VHP) का मुख्यालय है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद चंद्रकांत भाई अब मंदिर निर्माण को लेकर खासा उत्साहित हैं.

ये भी पढ़े :  सांसद प्रज्ञा ठाकुर को धमकी की जांच मध्य प्रदेश एटीएस को सौंपी

चंद्रकांत भाई सोमपुरा- करीब पचास फीसदी पत्थरों की तराशी का काम पूरा हो गया है. यदि मंदिर बनाया जायेगा तो जितने पत्थर अभी तैयार हैं उनसे निर्माण कार्य शुरू हो जायेगा और दूसरी तरफ बाकी पत्थरों की तराशी का काम चलता रहेगा.

ये भी पढ़े :  20-30 साल हमने काम किया,आज संकल्प पूरा हुआ-RSS प्रमुख मोहन भागवत

चंद्रकांत भाई सोमपुरा- जब हमने मंदिर का मॉडल तैयार किया था तब पत्थरों की कीमत आज के मुकाबले बहुत कम थी. तब पचास रूपये प्रति वर्ग फुट पत्थर मिलता था लेकिन, अब उसी पत्थर की कीमत पांच सौ रूपये प्रति वर्ग फुट हो गया है और वो भी मुश्किल से मिल रहा है. जितना लंबा और चौड़ा पत्थर लेते हैं उतनी ज्यादा कीमत चुकानी पड़ती है. साथ ही बड़े आकार के पत्थरों का मिलना भी मुश्किल हो गया है. इनका मिलना इस बात पर निर्भर करता है कि खदान से कब लंबे और चौड़े पत्थर मिलें.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

83 साल के संत ने राम मंदिर के लिए दिए 1 करोड़, 60 साल से रह रहे गुफा में

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण (Ram Temple Ayodhya) के लिए लोगों की आस्था इस कदर जुड़ी...

अयोध्या में मस्जिद का खूबसूरत डिजाइन हुआ जारी, देखें और जानें क्या है खास।।

अयोध्या. राम मंदिर के डिजाइन के बाद अब अयोध्या में बनने वाली मस्जिद (Masjid) का भी खूबसूरत डिजाइन आज जारी हो गया।...

अयोध्या में 6 लाख दीये जलाकर बनाया विश्व रिकार्ड, CM बोले-अगले साल बनेगा नया कीर्तिमान

अयोध्या/लखनऊ। राम नगरी में सरयू नदी के तट पर शुक्रवार को त्रेता युग जीवंत हो उठा। इस...
%d bloggers like this: