Saturday, January 23, 2021

बुद्ध से कबीर ट्रस्ट की विचारधारा को आगे बढ़ाएगी यूपी सरकार,बुद्ध-कबीर-गोरखनाथ यात्रा फ़रवरी में

ट्रैक्टर मार्च: किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स का दावा- चार किसान नेताओं को गोली मारने की रची गई थी साजिश

आज सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया, जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को...

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित गोरखपुर की पहचान बन कर...

मृतक के स्पर्म पर पिता या उसकी विधवा पत्नी का अधिकार? कलकत्ता हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने एक पिता द्वारा अपने मृत बेटे के जमा किए हुए स्पर्म पर पेश की दावेदारी...

भजन सम्राट और जगराता में माता के भजन गाने के लिए मशहूर नरेंद्र चंचल का दिल्ली में आज निधन हो गया

भजन सम्राट और जगराता में माता के भजन गाने के लिए मशहूर नरेंद्र चंचल का दिल्ली का आज निधन हो गया. अपोलो...

आज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फरेन्दा में कोविड-19 की पहली डोज डॉ सी वी पांडेय को लगाया गया

Maharajganj: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फरेंदा में महराजगंज के डीएम डॉ उज्जवल कुमार एवँ सीएमओ डॉ ए के श्रीवास्तव की मौजूदगी में...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

उत्तर प्रदेश सरकार ने बुद्ध-कबीर-गोरखनाथ यात्रा की शुरुआत की है जो 23 से 25 फरवरी 2021 को आयोजित की जा रही है.

इस सम्बंध में आईपीएस विनोद मल्ल ने अपने फेसबुक एकाउंट के माध्यम से लिखा कि

बात निकलेगी तो दूर तलक जाएगी..

कहते हैं कि कोई भी काम लगन से किया जाए तो मुश्किलें जरूर आ सकती हैं, लेकिन रास्ता भी अपने आप बनता जाता है. जरूरत होती है सिर्फ अपने और अपने सिद्धांतों में यकीन रखने की .
वर्ष 2018 में मैने और मेरे कुछ मित्रों ने बुद्ध से कबीर तक यात्रा की शुरुआत की थी. यह एक अत्यंत विनम्र प्रयास था. हममे से करीब 15-20 लोगों ने मिलकर कुशीनगर से गोरखपुर होते हुए मगहर तक बुद्ध से कबीर तक यात्रा का आयोजन किया. लोग जुड़ते गए यात्रा का संदेश फैलता गया और आम लोगों ने सोचा कि कुछ खूबसूरत चीज हमारे बीच में आई है .

ये भी पढ़े :  गोराखपुर के जिला पंचायत सदस्य माया शंकर शुक्ला ने लाखों की लागत से बनवाई सड़क,आजादी के बाद से ही नहीं थी....

जब हमने बुद्ध से कबीर तक यात्रा का विचार किया था तो सोचा भी नहीं था कि यह विचार इतना दूर तक जाएगा. भारत की विविधता, समता और स्वतंत्रता की परंपरा तथा एक धर्मनिरपेक्ष राज्य की परिकल्पना एवं संवैधानिक राष्ट्रवाद को मजबूत करने के लिए यह प्रयास शुरू हुआ था. 2018, 2019 तथा 2020 में हुई यात्राओं तथा पूरे भारत, खास करके पूर्वांचल के शैक्षणिक संस्थानों मे, सामाजिक पटलों पर बुद्ध से कबीर तक की विचारधारा फैलती गई. तदनंतर में इसमें एक बैंड की स्थापना हुई. अलग-अलग शहरों से तथा क्षेत्रों से लोग इसमें जुड़ते गए और कारवां आगे बढ़ता गया. कोविड के दौरान कई सारे विश्वविद्यालयों और सामाजिक संस्थानों के साथ हमने ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किए. आज हिंदुस्तान के अलग-अलग हिस्सों में बहुत सारे लोग बुध से कबीर तक की विचारधारा और कार्य से परिचित हो चुके हैं .

ये भी पढ़े :  हेलमेट नही तो, तेल नही


आज यह बताते हुए मुझे खुशी हो रही है कि इस विचारधारा और कार्यशैली से प्रेरित होकर उत्तर प्रदेश सरकार ने बुद्ध-कबीर-गोरखनाथ यात्रा की शुरुआत की है जो 23 से 25 फरवरी 2021 को आयोजित की जा रही है. इस कार्यक्रम के लिए मेरी बहुत सारी शुभकामनाएं. मैं उम्मीद करता हूं कि बुद्ध और कबीर के प्रेम, शांति, समता और धर्मनिरपेक्षता के संदेश को समाज मे पहुंचाने के लिए अत्यंत उपयोगी होगी .

साथ ही साथ तर्क पर आधारित समाज की रचना तथा शोषण युक्त कर्मकांड की व्यवस्था से समाज को मुक्त करने में मदद मिलेगी. संस्कृति और धर्म को समाज के आम आदमी से जोड़कर संवैधानिक मूल्यों को मजबूत करना बुद्ध से कबीर तक का लगातार प्रयास रहा है और किसी भी ऐसे प्रयास का वह समर्थन करता है. उत्तर प्रदेश सरकार के इस प्रयास को शुभकामनाएं. साथ ही साथ यह भी उम्मीद करता हूं कि इसमें पूर्वांचल के स्थानीय कलाकारों को यथा योग्य स्थान मिलेगा जिससे हमारी गौरवशाली परंपरा को समृद्ध किया जा सके.

ये भी पढ़े :  गोरखपुर के युवाओं की सोच ने जोड़ दिया 21 हजार DDU छात्रों को,सब साझा करते हैं सुख दुख एक दूसरे से..आप भी जुड़ें आज ही
ये भी पढ़े :  नही मान रहे हुक्काबार संचालक,बेख़ौफ़ होकर चला रहे हुक्काबार,खुला है धुआं उड़ाने का अड्डा…

उन्होंने विशेष तौर पर बताया कि “”मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि बुद्ध से कबीर तक ट्रस्ट द्वारा आयोजित कार्यक्रम, इस कार्यक्रम से स्वतंत्र रूप से आप सब के सहयोग से अपने विनम्र स्वरूप मे अपने सिद्धांतों को मजबूत करता हुआ चलता रहेगा. इस साल भी बुद्ध से कबीर तक यात्रा फरवरी/ मार्च में आयोजित की जाएगी.””

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित गोरखपुर की पहचान बन कर...

यूपी: गोरखपुर सर्राफा लूटकांड लुटेरे दरोगा सहित 3 पुलिसकर्मी बर्खास्त, एसपी ने किया पूरा थाना सस्पेंड…

बस्ती: गोरखपुर में सर्राफा व्यवसाई से 19 लाख नगद, 12 लाख के सोने व 4 लाख की चांदी...

गोरखपुर पुलिस महकमे में बड़ा परिवर्तन बांसगांव थानाध्यक्ष भेजे गए रामगढ़ थाने पर और ….

डीआईजी/एसएसपी जोगिंदर कुमार ने कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त बनाये रखने हेतु 6 निरीक्षक और 4 उप निरीक्षक के कार्यक्षेत्र में किया बदलाव
%d bloggers like this: