Thursday, June 17, 2021

हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब बिहार में 94 हजार शिक्षकों की बहाली का रास्ता साफ

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

बिहार में 94 हजार प्राथमिक शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया पूरी होने का रास्ता साफ हो गया है। पटना हाईकोर्ट ने स्पष्ट किया है कि 23 नवंबर 2019 से पूर्व सीटीईटी पास उम्मीदवार ही बहाली प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं। कोर्ट ने अपने फैसले में यह भी कहा कि शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में तेजी लाएं और प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरी करें।

ये भी पढ़े :  LOCKDOWN: क्या आप भी घर बैठे है? अगर मोबाइल और इंटर्नेट इस्तेमाल करते है तो कीजिए ये काम और कमाइए पैसे

न्यायमूर्ति डॉ. अनिल कुमार उपाध्याय की एकलपीठ ने नीरज कुमार व अन्य की ओर से दायर अर्जी पर मंगलवार को अपना फैसला सुनाया। कोर्ट ने दिसंबर 2019 में सीटीईटी पास करने वाले अभ्यर्थियों की याचिका खारिज कर दी। एकल पीठ के इस आदेश के साथ ही उक्त बहाली मामले में होने वाली नियुक्ति पर लगी रोक भी खुद ब खुद खत्म हो गयी। पिछले दिनों मामले पर सुनवाई पूरी कर कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था।

कोर्ट ने मंगलवार को 78 पृष्ठों में फैसला सुनाया। कोर्ट ने संजय कुमार यादव एवं अन्य बनाम बिहार सरकार मामले में फैसले के आधार पर इस याचिका को खारिज कर दिया।

ये भी पढ़े :  बाबा का ढाबा बना अब शानदार रेस्‍टोरेंट, पहुंचने लगे हैं ग्राहक।।

दरअसल, राज्य सरकार ने 15 जून, 2020 को एक आदेश पारित कर कहा कि दिसम्बर, 2019 में सीटीईटी पास उम्मीदवार इस परीक्षा में भाग नहीं ले सकते हैं। प्रकाशित विज्ञापन में बदलाव नहीं किया जा सकता है। आवेदक के वकील दीनु कुमार ने बताया कि इसी आदेश के खिलाफ याचिका दायर करते हुए कोर्ट में उसे चुनौती दी गई थी। जिसपर सुनवाई करते हुए एकलपीठ ने गत एक जुलाई के आदेश के जरिये राज्य सरकार से जवाब-तलब करते हुए भर्ती प्रक्रिया को जारी रखने की छूट देते हुए भी अंतिम नियुक्ति पर रोक लगा दी थी।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

यूपी बोर्ड 2021: हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं आठ मई से, स्कीम जारी

नियोजित शिक्षकों पर हाईकोर्ट सख्त, डिग्री की जांच कराएं, नहीं तो रुकेगा वेतन……

पटना हाईकोर्ट ने नियोजित शिक्षकों को जल्द अपनी डिग्री की जांच कराने का आदेश दिया है। डिग्री...

बाबा का ढाबा बना अब शानदार रेस्‍टोरेंट, पहुंचने लगे हैं ग्राहक।।

सोशल मीडिया के जरिये सुर्खियों में आया 'बाबा का ढाबा' अब रेस्‍टोरेंट बन चुका है। ढाबा मालिक कांता प्रसाद ने अपनी पुरानी...
%d bloggers like this: